दो बहनों की रेप के बाद की गई हत्या के सबूत मिटाने के लिए पेड़ से उन्हीं लड़कियों के दुपट्टे से लटकाया, तीन हुए गिरफ्तार



दो बहनों की रेप के बाद की गई हत्या के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। लखीमपुर खीरी एसपी संजीव सुमन के मुताबिक जुनैद, सुहैल, हफीजुर्रहमान उर्फ मझिलका लड़कियों को बहलाकर ले गए। पहले गन्ने के खेत में रेप किया। फिर दो और लड़कों को फोन कर बुलवाया। इसके बाद बारी-बारी से सब ने रेप किया। इसके बाद सबूत मिटाने के लिए पेड़ से उन्हीं लड़कियों के दुपट्टे से लटका दिया। जुनैद को पुलिस ने इनकाउंटर में गिरफ्तार किया था। बाकी आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

एसपी संजीव सुमन ने बताया कि लड़कों से ये दोस्ती हाल की ही थी। दोनों लड़कियां स्वेच्छा से लड़कों के साथ गई थीं। आरोपियों ने लड़कियों को बहलाफुसला कर फंसाया। लड़कियां लड़कों के साथ शादी करना चाहती थीं और जिद कर रही थीं। जुनैद और उसके दो साथियों ने दोनों की रेप के बाद हत्या कर दी। इसके बाद दुपट्टे से दोनों के शव को लटका दिया।

पुलिस ने दो और आरोपी कलीमुद्दीन उर्फ डीडी और आरिफ निवासी लालपुर को भी गिरफ्तार किया है। एसपी के मुताबिक लड़कियों के गांव के छोटू ने ही इन तीन लड़कों जुनैद, सुहैल और हफीजुर्रहमान उर्फ मझिलका निवासी लालपुर थाना निघासन लड़कियों की दोस्ती कराई थी। ये तीनों बुधवार को बाइक से लड़कियों को बहलाकर ले गए। पहले गन्ने के खेत में रेप किया, फिर दो और लड़कों को फोन करके बुलाया। पुलिस ने जुनैद के दोस्त कलीमुद्दीन उर्फ डीडी और आरिफ को भी गिरफ्तार कर लिया।

एसपी ने कहा कि अभी यह शुरुआती जांच है। दोनो के शवों का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। आरोपियों के कपड़ों को जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजा गया है।

वर्षा के कारण सूर्यधार बांध से बनी प्राकृतिक झील – नई झील से बांध और रानीपोखरी के नए पुल को बना खतरा – डंपिंग जोन की बजाए जाखन नदी किनारे फेंका जा रहा है रोड कटिंग का मलबा



ऋषिकेश, 4 जुलाई । रानीपोखरी के जाखंन नदी में बने नवनिर्मित पुल को एक बार फिर खतरा पैदा हो गया है। इसका कारण इठारना से कुखई मोटर मार्ग के निर्माण कार्य के दौरान निकलने वाले मलबे को जाखन नदी में डालने के कारण नदी में सूर्यधार क्षेत्र के अंतर्गत बांध से करीब दो किलोमीटर पहले प्राकृतिक झील बन गई है। यह करीब 100 मीटर क्षेत्र में बनीहै।

जिलाधिकारी देहरादून ने इस मामले में तत्काल संज्ञान लिए जाने के बाद संबंधित विभाग की टीम सोमवार की सुबह ‌मौके पर पहुंच गई है। और मामले की विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर रहीी है यहां तक गोताखोरों की‌‌ टीम‌‌‌‌ भी मौके पर है चौकी झील की गहराई नाप रहीी है ।

यहां बताते चलें कि पीएमजीएसवाइ योजना के तहत नरेंद्र नगर डिवीजन यहां सात किलोमीटर मोटर मार्ग का निर्माण करा रही है। रोड कटिंग का मलबा डंपिंग जोन में एकत्र ना कर जाखन नदी में डाला जा रहा है, जो कि गंगा की सहायक नदी है। यह मलबा एकत्र होते होते जाखन नदी में पहुंच गया है।

