ऋषिकेश देहरादून में प्रॉपर्टी डीलरों ‌द्वारा आयकर विभाग को ढाई सौ करोड़ से ज्यादा की संपत्ति की सरेंडर , आयकर विभाग की चली 4 दिन तक कार्रवाई



ऋषिकेश, 28 नवम्बर । ऋषिकेश देहरादून के विख्यात प्रॉपर्टी डीलरों के कारोबारियों के यहां पिछले 4 दिनों से आयकर विभाग के अधिकारियों द्वारा की गई छापेमारी के दौरान 250 करोड़ से ज्यादा की गई कमाई और देहरादून में 80 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति भी विभाग को सरेंडर की गई है।

उल्लेखनीय है कि देहरादून में छापों की कार्रवाई एडीशनल डायरेक्टर ठाकुर मपवाल और डिप्टी डायरेक्टर रितेश भट्ट के नेतृत्व में गुरुवार को प्रारंभ की गई थी, जिसके अंतर्गत देहरादून ऋषिकेश के एक दर्जन से अधिक स्थानों पर आयकर विभाग की टीमों ने छापेमारी की कार्रवाई को अंजाम दिया था ।जो कि रविवार तक चली ।

इस कार्रवाई में स्थानीय अधिकारियों को समन्वयक के लिए शामिल किया गया था। जिसमें नेशविला रोड पर एमजे रेजिडेंसी के मालिक के घर और उनके प्रतिष्ठानों पर छापेमारी की गई थी। जिसमें विजय टंडन और नीरज टंडन के घर ऋषिकेश के प्रॉपर्टी डीलर मनजीत जोहर ,राज लुंबा, मेहता ब्रदर्स, सहारनपुर के व्यापारी नटस भाटिया, नवीन कुमार मित्तल, ऋषिकेश के नितिन गुप्ता के घरों और प्रतिष्ठानों पर भी छापेमारी की गई। जिनके यहां से आयकर विभाग की टीम ने बेनामी संपत्ति संबंधी दस्तावेजों के साथ बड़ी संख्या में नकदी भी बरामद कर टीम अपने साथ ले गई है। जिसे लेकर नगर में काफी चर्चा है।

उत्तराखंड परिवहन महासंघ के आह्वान पर सरकार की वाहन नीति के विरोध में 29 नवम्बर को देहरादून विधानसभा का घेराव किया जाएगा -29 नवंबर को संपूर्ण उत्तराखंड में विक्रम टेंपो महासंघ करेगा चक्का जाम प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री से मिलेगा



ऋषिकेश 26 नवम्बर ‌‌‌।उत्तराखंड परिवहन महासंघ केंद्र सरकार द्वारा 15 वर्ष की आयु पूरी कर चुके, वाहनों को सड़कों से हटाए जाने के विरुद्ध एकजुट होकर सरकार के निर्णय का विरोध किए जाने का निर्णय लिया है। जिसे लेकर 29 नवम्बर को विधानसभा घेराव किए जाने से पूर्व एक प्रतिनिधिमंडल प्रदेश के मुख्यमंत्री से मिलेगा । और 29 नवंबर को संपूर्ण उत्तराखंड में एक भी विक्रम टेंपो सड़क पर नहीं उतरेगा। जो कि देहरादून में घेराव करेंगे ।

यह निर्णय शनिवार को आईएसबीटी पर आयोजित परिवहन महासंघ के अध्यक्ष सुधीर राय की अध्यक्षता में बैठक के दौरान तमाम परिवहन महासघ से जुड़ें प्रतिनिधियों की बैठक में लिया गया ।बैठक में वक्ताओं ने कहा कि वाहनों को सड़कों से हटाए जाने के निर्णय से पहले तमाम वाहन स्वामीयों से बातचीत स करनी चाहिए, सरकार ने 31 दिसंबर तक वाहनों को सड़कों से हटाए जाने का फरमान जारी किया है ।जो की पूरी तरह से अव्यवहारिक है। क्योंकि सरकारों ने अभी तक उत्तराखंड में कोई भी सीएनजी स्टेशन की स्थापना नहीं की है, जब तक यह व्यवस्था नहीं की जाएगी। तब तक सरकार का निर्णय व्यवहारिक नहीं है।

