ऋषिकेश में फ्लड रेस्क्यू का अभ्यास कर रहे SDRF जवान, बाढ़ व जल दुर्घटनाओं के दौरान रेस्क्यू में मिलेगी मदद



ऋषिकेश 02 दिसंबर। राज्य में चारधाम यात्रा के सकुशल समापन पर शीतकाल में जहाँ एक ओर SDRF टीमों द्वारा राज्यभर में व्यापक स्तर पर प्रशिक्षण व जनजागरूकता अभियान संचालित किए जा रहे है, जिससे अधिकाधिक लोगों को आपदा प्रबंधन के प्रति जागरूक किया जा सके।

वही दूसरी ओर  रिधिम अग्रवाल, पुलिस महानिरीक्षक, SDRF के निर्देशानुसार व  मणिकांत मिश्रा, सेनानायक SDRF के पर्यवेक्षण में SDRF टीमों द्वारा अपनी कार्यदक्षता को बढ़ाये जाने हेतु विभिन्न चरणों मे रेस्क्यू तकनीकों का अभ्यास किया जा रहा है।

विगत कुछ समय में राज्य ने बाढ़ की विभीषका झेली है व साथ ही जल दुर्घटनाओं में भी अप्रत्याशित वृद्धि हुई है जिस कारण अनेक लोगों ने अपनी जान गंवाई है जिसके दृष्टिगत SDRF में एक विशेषज्ञ फ्लड टीम का गठन भी किया गया है।

SDRF उत्तराखंड की फ्लड कम्पनी से इतर अन्य कंपनियों में नियुक्त जवानों की फ्लड रेस्क्यू के दौरान कार्यक्षमता व निपुणता बढ़ाये जाने हेतु फ्लड/ डीप डाइविंग टीम के प्रभारी निरीक्षक कवीन्द्र सजवाण व टीम के एक्सपर्ट प्रशिक्षक एस आई सचिन रावत, किशोर कुमार , मातबर सिंह, सुमित तोमर,रविंद्र, आदि द्वारा पशुलोक बैराज ऋषिकेश में फ्लड रेस्क्यू का अभ्यास कराया जा रहा है।

फ्लड रेस्क्यू अभ्यास के दौरान जवानों को तैरने व डूबते हुए व्यक्ति को बचाने की विभिन्न तकनीकों के साथ ही फ्लड रेस्क्यू उपकरणों जैसे लाइफ जैकेट, लाइफ बोया, अंडरवाटर ड्रोन, सोनार सिस्टम, रिमोट ऑपरेटेड लाइफ बोया, रेस्टट्यूब इत्यादि की विस्तृत जानकारी दी जा रही है व रिवर राफ्टिंग का अभ्यास भी कराया जा रहा है।

ऋषिकेश नगर निगम के चार वर्ष पूर्ण होने पर महापौर ने दोहराई विकास की प्रतिबद्धता ऋषिकेश में आस्थापथ पर 36.52 लाख की राशि से स्टैंडर्ड साइनेजेज,लाइटिंग, बेंचेज का होगा निर्माण  मोबाइल टायलेट के उद्वाटन के साथ घाटों के सौंदर्यीकरण एवं स्मार्ट बेंचेस का किया शिलान्यास



ऋषिकेश 02 दिसंबर। – नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ने निगम बोर्ड के चार वर्ष पूर्ण होने पर आज आस्थापथ पर स्थित 72 सीढ़ी घाट पर मोबाइल टायलेट का उद्वाटन किया। इस दौरान उन्होंने घाटों के सौंदर्यीकरण की योजना के साथ सोलर स्मार्ट बेंचेस का भी शिलान्यास किया।