सूर्य धार झील से लगभग डेढ़ से दो किलोमीटर आगे सेबूवाला गांव में एक अस्थाई झील तैयार हो गई है। जिसमें से फिलहाल कुछ पानी रिसाव के माध्यम से आगे जा रहा है। यहां मलबा डालने का क्रम यूं ही जारी रहा तो झील का आकार और अधिक बढ़ सकता है।

मौसम अलर्ट के चलते यदि लगातार वर्षा होती है तो भी झील में और अधिक पानी एकत्र होने की संभावना बढ़ जाती है।
इस नई झील के समीप अपने चाचा के घर पहुंचे सारंगधर वाला के उपप्रधान विशाल तोमर ने बताया कि इस झील की गहराई लगभग 15 फुट के आसपास है और इसकी लंबाई 100 मीटर से अधिक हो चुकी है। उन्होंने बताया कि लगातार बहकर आने वाले मलबे से यह झील और बड़ी होती जा रही है, इसकी गहराई भी बढ़ती जा रही है।
वहीं आरटीआई कार्यकर्त्ता सुधीर जोशी ने बताया कि इस मोटर मार्ग में पांच किलोमीटर का हिस्सा देहरादून वन प्रभाग व सात किलोमीटर का हिस्सा नरेंद्रनगर वन प्रभाग के अंतर्गत आता है। कार्यदाई संस्था के ठेकेदार की ओर से सड़क निर्माण का मलबा नदी में डाले जाने की शिकायत उन्होंने देहरादून डीएफओ के साथ ही विभिन्न अधिकारियों को की थी। लेकिन इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं हुई है।
बता दें कि बीते वर्ष मानसून के दौरान जाखन नदी में अचानक ऊफान आने से रानी पोखरी में बना करीब एक सौ वर्ष पुराना पुल बह गया था। 10 जुलाई को यह पुल परीक्षण के लिए तैयार हो जाएगा। नई प्राकृतिक झील के कारण सूर्यधार बांध और झील दोनों के लिए खतरा पैदा हो गया है।

पीएमजीएसवाइ योजना के तहत इठारना -कुखई मोटर मार्ग का निर्माण किया जा रहा है। मौके पर झील बनने की जानकारी अभी तक संज्ञान में नहीं आई थी। इस मामले में तत्काल एक्शन लिया जा रहा है। अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देशित किया गया है।
भास्करानंद गोदियाल, अधिशासी अभियंता, पीएमजीएसवाइ नरेंद्र नगर खंड मौके पर पहुंच गए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा केंद्र सरकार ने नि:शुल्क खाद्यान्न वितरण योजना की अवधि छह महीने के लिए ओर बढ़ाई, 5 किलो राशन प्रति व्यक्ति प्रति माह फिर से मिलेगा, 80 करोड़ से अधिक नागरिकों को मिलेगा लाभ



ऋषिकेश दिल्ली 26 मार्च। केंद्र सरकार ने मुफ्त खाद्यान्न वितरण कार्यक्रम प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना यानी पीएमजीकेएवाई  को इस साल सितंबर तक बढ़ाने का फैसला किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में शनिवार को हुई कैबिनेट बैठक में यह फैसला लिया गया है।

खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री पीयूष गोयल ने इस फैसले की जानकारी देते हुए कहा कि सरकार ने नि:शुल्क खाद्यान्न वितरण योजना पीएमजीकेएवाई की अवधि छह महीने के लिए बढ़ाई है. अब प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना सितंबर 2022 तक जारी रहेगी।

गौरतलब है कि साल 2020 से ही केंद्र सरकार की ओर से इस स्कीम के तहत गरीब परिवारों को मुफ्त राशन मुहैया कराया जा रहा है. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की घोषणा मार्च 2020 में की गई थी. शुरू में यह योजना अप्रैल-जून 2020 की अवधि के लिए शुरू की गई थी, लेकिन बाद में इसे 30 नवंबर, 2021 और 31 मार्च 2022 तक बढ़ा दिया गया था।

योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश के लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री की शपथ लेने पर ऋषिकेश में संतों ने घंटे घड़ियाल बजा कर किया खुशी का इजहार , योगी आदित्यनाथ के गांववालों और घरवालों ने भी ढोल की थाप पर नाच गाकर और मिठाइयां बांटकर मनाई खुशियां