बैठक में कहा गया कि सरकार के उक्त निर्णय की गाज सभी परिवहन व्यवसाय से जुड़े लोगों पर गिरेगी जिसके विरूद्ध सभी को एकजुट होने की आवश्यकता है। यदि हम लोग एकजुट नहीं होंगे तो परिवार व्यवसाय पूरी तरह से चौपट हो जाएगा ।जिसके कारण बेरोजगारी भी बढेगी। विक्रम टेंपो महासंघ के अध्यक्ष विनय सारस्वत ने कहा कि 29 नवंबर को पूरे उत्तराखंड में कोई भी विक्रम टेंपो सड़कों पर नहीं उतरेंगे ,और हरिद्वार , डोईवाला से तमाम टेंपो महासंघ से जुड़े लोग देहरादून जाएंगे।

बैठक में विनय सारस्वत ,मनोज ध्यानी, त्रिलोक सिंह भंडारी, पंकज शर्मा ,विनोद साहनी, विनोद भट्ट, दाताराम, विजेंद्र सिंह ,कंडारी, प्रवीण नौटियाल, अरुण कुमार, सतीश नेगी, सोहन सिंह हेमंत डंग, जगदीश चौहान, दिनेश बहुगुणा, आशीष चौहान, मनमोहन कालडा सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।

ऋषिकेश में पड़े आयकर विभाग के छापे दूसरे दिन भी रहे जारी, टीम ने मोटी रकम के साथ जमीन संबंधी दस्तावेज लिए कब्जे में, नगर में लगातार बनी रही चर्चा, 



ऋषिकेश, 25 नवम्बर । ऋषिकेश देहरादून सहारनपुर में इनकम टैक्स विभाग द्वारा गुरुवार की‌ सुबह आठ‌‌ बजे से‌ लगातार की जा‌ रही छापेमारी की कार्रवाई शुक्रवार को भी जारी रही । इस दौरान ‌ टीम के सदस्यों ने फाइनेंसर, प्रॉपर्टी डीलर और प्रतिष्ठित व्यापारियों के  यहां से ‌ मोटी रकम के साथ जमीनों से संबंधित दस्तावेज भी अपने कब्जे में ले लिए हैं। उल्लेखनीय है कि ‌यह कार्यवाही एडिशनल डायरेक्टर ठाकुर मपवाल व डिप्टी डायरेक्टर रितेश भट्ट के नेतृत्व में की जा रही है।

गुरुवार की सुबह आयकर विभाग द्वारा ऋषिकेश नगर के प्रतिष्ठित प्रॉपर्टी डीलर ,फाइनेंसर और होटल व्यवसायियों के यहां एक सा‌थ 6 व्यवसायिक प्रतिष्ठानों पर छापों की कार्रवाई प्रारंभ की गई थी। परंतु गुरुवार को साप्ताहिक अवकाश होने के कारण प्रतिष्ठान बंद मिले थे जिसके चलते टीम के सदस्यों को अपनी कार्रवाई को अमल में लाने के लिए प्रतीक्षा करनी पड़ी थी जिसको शुक्रवार को प्रतिष्ठान खुलने के बाद भी ‌अपनी कार्रवाई को ‌अंजाम दिया गया।मारे गए छापों के बाद नगर में हड़कंप मचा हुआ है। टीम द्वारा वीलाना होटल और नगर के प्रतिष्ठित प्रॉपर्टी डीलर एवं फाइनेंसर के यहां छापेमारी की कार्रवाई की जा रही है।

प्राप्त सूत्रों के अनुसार 11 जगहों पर देहरादून, 6 ऋषिकेश, 13 सहारनपुर, 8 जगह दिल्ली में छापे मारी की कार्रवाई चल रही है। जिसमें प्रमुख रूप से प्रसिद्ध व्यापारी मंजीत जौहर, राज लुंबा, मेहता बर्दस, भाटिया, नवीन कुमार मित्तल, नितिन गुप्ता, आदि व्यापारियों के घरों और प्रतिष्ठानों पर छापेमारी की कार्रवाई की जा रही है।

वर्ष 2023 में 16 करोड़ रुपए की लागत बनने वाले नए चार धाम यात्रा ट्रांजिट कैंप से किया जाएगा, यात्रा का संचालन चार धाम पर जाने वाले यात्रियों को एक ही छत के नीचे मिलेगी सभी सुविधाएं- पूजा गबरयाल