शुक्रवार को नगर निगम के चार वर्ष पूर्ण होने पर महापौर द्वारा अपने रिपोर्ट कार्ड को जनता के सम्मुख रखने के साथ साथ करोड़ों रूपये की विभिन्न योजनाओं का उद्वाटन एवं शिलान्यास किया गया। इस अवसर महापौर ने कहा कि शहर के सर्वांगीण विकास के साथ गंगा किनारे आस्थापथ पर  श्रद्धालुओं और पर्यटकों के लिए शौचालय, बैंच, पेयजल सहित अन्य सुविधाओं की भी व्यवस्था की गई है। यह विकास कार्य लगातार जारी रहेंगे। उन्होंने कहा कि मेयर की कमान उन्होंने जनता की सेवा के लिए संभाली थी। इन चार वर्षों में सीमित संसाधनों के बावजूद बदलाव के लिए दृष्टिकोण की श्रृंखला अपनाई गई। अनेकों वृहद योजनाएं धरातल पर उतारी गई। मूल बुनियादी सुविधाएं आमजनमानस को उपलब्ध कराने के साथ समस्याओं से लेकर समाधान तक ईमानदारी के साथ कोशिश की गई। उन्होंने मौके पर मोजूद उपस्थिति को आश्वस्त किया कि आपकी समस्याओं का हर हाल में समाधान करने का प्रयास किया जायेगा। तीर्थ नगरी को विकास की पटरी पर संवारने में वह पिछले चार वर्षों से शिद्दत से जुटी हुई हैं।

विकास की किरण शहर के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे इसकी प्रयास जारी हैं। कहा कि, देवभूमि का विकास ही मेरा एकमात्र लक्ष्य है। आगे भी विकास कार्य निरंतर जारी रहेंगे, जो मेरी सेवा का संकल्प है। उन्होंने बताया कि शहर की पथ प्रकाश व्यवस्था को दुरुस्त करने के साथ निगम में नये जुड़े क्षेत्रों को को भी हाई मास्ट के जरिए जगमग कराया गया इसी का नतीजा है कि एम्स मार्ग हो या कोयल घाटी से आई डी पी एल – श्यामपुर जाने वाला मार्ग यहां सड़क हादसों के ग्राफ में कमि लाने में निगम प्रशासन कामयाब रहा। देश में स्वच्छता रेंकिंग में गंगा टाऊन के 43 शहरों में ऋषिकेश तीसरे स्थान पाने में  सफल रहा जोकि बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने विभिन्न बड़ी योजनाओं को धरातल पर लाने के लिए निगम अधिकारियों व सक्रिय जनप्रतिनिधि पार्षदों की खुलकर सराहना करते.हुए कहा कि शहर के चौक चौराहों के सौंदर्यीकरण व महापुरुषों के नाम पर उनके नामकरण से पूरे उत्तराखंड में एक सार्थक संदेश पहुंंचाने में निगम सफल रहा। तकरीबन चार सौ स्ट्रीट वैंडर्स को निगम द्वारा सभी आवश्यक सुविधाओं के साथ  रोजगार मुहय्या कराया गया ।महापौर ने जानकारी दी कि भारत सरकार की नमामि गंगे योजना के द्वारा ऋषिकेश में घाट सफाई के कार्य हेतु 235.41 लाख का काम होना है जिसमें 70 प्रतिशत केंद्र सरकार, 30 प्रतिशत  नगर निकाय की मद से योजना सम्पन्न होगी। उन्होंने बताया कि निगम के चार वर्ष पूर्ण होने पर ऋषिकेश में आस्थापथ पर 36.52 लाख की राशि से स्टैंडर्ड साइनेजेज,लाइटिंग, बेंचेज का निर्माण होगा।

उन्होंने जानकारी दी कि 36.46 लाख की लागत से जल्द ही त्रिवेणी घाट में  महिलाओं एवं पुरुषों हेतु हाइटेक शौचालय का  निर्माण कराया जायेगा। कार्यक्रम के दौरान गंगेश्वर महादेव मंदिर समिति द्वारा शहरवासियों को विभिन्न योजनाओं की सौगात देने पर उनका अभिनंदन भी किया गया।