ऋषिकेश, 25 मार्च । योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश के पुनः मुख्यमंन्त्री बनने पर ऋषिकेश स्थित ब्रह्मपुरी रामतपस्थली आश्रम में सैकड़ों संतों ने खुशी मनाते हुए मंदिर में घण्टे घड़ियालों के द्वारा खुशी जाहिर की।

वही उनके गांव में भी गांव वालों ने ढोल नगाड़े बजाकर खुशी का इजहार किया। तथा उनके घर में भी घर वालों ने नाच गाकर और मिठाइयां बांटकर योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने पर अपनी खुशी जाहिर की। 

शुक्रवार को राम तपस्थली ब्रह्मपुरी में यशस्वी संत योगी आदित्यनाथ की उत्तर प्रदेश मैं प्रचंड जीत की खुशी में उनके पुनः मुख्यमंत्री बनने पर ब्रह्मपुरी में सैकड़ों संत महात्माओं ने खुशी मनाते हुए दिखे,।

इस अवसर पर तुलसी मानस मंदिर के महंत श् रवि प्रपन्नाचार्य महाराज ने बताया कि आज ब्रह्मपुरी राम तपस्थली के संस्थापक अध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी दयाराम दास की अध्यक्षता में जीत का उत्सव बड़ी धूमधाम के साथ मनाया गया ,जहां एक और सभी संत महात्माओं ने एक दूसरे को मिठाई खिलाई वही दूसरी ओर आपस में हरि नाम संकीर्तन करते हुए श्रीराम के जयघोष के नारे भी लगते हुए दिखे। महामंडलेश्वर स्वामीदयाराम दास ने कहां की यह जीत हमारे पूरे भारत की जीत है यह सनातन धर्म की जीत है यह जीत उन सभी जाति संप्रदाय के साथ-साथ विकास और सुशासन की जीत है। पूरे उत्तराखंड के संत महात्मा अपनी अपनी जगह मे अखिल भारतीय संत समिति ऋषिकेश विरक्त वैष्णव मंडल ने आपने सभी जगहों के मठ मंदिरों में संत महात्माओं ने मंदिरों में शंख घंटी बजाकर श्रीराम के जयघोष के साथ खुशी व्यक्त की हाथी एक दूसरे को लड्डू भी खिलाएं इस दौरान‌धर्मरत्न स्वामी,
राम प्रपन्नाचार्य महाराज,अरविंद महाराज,महामंडलेश्वर दया राम दास महाराज, अमर दास,चक्रपाणिमहाराज ,जामवन्त बाबा,महंत विष्णुदास,सुदर्शनाचार्य,पवन दास,अजय राम दास,सुरेशादास,पुरुषोत्तम सरण दास,शशिकांत तिवारी, विमल दास, गोपाल शरणदेवाचार्य महाराज,महंत चक्रपाणि दास ,महंत प्रमोद दास, महंत महावीर दास ,जगदीश दास ,स्वामी अखंडानंद महंत जगदीश प्रपन्नाचार्य, बलराम दास रामदास, वृंदावन से आई दत्ता शाह, मीला बेन आदि उपस्थित थे।

योगी की जीत के लिए पूर्व राज्यसभा सांसद मनोहर कांत ध्यानी ने जपे एक लाख महामृत्युंजय मंत्र



ऋषिकेश,06 मार्च  ।राज्यसभा के पूर्व सदस्य और भाजपा के वरिष्ठ नेता मनोहर कांत ध्यानी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जीत के लिए एक लाख महामृत्युंजय मंत्र का जाप किया है।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विजय के लिए भी 51 हजार मंत्र संपुट सहित जाप किए थे।
गंगा सेवा दल के अध्यक्ष नरेंद्र शर्मा ने बताया कि पूर्व सदस्य राज्यसभा मनोहर कांत ध्यानी भले ही अपने आप सक्रिय राजनीति से अलग हैं। मगर, राष्ट्र के प्रति वह निरंतर सजगता से कार्य करते हैं।

उन्होंने बताया कि मनोहर कांत ध्यानी ने इस वर्ष जनवरी व फरवरी माह में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की विजय होने की कामना के लिए एक लाख महामृत्युंजय मंत्र का संपुट सहित जाप किया।