ऋषिकेश 23 नवम्बर ‌‌‌‌ । वर्ष 2023 में आयोजित होने वाली चार धाम यात्रा का संचालन राज्य सरकार द्वारा निर्मित नए चार धाम यात्रा ट्रांजिट कैंप से प्रारंभ किए जाने का निर्णय लिया है ।जिसकी तैयारी पर्यटन विभाग द्वारा कर ली गई है यह जानकारी बुधवार को अपर‌ सचिव पर्यटन पूजा गबरयाल ने ऋषिकेश में बनाए गए नए ट्रांजिट केंद्र का स्थलीय निरीक्षण करने के उपरांत पत्रकारों को देते हुए बताया कि ऋषिकेश में वर्ष 2023 में प्रारंभ होने वाली चार धाम यात्रा को राज्य सरकार ने गंभीरता से लेते हुए एक ही छत के नीचे से यात्रा को संचालित किए जाने का निर्णय लिया है।

जिसके चलते ऋषिकेश में लगभग 16 करोड़ रुपए की लागत से‌ 3.5 एकड़ भूमि पर ट्रांजिट कैंप का निर्माण वन विभाग की भूमि पर किए जाने काल निर्णय लिया था जहां पर ट्रांजिट कैंप का निर्माण किया गया है। उन्होंने बताया कि उक्त योजना के अंतर्गत एक ही स्थान पर यात्रा संबंधित सभी कार्यालयों को खोला जाएगा, जिसमें पंजीकरण यात्रा कंट्रोल रूम, स्वास्थ्य चिकित्सा , यात्रियों की सुविधा , पीने के पानी व शौचालय की सुविधा के साथ यात्रियों के विश्राम गृह भी बनाए गए हैं । उन्होंने यह भी बताया कि इसी स्थान पर यात्रियों को बारकोड भी दिया जाएगा ।

उन्होंने यह भी बताया कि अब यहीं पर लगभग 200 बसों के साथ छोटे वाहनों की पार्किंग भी एक ही स्थान पर होगी।जिसके अंतर्गत यात्रियों के चार धाम जाने और वापस आने के आंकड़े भी राज्य सरकार के पास रहेंगे।जिसकी सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है।‌ जो कार्य अभी छूटे हुए हैं उन्हें भी जल्द किए जाने के निर्देश संबंधित विभाग को दिए।

निरीक्षण के दौरान पैटर्न विभाग के उपनिदेशक वाई एस गंगवार,राहुल कुमार गोयल ऋषिकेश ‌‌नगरनिगम के मुख्य आयुक्त ,सहायक नगर आयुक्त आर एस रावत, योगेंद्र कुमार , गंभीर सिंह परियोजना प्रबंधक, जसवीर सिंह संवाद अवर अभियंता जसपाल चौहान डीटीओ टूरिज्म भी उपस्थित थे।

रोजगार देने वाले बनेंगे देश के लोग, वर्ष 2047 तक देश के अधिकांश युवा रोजगार के क्षेत्र में स्टार्टअप का करेंगे काम :  सुबोध उनियाल



देहरादून/ऋषिकेश 19 नवंबर। वर्ष 2047 तक देश के अधिकांश युवा रोजगार के क्षेत्र में स्टार्टअप का काम करेंगे, इससे वह रोजगार देने में सक्षम होंगे। बेंगलुरु में आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला में शिरकत कर उत्तराखंड पहुंचे कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने यह जानकारी दी।
बता दें कि केंद्रीय वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार व उद्योग संवर्धन विभाग द्वारा बेंगलुरु में आयोजित दो दिवसीय स्टार्टअप व उद्यमिता विकास कार्यशाला में उत्तराखंड राज्य का प्रतिनिधित्व कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने किया।

शनिवार को उत्तराखंड पहुंचने पर कैबिनेट मंत्री ने बताया कि युवाओं के स्टार्टअप्स व उद्यमिता विकास हेतु केंद्र सरकार की ओर से फंडिंग अच्छी होनी चाहिए, इससे अधिक युवाओं को साथ जोड़ा जा सकेगा। कहा कि गुजरात के विकास मॉडल की तर्ज पर केंद्र सरकार को कार्य करने चाहिए। भविष्य के लिए तकनीकी विकास, छात्र उद्यमिता, वित्तपोषण की विधा, धारणीय विकास के लिए नवाचार व पारिस्थितिकी संतुलन इसके प्रमुख अवयव होंगे।