इस अवसर पर मुख्य नगर आयुक्त राहुल गोयल, अधिशासी अभियंता  दिनेश उनियाल, स्वच्छता ब्रांड एंबेसडर महंत रवि प्रपन्नाचार्य व श्रीमती श्रीकांता शर्मा, पार्षद अजीत गोल्डी,राकेश सिंह , उमा बृजपाल राणा,प्रमोद शर्मा, प्रदीप कोहली, कमलेश जैन,विनोद शर्मा, सत्यवीर तोमर, रामकिशन अग्रवाल,  ब्रह्म कुमार शर्मा,  चेतन शर्मा, प्रदीप धस्माना, संदीप शास्त्री, विवेक गोस्वामी, रवि शर्मा , मंजू बलोदी, किरण त्यागी, संजय वर्मा, राजीव गुप्ता, धीरेंद्र कुमार धीरू, विजय बिष्ट, गंगेश्वर महादेव मंदिर समिति अध्यक्ष योगेश चुन्नू,  राजेश मनचंदा , नरेंद्र शर्मा, सुनीता सेमवाल, शैलेन्द्र रस्तोगी, संजय शर्मा, पंकज शर्मा,अजय कालड़ा, हरिओम शर्मा,रमेश अरोड़ा आदि प्रमुख रूप से शामिल थेे।

गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश वर्ष पर ऋषिकेश हेमकुंड गुरुद्वारे में लगेगा स्वास्थ्य चिकित्सा शिविर



ऋषिकेश ,01 दिसम्बर । सिखों के दसवे गुरू गोविंद सिंह जी महाराज के प्रकाश पर्व के अवसर पर ऋषिकेश में आयोजित होने वाले स्वास्थ्य चिकित्सा शिविर और प्रकाश उत्सव को मनाने के लिए नगर के सामाजिक धार्मिक लोगों की आयोजित सभा में  गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब में 25 दिसंबर को चिकित्सा शिविर लगाए जाने पर विचार विमर्श किया गया।

यह बैठक गुरुवार को लक्ष्मण झूला मार्ग पर स्थित गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब में ट्रस्ट के उपाध्यक्ष नरेंद्र जीत सिंह बिंद्रा की अध्यक्षता में आयोजित की गई ,जिसमें सभी लोगों ने चिकित्सा शिविर को भव्य रुप से मनाए जाने पर अपने विचार व्यक्त किए, बैठक में बताया गया कि इस स्वास्थ्य शिविर में विभिन्न रोगों के विशेषज्ञ चिकित्सक रोगियों की जांच कर उन्हें उचित परामर्श देने के साथ निशुल्क दवाइयां भी देंगे ।बैठक में बताया गया कि शिविर के दौरान गंभीर रोगियों के टेस्ट एक्स-रे आदि भी निशुल्क किए ‌जाएंगे ।जिसमें रक्तदान शिविर लगाया जाएगा।

जिसके लिए रोगी को 20 -21 -22- 23 दिसंबर तक अपना पंजीकरण करवाना होगा। बैठक में नगर निगम की महापौर अनीता ममगांई, पूर्व पालिकाध्यक्ष दीप शर्मा ,वीरेंद्र शर्मा, राजकुमार अग्रवाल, हर्षवर्धन शर्मा, मदन मोहन शर्मा ,गुरबचन सिंह, एसएस बेदी, विमला रावत ,सुभाष कोहली ,हरीश धींगरा, विक्की सेठी, नगर निगम पार्षद राकेश सिंह, अजीत सिंह गोल्डी, रीना शर्मा, विजयलक्ष्मी शर्मा ,सरदार कुलवंत सिंह, गोविंद सिंह, महेंद्र सिंह ,सरोज डिमरी, उषा रावत ,अमरजीत सिंह ,विमला रावत, ज्योति शर्मा ,सरदार मंगा सिंह ,सुरेंद्र मल्होत्रा ,सुरेश सूरी ,बिशन सिंह खन्ना, प्रबंधक सरदार दर्शन सिंह, राजेंद्र सिंह सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।

बिजली के बकाये को लेकर विजिलेंस की टीम के साथ हुई धक्का-मुक्की के बीच बकायेदार की हुई मौत नागरिकों ने बिजली दफ्तर और कोतवाली का घेराव कर मृतक के परिजनों को मुआवजा दिए जाने की लगाई गुहार