उनका यह अनुष्ठान शिवरात्रि के दिन संपन्न हुआ। इसके अतिरिक्त ध्यानी ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी तथा डा. धन सिंह रावत की विजय के लिए भी 100-100 माला महामृत्युंजय मंत्र संपुट का जाप किया है।

ऋषिकेश एम्स में क्लर्क की नौकरी दिलाने का झांसा देकर हड़पे 16.83 लाख , ठगी के आरोप मे  पुलिस ने किया मुकदमा दर्ज



ऋषिकेश:,03जनवरी । ऋषिकेश एम्स में नौकरी दिलाने के नाम पर झांसा देकर 16 लाख 83 हजार रुपये हडपने.वाले ऋषिकेश में तैनात कर्मचारी के विरुद्ध कानपुर में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया किया गया है। जिसने पीड़ित को फर्जी ज्वाइनिंग लेटर थमाकर तीन दिन तक अपने कार्यालय बुलाकर वापस कर दिया था। यह मामला कानपुर उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में पीड़ित की रिपोर्ट पर उक्त क्लर्क के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। पूर्व में भी ऐसे ही आरोप को लेकर यह क्लर्क सस्पेंड हो चुका है ।

मिली जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश कानपुर में फतेहपुर शहर के जयरामनगर खंभापुर मोहल्ला निवासी अनुराग सिंह गौर ने पुलिस को बताया कि शहर के पटेलनगर निवासी अर्पित सिंह ने उसे ऋषिकेश एम्स में नौकरी दिलाने के लिए आवेदन कराया था। आवेदन कराने के नाम पर अर्पित के पिता रविकरन सिंह ने उससे 50 हजार रुपये भी ऐंठ लिए थे। इसके बाद अर्पित सिंह ने अपने व सहयोगियों इंसाफ खान, अमित कुमार, प्रियंका गोसाई, धर्मेंद्र कुमार के खाते में 16 लाख 33 हजार रुपये मंगवाए। जिस पर उसने रुपये खातों में भेज दिए।

कानपुर फतेहपुर के शहर कोतवाल अरुण कुमार चतुर्वेदी ने बताया कि पीड़ित अनुराग सिंह गौर पुत्र रज्जन सिंह की तहरीर मिलने पर अर्पित सिंह, उसके पिता रविकरन सिंह निवासी पटेलनगर कोतवाली व इनके सहयोगियों इंसाफ खान, अमित कुमार प्रिंयका गुसाई, धर्मेंद्र पर धोखाधड़ी कर 16 लाख 83 हजार रुपये गबन करने की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। जांच के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

इस मामले में जानकारी लेने पर एम्स ऋषिकेश के वरिष्ठ विधि अधिकारी प्रदीप कुमार पांडे ने बताया कि अर्पित सिंह एम्स ऋषिकेश का स्थाई कर्मचारी है, वह क्लर्क के पद पर कार्यरत हैं।

एक अन्य मामले में कुछ समय पूर्व इस तरह की शिकायत मिलने पर उसे सस्पेंड कर दिया गया था। इसके बाद कार्यवाही को लेकर शिकायतकर्ता शिथिल पड़ गया। कानपुर फतेहपुर से जुड़े इस मामले की जानकारी अभी एम्स प्रशासन के पास नहीं है।

प्रधानमंत्री द्वारा गणतंत्र दिवस के मौके पर उत्तराखंड की प्रसिद्ध गढ़वाली टोपी पहन कर आज उत्तराखंड का बढ़ाया मान, मोदी के द्वारा गढ़वाली टोपी पहनने से आने वाले समय में बन सकती है गढ़वाली टोपी फैशन का एक बड़ा सिंबल



ऋषिकेश/ देहरादून /दिल्ली 26 जनवरी । 73 वे गणतंत्र दिवस पर आज दिल्ली में राजपथ पर गणतंत्र दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड की प्रसिद्ध गढ़वाली टोपी पहन कर आज उत्तराखंड सहित सभी गढ़वाली और कुमाऊनी लोगों का मान सम्मान बढ़ा दिया है। 

 प्रधानमंत्री नरेंद्र  मोदी हमेशा देश के राज्यों की संस्कृति को आगे बढ़ाते हुए नजर आते हैं , इस बार  गणतंत्र दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र की गढ़वाली टोपी में नजर आ रहे हैं…. ।

 