मुनी की रेती क्षेत्र का गुजरात मॉडल की तर्ज पर होगा विकास- रोशन रतूड़ी स्वच्छता कर्मियों के ईनाम की राशि जल्द अवमुक्त नहीं हुई तो परिषद के सभी सभासद देंगे इस्तीफा



ऋषिकेश,18नवम्बर । नगरपालिका परिषद मुनि की रेती की बोर्ड बैठक में गुजरात मॉडल की तर्ज पर मुनिकीरेती क्षेत्र में परिषद और पीडब्ल्यूडी लगभग दस करोड़ की लागत से विकास कार्य किए जाने की जानकारी ‌‌‌‌‌दी।

यह जानकारी शुक्रवार को नगर पालिका परिषद मुनी की रेती की बोर्ड बैठक में परिषद के अध्यक्ष रोशन रतूड़ी ने बैठक में उपस्थित सभासदों को देते हुए बताया कि मुनी की रेती और ढाल वाला क्षेत्र में होने वाले तमाम सड़कों नालियों खडंजो के साथ जल जीवन मिशन के कार्यों का स्थलीय निरीक्षण कर उनके टेंडर भी आमंत्रित कर लिए‌‌ गये हैं। जिसमें चार करोड़ 90 लाख के कार्य नगर पालिका परिषद और 32 लाख के पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा किए जाएंगे ।

इसी के साथ बैठक में यह भी बताया गया कि परिषद क्षेत्र में घूमने वाले निराश्रित पशुओं के रखरखाव को लेकर पिछले दिनों उच्च न्यायालय में दायर रिट को भी परिषद ने गंभीरता से लिया है। जिसके अंतर्गत जल्द ही निराश्रित पशुओं के लिए व्यवस्था की जा रही है ।उन्होंने यह भी बताया कि यह व्यवस्था सुमन पार्क के निकट की जाएगी।

रोशन रतूड़ी ने बताया कि बोर्ड की आय को बढ़ाने के लिए क्षेत्र में स्थित औद्योगिक इकाइयों, होटलों और आश्रमों पर भी टैक्स बढ़ाया जाएगा जिसकी पूरी योजना बना ली गई है ।इसी के साथ क्षेत्र के सभी मार्गों और मकानों को चिन्हित कर लिया गया है जिन पर उनकी पहचान के लिए नंबर डाले जाएंगे ,विकास की दृष्टि से पूरे परिषद क्षेत्र को 5 सेक्टरों में विभाजित किया गया है।

बोर्ड की बैठक में पालिका सभासद वीरेंद्र चौहान ने राज्य सरकार द्वारा पालिका क्षेत्र में स्वच्छता कर्मियों के लिए उनके कार्यों को देखते हुए लगभग 2 चरणों में 75- 75 लाख रुपए दिए जाने की घोषणा की थी ,परंतु अभी तक उन्हें नहीं दिया गया है। जिससे नाराज सभी सभासदों ने एक स्वर से विरोध प्रकट करते हुए सरकार के प्रति निंदा प्रस्ताव पारित किया गया ।

उन्होंने कहा कि इस धनराशि को लेने के लिए पालिका परिषद के तमाम अधिकारी कई बार शासन स्तर पर चक्कर लगा चुके हैं। परंतु उन्हें यह धनराशि नहीं दी गई है। इससे नाराज होकर सभी सभासदों ने कहा कि यदि दिसंबर तक यह धनराशि आवंटित नहीं की गई, तो जनवरी में सभी सभासद इस्तीफा दे देंगे ।परिषद की बोर्ड बैठक में कुल 11 प्रस्ताव पर विस्तृत रूप से चर्चा की गई ।जिसमें परिषद के अधीशासी अधिकारी तनवीर सिंह, टैक्स इंस्पेक्टर अनुराधा गोयल ,बेताल सिंह, सभासद धर्म सिंह,गजेंद्र सिंह, मीनू देवी, वंदना थलवाल, सुषमा देवी वीरेंद्र चौहान, विकास सेमवाल सहित तमाम सभासद भ उपस्थित थे।

उत्तराखंड बार एसोसिएशन के आह्वान पर अधिवक्ताओं ने न्यायिक कार्यों का बहिष्कार कर किया धरना प्रदर्शन



