बिजली के बकाये को लेकर विजिलेंस की टीम के साथ हुई धक्का-मुक्की के बीच बकायेदार की हुई मौत नागरिकों ने बिजली दफ्तर और कोतवाली का घेराव कर मृतक के परिजनों को मुआवजा दिए जाने की लगाई गुहार



ऋषिकेश,0 1 दिसम्बर । बिजली के‌ बिल का भुगतान न किए जाने पर बकायेदार के घर पहुंची, विद्युत विभाग की विजिलेंस टीम की जांच के दौरान धक्का-मुक्की के बीच गृहस्वामी की मौत हो जाने के बाद स्थानीय नागरिकों ने गुरुवार को कोतवाली के साथ बिजली दफ्तर का घेराव कर टीम में शामिल सभी लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग किए जाने के साथ मृतक के परिजनों को मुआवजा दिए जाने की गुहार लगाई है।

बताया जा रहा है, कि बुधवार को नई जाटव बस्ती ऋषिकेश निवासी सोनू पुत्र श्याम सिंह ने पिछले काफी समय से बिजली का बिल जमा नहीं किया था। जिस पर निगम की ओर से सोनू को नोटिस जारी किए जा रहे थे। इसी को लेकर विजिलेंस की टीम सोनू के घर पहुंचे थे ।जहां उसकी पुत्री निहारिका भी मौजूद थीं। आरोप है कि टीम में शामिल अधिकारियों ने सोनू के साथ धक्का-मुक्की और गाली गलौज की ।धक्का लगने से सोनू बेहोश हो गया। जिसे स्थानीय नागरिक उसे लेकर राजकीय चिकित्सालय पहुंचे थे। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया

सोनू की मौत की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में आसपास के लोग चिकित्सालय पहुंचे और उसके बाद को कोतवाली गए थे जिन का आरोप है कि विजिलेंस की टीम ने सोनू के साथ जोर जबरदस्ती की ,जिससे उसे धक्का लगा और उसकी मौत हो गई।

टीम के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग को लेकर कोतवाली के वरिष्ठ उपनिरीक्षक डी पी काला‌ ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है ।मौत के कारणों को जानने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। सोनू शहर में मूंगफली की ठेली लगाकर परिवार का भरण पोषण करता था ।उसकी पत्नी सीमा घर में काम करती है ।जिसके दो पुत्र और एक पुत्री है

पुलिस के लिए चुनौती बना ब्लाइंड मर्डर का हुआ खुलासा मुनीकीरेती खारास्रोत ‌क्षेत्र में शराब के ठेके के निकट 9 दिन पूर्व हुई थी जंगल में हत्या  पुलिस ने हत्या आरोपी दो युवकों को किया गिरफ्तार, एक हत्यारोपी लड़ चुका है प्रधान पद का चुनाव  खुलासा करने वाली टीम को पुलिस कप्तान 5000 रुपए के इनाम से किया पुरस्कृत



ऋषिकेश 29 नवम्बर ‌‌। थाना मुनिकीरेती क्षेत्र अंतर्गत खारा स्रोत स्थित ‌शराब के ठेके से कुछ दूरी पर विगत 19 नवम्बर को शराब पीकर 3 लोगों के बीच हुई गाली गलौज के बाद पत्थर से सिर कुचलकर अपने ही साथी की कि गई हत्या का पुलिस ने घटना के 9 दिन बाद खुलासा कर दिया है।

यह खुलासा मंगलवार की दोपहर टिहरी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नवनीत सिंह भुल्लर, पुलिस अधिकारी रविंद्र कुमार चमोली और थाना प्रभारी रितेश शाह ने संयुक्त रूप से करते हुए बताया कि विगत 23 नवंबर को खारा स्रोत में ड्यूटी पर तैनात होमगार्ड सतपाल ने सूचना दी कि शराब के ठेके से सौ मीटर अंदर जंगल में एक व्यक्ति का क्षतिग्रस्त शव‌ पड़ा है, जिसकी सूचना पर पहुंची, पुलिस की टीम ने जंगल से एक व्यक्ति का शव बरामद किया ,पुलिस ने वहां ‌‌‌‌से दो शराब की बोतल और पका हुआ मीट भी‌ बरामद किया। जिसके बाद की गई जांच में घटना के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से घटना के आसपास की एक्टिविटी के बारे में जानकारी जुटाई गई ,जिसमें पता चला कि मृतक हर समय महाकाल लिखी टोपी लगाकर रखता है। जिसके पास से मोबाइल नंबर ही मिला था ।

जिसके माध्यम से कॉल डिटेल खंगाली गई, जांच को आगे बढ़ाते हुए पता चला कि 25 नवंबर को बड़े भाई प्रेमपाल सिंह पुत्र शूरवीर सिंह निवासी 14 बीघा कैलाश गेट ने पहचान उसकी टोपी देखकर की गई। जिसमें बताया कि मृतक का नाम विजय सिंह नेगी उम्र 50 वर्ष है ।जो कि उसका छोटा भाई है और वह शादी विवाह में तंदूर लगाने का काम करता था, जिस कारण वह कई दिनों तक घर नहीं आता था और वह शराब पीने का भी आदी था। मृतक के परिजनों ने बताया कि विजय अपने साथ मोबाइल नहीं रखता था जो उसे शादी ब्याह में आर्डर मिलते थे वह उसकी मां के मोबाइल पर ही आते थे, जिसके कारण पुलिस के सामने यह ब्लाइंड मर्डर एक चुनौती बना हुआ था । उन्होंने बताया कि विजय 19 नवंबर को घर से शादी में कार्य करने के लिए गया था और वह वापस नहीं आया उन्होंने सोचा कि वह कहीं काम कर रहा होगा, 28 नवंबर को मृतक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद उसकी मृत्यु का कारण उसके सिर पर चोट से होना बताया गया।