ऋषिकेश,0 1 दिसम्बर । बिजली के‌ बिल का भुगतान न किए जाने पर बकायेदार के घर पहुंची, विद्युत विभाग की विजिलेंस टीम की जांच के दौरान धक्का-मुक्की के बीच गृहस्वामी की मौत हो जाने के बाद स्थानीय नागरिकों ने गुरुवार को कोतवाली के साथ बिजली दफ्तर का घेराव कर टीम में शामिल सभी लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग किए जाने के साथ मृतक के परिजनों को मुआवजा दिए जाने की गुहार लगाई है।

बताया जा रहा है, कि बुधवार को नई जाटव बस्ती ऋषिकेश निवासी सोनू पुत्र श्याम सिंह ने पिछले काफी समय से बिजली का बिल जमा नहीं किया था। जिस पर निगम की ओर से सोनू को नोटिस जारी किए जा रहे थे। इसी को लेकर विजिलेंस की टीम सोनू के घर पहुंचे थे ।जहां उसकी पुत्री निहारिका भी मौजूद थीं। आरोप है कि टीम में शामिल अधिकारियों ने सोनू के साथ धक्का-मुक्की और गाली गलौज की ।धक्का लगने से सोनू बेहोश हो गया। जिसे स्थानीय नागरिक उसे लेकर राजकीय चिकित्सालय पहुंचे थे। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया

सोनू की मौत की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में आसपास के लोग चिकित्सालय पहुंचे और उसके बाद को कोतवाली गए थे जिन का आरोप है कि विजिलेंस की टीम ने सोनू के साथ जोर जबरदस्ती की ,जिससे उसे धक्का लगा और उसकी मौत हो गई।

टीम के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग को लेकर कोतवाली के वरिष्ठ उपनिरीक्षक डी पी काला‌ ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है ।मौत के कारणों को जानने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। सोनू शहर में मूंगफली की ठेली लगाकर परिवार का भरण पोषण करता था ।उसकी पत्नी सीमा घर में काम करती है ।जिसके दो पुत्र और एक पुत्री है

साईं घाट, ऋषिकेश में डूबा एक युवक, SDRF उत्तराखंड पुलिस द्वारा की जा रही गहन सर्चिंग



ऋषिकेश 30 नवंबर। त्रिवेणी घाट से 01 किमी दूर साईं घाट, ऋषिकेश में शामली उत्तरप्रदेश से आये एक युवक के गंगा में डूबने की सूचना SDRF को प्राप्त हुई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त युवक मनोज पुत्र मांगेराम उम्र 20-22 वर्ष निवासी जलाबाद थाना सावली जिला शामली, उत्तर प्रदेश का रहने वाला है व साईं घाट पर अपने दोस्तों के साथ नहाते समय अचानक अनियंत्रित होने से गहरे व तेज पानी की चपेट में आकर डूब गया।

सूचना मिलते ही SDRF रेस्क्यू टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए मय रेस्क्यू उपकरणों के घटनास्थल पर पहुँचकर गहन सर्चिंग की जा रही है।

पुलिस ने पेट्रोल पंप के पीछे जंगल से बरामद किया एक व्यक्ति का शव



ऋषिकेश, 30 नवम्बर  । डोईवाला थाना क्षेत्र अंतर्गत लछीवाला पंप के पीछे रेलवे ट्रैक के पार जंगल से पुलिस ने एक व्यक्ति का शव पडा हुआ प्राप्त किया। थाना डोईवाला पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार थाने पर सुबह सूचना प्राप्त हुयी कि लच्छीवाला पेट्रोल पम्प के पीछे रेलवे ट्रैक के पार जंगल में एक व्यक्ति का शव पडा है

प्राप्त सूचना पर तुरन्त आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रभारी निरीक्षक डोईवाला ने घटनास्थल पर पुलिस बल भेजा , तो लच्छीवाला पेट्रोल पम्प के पीछे रेलवे ट्रैक के पार जंगल की ओर 200 मीटर अन्दर एक व्यक्ति का शव पडा मिला, मौके पर मृतक की शिनाख्त अशोक ठकुरी पुत्र फतेह सिंह निवासी- नया गाँव लच्छीवाला थाना डोईवाला देहरादून उम्र-45 वर्ष* के रूप मे हुयी,तथा मौके पर परिवारजन व अन्य ग्रामवासी मौजूद थे, जिनसे जानकारी करने पर ज्ञात हुआ कि मृतक उपरोक्त मंदबुद्धि था तथा प्रथम दृष्टया प्रतीत होता है कि मृतक की मुत्यु किसी जंगली जानवर के हमला करने से हुयी है।