ऋषिकेश , 17नवम्बर । बार काउंसिल ऑफ उत्तराखंड के आह्वान पर बार एसोसिएशन के समस्त अधिवक्ताओं ने न्यायिक कार्यों में अधिकारियों द्वारा अधिवक्ताओं को सहयोग न किए जाने के विरोध में‌ न्ययालय परिसर में कार्य बहिष्कार कर एक दिवसीय से धरना दिया।

गुरुवार को बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्र सजवाण के नेतृत्व दिए गए धरने के दौरान महासचिव अनिल नवानी ने कहा कि पिछले काफी समय से न्यायालयों में कार्यरत अधिकारियों द्वारा अधिवक्ताओं को न्यायिक कार्यों में सहयोग न कर सहयोग की भावना से कार्य करते हुए उनके साथ अभद्रता की जा रही है जिसके कारण वाद कारियों के जहां कार्य प्रभावित हो रहे हैं ।वही अधिवक्ताओं को भी काफी परेशानियों से जूझना पड़ रहा है जिसके कारण न्यायालय के अधिकारियों और अधिवक्ताओं के बीच कलह की स्थितियां पैदा हुई है।

बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्र चौहान ने कहा कि उक्त परिस्थितियों से बचने के लिए के लिए उत्तराखंड बार एसोसिएशन कई बार उच्च अधिकारियों से भी वार्ता की है परंतु उनकी समस्याओं का समाधान नहीं हो पाया है और निरंतर शिकायतें भी प्राप्त हो रही है जिसे देखते हुए उत्तराखंड बार एसोसिएशन पूरे प्रदेश में आज 1 दिन का कार्य बहिष्कार कर अपना विरोध प्रकट किया है ।

न्यायालय परिसर में धरना देने वालों में राजेंन्द्र सिंह सजवाण, सुनील नवानि, शीशराम कंसवाल,सूरत सिंह रौतेला, ओमकार सिंह, राजेश अग्रवाल, विपुल शर्मा,मुकेश शर्मा,नरेश शर्मा, पुष्कर बंगवाल, शरद कुमार,अमित वत्स, रोहित गुप्ता, खुशाल सिंह कलूडा,लक्ष्मी बहुगुणा, सहित समस्त अधिवक्ता मौजूद थे।

ऋषिकेश: उत्तराखंड परिवहन महासंघ ने किया नवनिर्मित वाहन टैस्टिंग लेन का विरोध,परिवहन महासंघ ने भी डीजल चलित ऑटो विक्रम एवं थ्रीव्हीलर को ऑफ रुट करने के संबंध में की चिंता जाहिर



ऋषिकेश,04 नवम्बर ‌‌‌‌‌ । उत्तराखंड परिवहन महासंघ ने उत्तराखंड परिवहन विभाग द्वारा लाल तप्पड़, माजरी ग्रांट में पीपीपी मोड पर बनाई गई वाहनों की टेस्ट लेन का विरोध किये जाने का ऐलान किया है ।

यह ऐलान शुक्रवार को उत्तराखंड परिवहन महासंघ के अध्य्क्ष सुधीर राय की अध्यक्षता में संयुक्त रोटेशन कार्यालय आहूत बैठक में किया गया। जिसमें उत्तराखंड के सदस्य परिवहन संस्थाओं ने लाल तप्पड़, माजरी ग्रांट में पीपीपी मोड पर बनाई गई वाहनों की टेस्ट लेन का विरोध किए, जाने का सर्वसम्मति निर्णय लेते हुए कहा कि सरकार द्वारा टेस्टिंग लेन का निर्माण आरटीओ कार्यालय ऋषिकेश में ही किया जाना चाहिए क्योंकि आरटीओ कार्यालय को पूर्व में ही टेस्टिंग लेन के लिए जमीन आवंटित की गई थी एवं वन विभाग द्वारा भी टेस्टिंग लेन के लिए ही अनापत्ति प्रमाण पत्र दिया गया था। परंतु सरकार ने आरटीओ कार्यालय से लगभग 20 से 25 किलोमीटर दूर टेस्टिंग लेन का निर्माण पीपीपी मोड पर करा दिया गया जोकि अनुचित है।