पीएम मोदी इस दौरान अलग अंदाज में नजर आए। गणतंत्र दिवस समारोह में पीएम मोदी ने आज अपने उत्तराखंड की पहाड़ी टोपी पहनी हुई है। पीएम मोदी की इस उत्तराखंड टोपी पर उत्तराखंड का राजकीय पुष्प ब्रह्मकमल का फूल बना हुआ है।

आज प्रधानमंत्री के द्वारा उत्तराखंड की पारंपरिक टोपी को पहनना अब पूरे भारत ही नहीं अपितु विश्व में भी एक ब्रांड टोपी के रूप में विख्यात हो गया है। आज पूरे विश्व और देश में प्रधानमंत्री के ड्रेस को लेकर हमेशा आकलन किया जाता है जिसमें मुख्यता उनकी पगड़ी और टोपी को लेकर विशेष ध्यान दिया जाता है जो कि हर बार एक फैशन सिंबल भी बन जाता है। आज प्रधानमंत्री के द्वारा उत्तराखंड के पारंपरिक टोपी को पहनने से उत्तराखंड की टोपी को भी एक विशेष महत्व मिल गया है जो कि आने वाले समय में एक बड़े फैशन का सिंबल बन सकता है।

विधानसभा चुनाव में भाजपा चला रही परिवारवाद, दागियों ओर सांसदों के टिकटों पर कैंची, परंतु फिर भी भाजपा नेताओं द्वारा परिवार के लिए टिकट मांगने की लंबी है फेहरिस्त



ऋषिकेश /देहरादून/ लखनऊ 18 जनवरी। पांच राज्यों के   होने वाले 2022 विधानसभा चुनाव को देखते हुए उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में चुनाव के दंगल की तैयारियां पूरे चरम पर हैं। प्रत्याशियों के चुनावी अखाड़े में उतरने का ऐलान भी हो रहा हैं,किसी को चुनावी अखाड़े में उतारा जा रहा है तो किसी को हटाया जा रहा है।

भाजपा सूत्रों के अनुसार आलाकमान ने तय किया है कि पार्टी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में किसी सांसद को या एक ही परिवार के कई लोगों को टिकट नहीं देगी।बैरहाल पार्टी का मानना है कि वो योग्यता और प्रदर्शन के अपने आधार पर टिकट देने के फार्मूले पर ही कायम रहेगी।वैसे भाजपा में ऐसे नेताओं की लंबी लाइन है जो अपने परिवार के लोगों के लिए टिकट मांग कर रहे हैं।

यह ऐलान उन खबरों के बीच हुआ है जिनमें सांसद और विधायक सहित कई वरिष्ठ नेताओं ने उत्तर प्रदेश समेत मणिपुर, गोवा, उत्तराखंड और पंजाब में अगले माह होने वाले विधानसभा चुनाव में अपने बच्चों के लिए टिकट मांगा है। उत्तर प्रदेश में सांसद कौशल किशोर, सांसद रीता बहुगुणा जोशी, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य समेत कई बड़े नाम शामिल हैं।

यही हाल उत्तराखंड में भी रहा है जिसमें हरक सिंह रावत द्वारा भी अपनी पुत्रवधू के लिए टिकट की मांग की गई परंतु इसी के चलते उनको पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। ये सभी अपनों के लिए टिकट की आस लगाए बैठे हैं,लेकिन पार्टी ने साफ तौर पर कहा है कि एक ही परिवार के कई लोगों को टिकट नहीं दिया जाएगा।

भाजपा ने उत्तर प्रदेश में 10 से 14 फरवरी के बीच होने वाले विधानसभा चुनाव के दो चरणों के लिए 107 प्रत्याशियों की अपनी पहली लिस्ट पहले ही जारी कर दी है।इस लिस्ट में 20 मौजूदा विधायकों का पत्ता साफ हो गया है। लिस्ट में कई नए चेहरे भी शामिल हैं जिनको विनेबिलिटी के लिहाज से टिकट दिया गया है।

यही कारण है कि परिवारवाद के चलते टिकट कटने और अपनी खुद की टिकट कटने की वजह से भाजपा के कई विधायकों और मंत्रियों ने पार्टी छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए हैं।

समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव की पुत्रवधू अपर्णा के भाजपा में शामिल होने के बारे में पार्टी के एक राष्ट्रीय पदाधिकारी ने कहा कि अपर्णा यादव का शामिल होना उनकी पसंद की सीट पाने पर निर्भर नहीं है। निर्वाचन क्षेत्र सहित उनकी उम्मीदवारी पर निर्णय पार्टी नेतृत्व का विशेषाधिकार होगा। टिकट पार्टी तय करेगी कि उन्हें कहां से लड़ना है। पहले से यदि कोई ये दावा लेकर आएगा कि हमें इसी सीट से टिकट चाहिए तो ऐसा संभव नहीं है।

 

2022 विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी ने जारी की प्रत्याशियों की पहली सूची



ऋषिकेश /लखनऊ 13 जनवरी। – 2022 के होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए आज  कांग्रेस पार्टी ने प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर दी है ।

उत्तर प्रदेश में होने वाले 2022 के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस पार्टी ने चुनाव के लिए दावेदारों की पहली सूची जारी कर दी है । इस लिस्ट में 125 उम्मीदवार हैं, जिसमें 50 महिला उम्मीदवार भी शामिल हैं। कांग्रेस ने उन्नाव रेप पीड़िता की मां को भी कांग्रेस ने उम्मीदवार बनाया है।

प्रियंका गांधी ने बताया कि कांग्रेस महिलाओं के साथ-साथ कुछ पत्रकार, एक अभिनेत्री और समाज सेवी और आशा वर्कर को भी टिकट दिया है।सलमान खुर्शीद की पत्नी लुईस खुर्शीद तो टिकट मिला है।उन्नाव से कांग्रेस ने आशा सिंह को उम्मीदवार बनाया है।इसके अलावा NRC-CAA के खिलाफ आंदोलन करने वालीं सदफ जाफर को उम्मीदवार बनाया गया है।इसके अलावा पूनम पांडे को टिकट मिला है, वह आशा वर्कर हैं।

ऋषिकेश : चुनाव के मद्देनजर तेरी पुलिस अधीक्षक ने चुनाव ड्यूटी में तैनात बीएसएफ सहित पुलिस जवानों को दिए दिशा निर्देश -मुनिकीरेती क्षेत्र में पुलिस ने किया फ्लैग मार्च



ऋषिकेश, 13 जनवरी । टिहरी गढ़वाल के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने 14 फरवरी को होने वाले उत्तराखंड चुनाव को देखते हुए बीएसएफ के जवानों सहित तमाम पुलिसकर्मियों को कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए चुनाव ड्यूटी के दौरान शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए अपनी भाषा को नियंत्रित करते हुए दिशा निर्देश दिए जाने के साथ मुनिकीरेती क्षेत्र में फ्लैग मार्च भी निकाला ।

गुरुवार को गंगा रिसॉर्ट में आयोजित पुलिस ब्रीफिंग के दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नवनीत भुलर और पुलिस क्षेत्राधिकारी रविंद्र कुमार चमोली ने चुनाव ड्यूटी में आए पुलिसकर्मियों और बीएसएफ के जवानों को बताया कि चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है लेकिन कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए सभी ड्यूटी में लगे जवानों को जिन्होंने दो डोज पहले लगा ली है। उनको तीसरी बूस्टर भी लगाना आवश्यक है जो कि जल्द सभी को लगा दिया जाएगा उन्होंने बताया कि जहां कहीं भी भीड़ दिखाई देती है तो उन्हें नियंत्रित करते हुए कोविड-19 का पालन करना आवश्यक है।

पुलिस अधीक्षक भुलर ने यह भी बताया कि चुनाव आयोग द्वारा राजनीतिक गतिविधियों को देखते हुए सभी प्रकार की रैलियों प्रचार पर भी प्रतिबंध लगाया गया है जिसका अनुपालन कराया जाना भी अति आवश्यक है। जिसके उपरांत मुनी की रेती क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए फ्लैग मार्च भी निकाला गया। इस दौरान थाना मुनिकीरेती पर प्रभारी रितेश शाह, वरिष्ठ उप निरीक्षक रमेश सैनी, सिद्धार्थ कुकरेती ,प्रदीप पंत सहित सभी पुलिसकर्मी भी मौजूद थे ।