शव को कब्जे पुलिस लेकर मौके पर परिवारजनो की उपस्थिति मे उ0नि0 मुकेश कुमार द्वारा पंचायतनामा कर शव का पोस्टमार्टम कराने हेतु कोरोनेशन अस्पताल रवाना किया गया। मृतक की मुत्यु के कारण की जानकारी हेतु जाँच की जा रही है एवं पोस्टमार्टम रिपोर्ट प्राप्त होने पर नियमानुसार वैधानिक कार्यवाही अमल मे लायी जाएगी।

पुलिस के लिए चुनौती बना ब्लाइंड मर्डर का हुआ खुलासा मुनीकीरेती खारास्रोत ‌क्षेत्र में शराब के ठेके के निकट 9 दिन पूर्व हुई थी जंगल में हत्या  पुलिस ने हत्या आरोपी दो युवकों को किया गिरफ्तार, एक हत्यारोपी लड़ चुका है प्रधान पद का चुनाव  खुलासा करने वाली टीम को पुलिस कप्तान 5000 रुपए के इनाम से किया पुरस्कृत



ऋषिकेश 29 नवम्बर ‌‌। थाना मुनिकीरेती क्षेत्र अंतर्गत खारा स्रोत स्थित ‌शराब के ठेके से कुछ दूरी पर विगत 19 नवम्बर को शराब पीकर 3 लोगों के बीच हुई गाली गलौज के बाद पत्थर से सिर कुचलकर अपने ही साथी की कि गई हत्या का पुलिस ने घटना के 9 दिन बाद खुलासा कर दिया है।

यह खुलासा मंगलवार की दोपहर टिहरी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नवनीत सिंह भुल्लर, पुलिस अधिकारी रविंद्र कुमार चमोली और थाना प्रभारी रितेश शाह ने संयुक्त रूप से करते हुए बताया कि विगत 23 नवंबर को खारा स्रोत में ड्यूटी पर तैनात होमगार्ड सतपाल ने सूचना दी कि शराब के ठेके से सौ मीटर अंदर जंगल में एक व्यक्ति का क्षतिग्रस्त शव‌ पड़ा है, जिसकी सूचना पर पहुंची, पुलिस की टीम ने जंगल से एक व्यक्ति का शव बरामद किया ,पुलिस ने वहां ‌‌‌‌से दो शराब की बोतल और पका हुआ मीट भी‌ बरामद किया। जिसके बाद की गई जांच में घटना के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से घटना के आसपास की एक्टिविटी के बारे में जानकारी जुटाई गई ,जिसमें पता चला कि मृतक हर समय महाकाल लिखी टोपी लगाकर रखता है। जिसके पास से मोबाइल नंबर ही मिला था ।

जिसके माध्यम से कॉल डिटेल खंगाली गई, जांच को आगे बढ़ाते हुए पता चला कि 25 नवंबर को बड़े भाई प्रेमपाल सिंह पुत्र शूरवीर सिंह निवासी 14 बीघा कैलाश गेट ने पहचान उसकी टोपी देखकर की गई। जिसमें बताया कि मृतक का नाम विजय सिंह नेगी उम्र 50 वर्ष है ।जो कि उसका छोटा भाई है और वह शादी विवाह में तंदूर लगाने का काम करता था, जिस कारण वह कई दिनों तक घर नहीं आता था और वह शराब पीने का भी आदी था। मृतक के परिजनों ने बताया कि विजय अपने साथ मोबाइल नहीं रखता था जो उसे शादी ब्याह में आर्डर मिलते थे वह उसकी मां के मोबाइल पर ही आते थे, जिसके कारण पुलिस के सामने यह ब्लाइंड मर्डर एक चुनौती बना हुआ था । उन्होंने बताया कि विजय 19 नवंबर को घर से शादी में कार्य करने के लिए गया था और वह वापस नहीं आया उन्होंने सोचा कि वह कहीं काम कर रहा होगा, 28 नवंबर को मृतक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद उसकी मृत्यु का कारण उसके सिर पर चोट से होना बताया गया।