यातायात पर्यटन विकास सहकारी संघ के अध्यक्ष मनोज ध्यानी ने कहा कि हम पी पी पी मोड से निर्मित टेस्टिंग लेन का विरोध नहीं करते बल्की हम यह चाहते हैं, कि यह टेस्टिंग लेन आरटीओ कार्यालय ऋषिकेश में लगाई जानी चाहिए ताकि वाहन स्वामियों को अनावश्यक परेशानी ना झेलनी पड़े। एवम इसमें कही ना कही सरकारी नियंत्रण भी आवश्यक है, यदि टेस्टिंग लेन सरकारी नियंत्रण या आरटीओ कार्यालय के नियन्त्रण में नहीं हुआ तो उनके द्वारा मनमर्जी करना स्वभाविक है।

वही दूसरी ओर परिवहन महासंघ ने डीजल चलित ऑटो विक्रम एवं थ्रीव्हीलर को ऑफ रुट करने के संबंध में भी चिंता जाहिर की ।उत्तराखंड ऑटो, टैंपू ,विक्रम महासंघ के अध्यक्ष महन्त विनय सारस्वत ने कहा कि सरकार तुगलकी फरमान जारी कर ऑटो विक्रम को रूट से हटाना चाहती है, उसके स्थान पर सीएनजी विक्रम थ्री व्हीलर लाए जाने की तैयारी शासन द्वारा की जा रही है। हम सरकार से यह मांग करते हैं कि एक नियोजित तरीके से यदि वाहन को ऑफ रुट किया जाता है, तो हमें कोई आपत्ति नहीं है ।पहले सरकार द्वारा ऋषिकेश देहरादून क्षेत्र में सीएनजी पंपों की स्थापना की जावे तत्पश्चात आयु के आधार पर वाहनों का रिप्लेसमेंट किया जाए एक तरफा फरमान हमें मंजूर नहीं इसके लिए यदि सरकार नहीं मानती है तो आंदोलन किया जाएगा।

सर्व सम्मति से तय किया गया की एक प्रतिनिधि मंडल शीघ्र ऋषिकेश के कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल से मुलाकात कर परिवहन मंत्री एवम मुख्य मंत्री से वार्ता कर अपनी बात रखने कार्य करेगा, यदि हमारी बाते नही मानी जाती तो इसके लिए चरणबद्ध आंदोलन किया जाएगा।

बैठक में दिनेश बहुगुणा, अध्यक्ष गढ़वाल ट्रक यूनियन, जयप्रकाश नारायण अध्यक्ष इनोवा टैक्सी मैक्सी, विजय पाल सिंह रावत अध्यक्ष गढ़वाल मंडल टैक्सी यूनियन ,यशपाल राणा उपाध्यक्ष टिहरी गढ़वाल मोटर ओनर्स, नवीन चंद रमोला उपाध्यक्ष यातायात पर्यटन विकास ,प्रेमपाल बिष्ट अध्यक्ष लोकल रोटेशन,बलबीर सिंह रोटेला, राधेश्याम व्यास सचिव कमांडर सुमो यूनियन,त्रिलोक भंडारी अध्यक्ष विक्रम यूनियन तपोवन, सुनील शर्मा अध्यक्ष विक्रम यूनियन मनी की रेती ,हेमंत डांग अध्यक्ष ऋषिकेश टैक्सी मैक्सी एसोसिएशन, विजेंद्र कंडारी सचिव गढ़वाल मंडल टैक्सी यूनियन, गजेन्द्र नेगी अध्यक्ष गड़वाल टिपर एसोसिएशन प्यारेलाल जुगलान यातायत , गजपाल रावत अध्यक्ष उत्तरकाशी टीजीएमओ यातायात,संजय शर्मा अध्यक्ष योग नगरी ऑटो विक्रम राजेंद्र लांबा अध्यक्ष देवभूमि ऑटो विक्रम भंडारी एवं जसपाल सिंह उपस्थित थे।

ऋषिकेश: उत्तराखंड विक्रम टैंम्पो महासंघ, आर.टी.ए. के विक्रम टैम्पो के विषय में लिए गये निर्णय का करेगा, पुरजोर विरोध



ऋषिकेश,0 2 नवंबर। उत्तराखंड विक्रम टैंम्पो महासंघ की बैठक में आर.टी.ए द्वारा विक्रम टैम्पो के विषय में लिए गये निर्णय का पुरजोर विरोध किया गया ।