जिसके बाद मृतक के भाई ने थाने पर एक रिपोर्ट अपने भाई की मृत्यु होने के संबंध में दी, जिसके आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने बताया कि विजय की हत्या करने वालों में भूपेंद्र सिंह पुत्र जयपाल सिंह निवासी चमेली पोस्ट बहराइ पट्टी दोगी थाना मुनिकीरेती, जोकि वहां ग्राम प्रधान का चुनाव भी लड़ चुका है। और वह 28 वोट से हार गया था के साथ विकास पुत्र ध्रुव सिंह निवासी गैण्ड खाल ब्लॉक यम्केश्वर पौड़ी गढ़वाल को हर्बल गार्डन भद्रकाली के पास से गिरफ्तार किया गया ।

घटना का खुलासा करते हुए  बताया गया कि उन तीनों ने पहले शराब पी थी, जिन्होंने खाना स्रोत स्थित शराब के ठेके से 2 बोतल शराब लेने केेे बाद मीट भी ठेके के पास जंगल में ही बनाया था ,जब वह शराब पी रहे थे उस दौरान विजय ने बिना बाा बात के ही उन्हें मां बहन की गंदी गाली दी, जिसे हमने मना भी किया परंतु वह नहीं माना जिसके बाद हम गुस्से में आ गए और विजय नेगी के सिर पर पत्थर मारकर उसकी हत्या कर दी और पत्थर को वहीं पर झाड़ि‌यों में फें‌‌क दिया पहचान छिपाने की दृष्टि से उसके मुंह को भी कुचल दिया था। जिसके बाद वह फरार हो गए थे ।घटनास्थल से पुलिस ने वह पत्थर भी बरामद कर लिया है जिसका खुलासा किए जाने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने हत्याकांड का खुलासा करने वाली टीम को ₹5000 का इनाम देने की घोषणा भी की है।

हिंदू जागरण मंच के उत्तराखंड की आंतरिक सुरक्षा को लेकर जताई गई चिंता हुई सत्य साबित जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर रशियन नागरिक को सेटेलाइट फ़ोन के साथ गिरफ्तार होने पर उत्तराखंड से लेकर दिल्ली तक सुरक्षा में लगाई गई सेंधमारी को लेकर मचा हड़कंप  पकड़ा गया विदेशी नागरिक रशिया में रह चुका है मंत्री



ऋषिकेश, 29 नवम्बर। हिंदू जागरण मंच द्वारा रविवार को देश और उत्तराखंड के सीमावर्ती क्षेत्रों की आर्थिक सुरक्षा को लेकर जताई गई चिंता उस समय सही साबित हुई, जब रशिया के कानून के जानकार पूर्व कृषि एवं खाद्य मंत्री रह चुके विदेशी नागरिक को उत्तराखंड की राजधानी के देहरादून एयरपोर्ट से दिल्ली जाते हुए सीआइएसएफ की महिला सुरक्षाकर्मी ने सोमवार को प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन के साथ गिरफ्तार कर लिया । जिसके बाद उत्तराखंड से लेकर दिल्ली तक विदेशी नागरिक द्वारा सुरक्षा में लगाई गई सेंधमारी को लेकर हड़कंप मचा है।