बुधवार को आयोजित बैठक को सम्बोधित करते हुए महासंघ अध्यक्ष मंहत विनय सारस्वत ने कहा की कल आर.टी.ए. की बैठक में सभी विक्रम, आटो रिक्शा संस्थाओ द्वारा सर्वप्रथम हरिद्वार ऋषिकेश के बीच सिर्फ एक सी.एन.जी पैट्रोल पम्प होने के कारण भविष्य मे होने वाली कठिनाई बताते हुए लगभग 15 पेट्रोल पम्प सी.एन.जी व्यवस्था करवाने के साथ विक्रम, आटो रिक्शा वाहनो का विकल्प ना होने के साथ ही सरकार की प्रदुषण सम्बन्धित समस्या का समर्थन करते हुए विक्रम,आटो रिक्शा को चरणबद्ध तरीके से 15 वर्ष आयु सीमा के बाद परिवर्तित किये जाने की मांग की थी जिस पर सहमति भी बन गयी थी !
परन्तु दुर्भाग्य से सहमति के विपरीत इस निर्णय को सर्वसमति से बिना मुकदमा सुने फांसी दिए जाने जैसा बताया !
सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास कर इस निर्णय का कड़ा विरोध किये जाने का फैसला किया गया !
महासंघ अध्यक्ष मंहत विनय सारस्वत ने बताया की शीघ्र ही उत्तराखंड विक्रम टैम्पो महासंघ की विस्तृत बैठक बुला कर इस निर्णय के विरूध सड़क से लेकर शासन का विरोध किया जायेगा ।

बैठक मे रामझूला विक्रम युनियन अध्यक्ष सुनील कुमार,महामंत्री पंकज वर्मा,ऋषिकेश विक्रम युनियन उपाध्यक्ष वीरेंद्र सिंह सजवाण.कोषाध्यक्ष हरिमोहन टीटु,लक्ष्मण झूला विक्रम युनियन अध्यक्ष त्रिलोक भंण्डारी,सचिव अरूप कुमार,डोईवाला विक्रम यूनियन अध्यक्ष प्रातप यादव,जे.एस.युनियन अध्यक्ष सचिन अग्रवाल,त्रिवेणी घाट आटो युनियन अध्यक्ष सोहन गौनियाल,देवभूमि आटो युनियन अध्यक्ष राजेन्द्र लाम्बा,सचिव बैचन गुप्ता,मंशादेवी विक्रम युनियन हरिद्वार अध्यक्ष सुरेश कुमार राणा,ललतारा पुल विक्रम युनियन हरिद्वार अध्यक्ष सोमनाथ शर्मा,अपर रोड पोस्ट आफिस विक्रम युनियन हरिद्वार अध्यक्ष नरेश शर्मा,बी एच ई एल विक्रम युनियन अध्यक्ष राजेश बिष्ट,शांतिकुंज हरिद्वार अध्यक्ष हरीओम आदी उपस्थित थे ।

राज्य कर विभाग की टीम ने इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान पर की छापेमारी, दुकानदारों में मचा हड़कंप



ऋषिकेश, 19 अक्टूबर ।  कर चोरी की शिकायत पर राज्य कर विभाग की टीम ने ऋषिकेश देहरादून मार्ग पर एक इलेक्ट्रॉनिक की दुकान पर छापेमारी की जिसके बाद अन्य दुकानदारों में भी हड़कंप मच गया है

बुधवार कि सुबह ऋषिकेश देहरादून रोड पर स्थित एक इलेक्ट्रॉनिक की दुकान पर राज्य कर विभाग की टीम के एक इलेक्ट्रॉनिक की दुकान पर अचानक की गई छापेमारी की कार्रवाई से अन्य दुकानदारों में हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है कि यह कार्रवाई टैक्स चोरी की आशंका में की गई है।

जिसकी शिकायत पिछले कई दिनों से की जा रही थी जिसे लेकर 1 सप्ताह पूर्व कार्यवाही की जानी थी परंतु उसे अचानक टाल दिया गया था। राज्य कर विभाग के डिप्टी कमिश्नर विनय पांडे ने बताया कि फिलहाल प्रतिष्ठान से कुछ कागजात जब्त किए गए हैं। जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। कर विभाग की छापेमारी से शहर में हड़कंप की स्थिति रही।