पकड़ा गया विदेशी नागरिक कोई आम नागरिकों में नहीं आता जो कि रशिया सरकार में पूर्व में कृषि व खाद्य मंत्री भी रहने के चलते कानून का जानकार भी है । हालांकि पुलिस की गिरफ्तारी के बाद विदेशी नागरिक को न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया, जहां उसे एक हजार रुपये का जुर्माना लगाकर बरी कर दिया गया। जबकि न्यायालय ने सेटेलाइट फोन को जब्त कर दिया है। जिस विदेशी नागरिक को सीआईएसफ की महिला सुरक्षा कर्मी ने सोमवार की दोपहर जौलीग्रांट स्थित देहरादून एयरपोर्ट पर चेकिंग के दौरान भारत में प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन के साथ गिरफ्तार किया। वह उत्तराखंड के सीमांत जिले चमोली के निकट चोपता से घूम कर देहरादून से दिल्ली जा रहा था।

लेकिन सवाल उठता है कि पकड़ा गया नागरिक दिल्ली से उत्तराखंड तक प्रतिबंधित सैटेलाइट फोन के साथ कैसे पहुंंच गया। जो कि भारत की सुरक्षा में लगाई गई सेंध का मामला भी है।सीअइएसएफ की महिला निरीक्षक सुनीता सिंह ने विदेशी नागरिक विक्टर सेमेनाेव पुत्र एलेक्सजेंड्रोविच निवासी मकान नं. 5, स्ट्रीट मिच्युरुनेस्की, मास्को रशिया को डोईवाला कोतवाली पुलिस के सुपुर्द कर दिया था । निरीक्षक सुनीता सिंह की तहरीर पर पुलिस ने विदेशी नागरिक विक्टर सेमेनाेव के खिलाफ भारतीय टेलीग्राम एक्ट 1885 व भारतीय बेतार तार यांत्रिकी अधिनियम 1933 के तहत मुकदमा दर्ज कर उसे डोईवाला न्यायालय में पेश किया। पूछताछ में विदेशी नागरिक ने बताया कि वह एक फोटोग्राफर है। वह 22 नवंबर को भारत आया था। दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरने के बाद वह सड़क मार्ग से कार के माध्यम से ऋषिकेश होते हुए चोपता चमोली गढ़वाल घूमने गया था। बताया कि वह शौकिया तौर पर वाइल्डलाइफ व नेचर फोटोग्राफी करता है।

सोमवार को उसे देहरादून हवाई अड्डे से फ्लाइट से दिल्ली जाना था, जहां उसे प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन के साथ गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने विदेशी नागरिक को न्यायिक मजिस्ट्रेट डोईवाला मीनाक्षी दूबे की अदालत में पेश किया, जहां आरोपित ने अपनी गलती को स्वीकार करते हुए माफी मांगी। न्यायालय ने प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन को जब्त करते हुए एक हजार का जुर्माना लगाकर उसे रिहा कर दिया।
प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन के साथ गिरफ्तार किए गए विक्टर सेमेनाेव ने बताया कि वह वर्ष 1998 से 99 तक रूसी संघ में कृषि एवं खाद्य मंत्री रह चुके हैं। वर्तमान में वह कृषि विकास समिति के प्रमुख होने के साथ ही बेलाया डाचा के पर्यावेक्षक बोर्ड के अध्यक्ष भी हैं। बताया कि भारत में इस सेटेलाइट फोन के प्रतिबंधित होने की जानकारी उन्हें नहीं थी। सवाल यह उठता है कि रशिया सरकार में जिम्मेदार पद पर रह चुके है। जिन्हें इस बात की जानकारी ना होना भारत की सुरक्षा एजेंसियों के गले से नीचे नहीं उतर रही है और उन्होंने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए दिल्ली से उत्तराखंड तक जांच भी प्रारंभ कर दी‌ है। इस मामले में स्थानीय अभिसूचना इकाई के एक अधिकारी का कहना था कि विदेशी नागरिक द्वारा रशिया से भारत लाए गए सेटेलाइट फोन को भारत में लाने के बाद इस्तेमाल नहीं किया गया है यदि यह मोबाइल खोला जाता तो भारत की सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो जाती क्योंकि इस की फ्रीक्वेंसी के कारण या पकड़ में आ जाता उन्होंने बताया कि ऐसे सेटेलाइट फोन भारत के सभी सुरक्षा एजेंसियों के साथ उच्च अधिकारियों राष्ट्रपति प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री के साथ आपदा ग्रस्त क्षेत्रों में प्रयोग किए जाते हैं जहां दूर संचार विभाग और आम मोबाइल काम नहीं करते इसलिए भारत में सेटेलाइट फोन आम लोगों के लिए प्रतिबंधित है। वही भारत के सीमांवर्ती क्षेत्रों की आंतरिक सुरक्षा को लेकर ऋषिकेश में रविवार को आयोजित हिंदू जागरण मंच के अभ्यास वर्ग में भी चिंता व्यक्त की गई थी।

परिवार के साथ ऋषिकेश घूमने आया बुजुर्ग‌ का शव‌‌ आठ दिन बाद बैराज जलाशय से पुलिस ने किया बरामद



ऋषिकेश, 28 नवम्बर ।राजस्थान से ऋषिकेश अपने परिवार के साथ घूमने आया एक बुजुर्ग परमार्थ निकेतन घाट पर नहाते वक्त अचानक 20नवम्बर को डूब जाने के बाद सोमवार की देर शाम को जल पुलिस और एसडीआरएफ की संयुक्त टीम रेस्क्यू कर बैराज जलाशय से बरामद कर लिया है।

उल्लेखनीय है कि लक्ष्मण झूला थाना क्षेत्र के अंतर्गत यह घटना घटी थी। थाना प्रभारी निरीक्षक विनोद गुसाईं ने बताया कि हंसराज खुराना (80 वर्ष) निवासी आदर्श नगर, जयपुर राजस्थान अपने परिवार के साथ ऋषिकेश घूमने आए थे। जोकि‌ 20नवम्बर करीब 7:00 बजे परमार्थ निकेतन आश्रम से गंगा स्नान हेतु परमार्थ घाट पर गए थे।

जिनके कपड़े चप्पल आदि गंगा घाट पर मिले थे। उनके गंगा नदी में डूबने की आशंका थी। थाना पुलिस ,जल पुलिस , गोताखोर, एसडीआरएफ टीम द्वारा प्रभारी कविंद्र सजवान के नेतृत्व में गंगा नदी में तलाश अभियान चलाया जा रहा था। पुलिस को सोमवार की शाम को बैराज जलाशय में एक शव के होने की सूचना ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌पर शवको निकाला गया।‌

पुलिस ने जॉली ग्रांट हवाई अड्डे‌ पर एक विदेशी नागरिक से प्रतिबन्धित सैटालाईट फोन किया बरामद



ऋषिकेश, 28 नवम्बर ‌‌। जौलीग्रांट हवाई अड्डे पर पुलिस ने जांच के दौरान एक विदेशी नागरिक से प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन बरामद किए जाने के बाद उसके भी मुकदमा दर्ज कर लिया है। उक्त मामले की रिपोर्ट डोईवाला थाने में दर्ज करा दी गई है।

मिली जानकारी के अनुसार ‌ महिला उपनिरीक्षक सीआईएसफ सुनीता सिंह एयरपोर्ट जौली ग्रांट देहरादून चौकी जौलीग्रान्ट, ने थाना डोईवाला पर दी गई तहरीर में कहा कि रविवार को एयरपोर्ट जौलीग्रान्ट मे चैंकिग में विदेशी नागरिक‌ विक्टर सेमीनोव पुत्र एलेक्सानडरोवीच निवासी ‌मकान नंबर एन5 स्ट्रीट मास्को रसिया से प्रतिबन्धित सैटालाइट फोन अवैध रूप से अपने साथ रखने पर सीआईएसफ के द्वारा सैटालाइट फोन बरामद किया गया है।

जिस पर चौकी प्रभारी जौलीग्रान्ट द्वारा बरामद प्रतिबन्धित सैटालाईट फोन व उक्त विदेशी नागरिक को नियमानुसार हिरासत मे लेकर वादिनी सुनीता सिंह की तहरीर के आधार पर भारतीय टेलीग्राम एक्ट भारतीय बेतार तार यांत्रिकी अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत किया गया तथा पंजीकृत अभियोग की विवेचना चौकी प्रभारी जौलीग्रान्ट उ0नि0 उत्तम रमोला के सपुर्द की गयी।