जिसके बाद मृतक के भाई ने थाने पर एक रिपोर्ट अपने भाई की मृत्यु होने के संबंध में दी, जिसके आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने बताया कि विजय की हत्या करने वालों में भूपेंद्र सिंह पुत्र जयपाल सिंह निवासी चमेली पोस्ट बहराइ पट्टी दोगी थाना मुनिकीरेती, जोकि वहां ग्राम प्रधान का चुनाव भी लड़ चुका है। और वह 28 वोट से हार गया था के साथ विकास पुत्र ध्रुव सिंह निवासी गैण्ड खाल ब्लॉक यम्केश्वर पौड़ी गढ़वाल को हर्बल गार्डन भद्रकाली के पास से गिरफ्तार किया गया ।

घटना का खुलासा करते हुए  बताया गया कि उन तीनों ने पहले शराब पी थी, जिन्होंने खाना स्रोत स्थित शराब के ठेके से 2 बोतल शराब लेने केेे बाद मीट भी ठेके के पास जंगल में ही बनाया था ,जब वह शराब पी रहे थे उस दौरान विजय ने बिना बाा बात के ही उन्हें मां बहन की गंदी गाली दी, जिसे हमने मना भी किया परंतु वह नहीं माना जिसके बाद हम गुस्से में आ गए और विजय नेगी के सिर पर पत्थर मारकर उसकी हत्या कर दी और पत्थर को वहीं पर झाड़ि‌यों में फें‌‌क दिया पहचान छिपाने की दृष्टि से उसके मुंह को भी कुचल दिया था। जिसके बाद वह फरार हो गए थे ।घटनास्थल से पुलिस ने वह पत्थर भी बरामद कर लिया है जिसका खुलासा किए जाने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने हत्याकांड का खुलासा करने वाली टीम को ₹5000 का इनाम देने की घोषणा भी की है।

हिंदू जागरण मंच के उत्तराखंड की आंतरिक सुरक्षा को लेकर जताई गई चिंता हुई सत्य साबित जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर रशियन नागरिक को सेटेलाइट फ़ोन के साथ गिरफ्तार होने पर उत्तराखंड से लेकर दिल्ली तक सुरक्षा में लगाई गई सेंधमारी को लेकर मचा हड़कंप  पकड़ा गया विदेशी नागरिक रशिया में रह चुका है मंत्री



ऋषिकेश, 29 नवम्बर। हिंदू जागरण मंच द्वारा रविवार को देश और उत्तराखंड के सीमावर्ती क्षेत्रों की आर्थिक सुरक्षा को लेकर जताई गई चिंता उस समय सही साबित हुई, जब रशिया के कानून के जानकार पूर्व कृषि एवं खाद्य मंत्री रह चुके विदेशी नागरिक को उत्तराखंड की राजधानी के देहरादून एयरपोर्ट से दिल्ली जाते हुए सीआइएसएफ की महिला सुरक्षाकर्मी ने सोमवार को प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन के साथ गिरफ्तार कर लिया । जिसके बाद उत्तराखंड से लेकर दिल्ली तक विदेशी नागरिक द्वारा सुरक्षा में लगाई गई सेंधमारी को लेकर हड़कंप मचा है।

पकड़ा गया विदेशी नागरिक कोई आम नागरिकों में नहीं आता जो कि रशिया सरकार में पूर्व में कृषि व खाद्य मंत्री भी रहने के चलते कानून का जानकार भी है । हालांकि पुलिस की गिरफ्तारी के बाद विदेशी नागरिक को न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया, जहां उसे एक हजार रुपये का जुर्माना लगाकर बरी कर दिया गया। जबकि न्यायालय ने सेटेलाइट फोन को जब्त कर दिया है। जिस विदेशी नागरिक को सीआईएसफ की महिला सुरक्षा कर्मी ने सोमवार की दोपहर जौलीग्रांट स्थित देहरादून एयरपोर्ट पर चेकिंग के दौरान भारत में प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन के साथ गिरफ्तार किया। वह उत्तराखंड के सीमांत जिले चमोली के निकट चोपता से घूम कर देहरादून से दिल्ली जा रहा था।

लेकिन सवाल उठता है कि पकड़ा गया नागरिक दिल्ली से उत्तराखंड तक प्रतिबंधित सैटेलाइट फोन के साथ कैसे पहुंंच गया। जो कि भारत की सुरक्षा में लगाई गई सेंध का मामला भी है।सीअइएसएफ की महिला निरीक्षक सुनीता सिंह ने विदेशी नागरिक विक्टर सेमेनाेव पुत्र एलेक्सजेंड्रोविच निवासी मकान नं. 5, स्ट्रीट मिच्युरुनेस्की, मास्को रशिया को डोईवाला कोतवाली पुलिस के सुपुर्द कर दिया था । निरीक्षक सुनीता सिंह की तहरीर पर पुलिस ने विदेशी नागरिक विक्टर सेमेनाेव के खिलाफ भारतीय टेलीग्राम एक्ट 1885 व भारतीय बेतार तार यांत्रिकी अधिनियम 1933 के तहत मुकदमा दर्ज कर उसे डोईवाला न्यायालय में पेश किया। पूछताछ में विदेशी नागरिक ने बताया कि वह एक फोटोग्राफर है। वह 22 नवंबर को भारत आया था। दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरने के बाद वह सड़क मार्ग से कार के माध्यम से ऋषिकेश होते हुए चोपता चमोली गढ़वाल घूमने गया था। बताया कि वह शौकिया तौर पर वाइल्डलाइफ व नेचर फोटोग्राफी करता है।

सोमवार को उसे देहरादून हवाई अड्डे से फ्लाइट से दिल्ली जाना था, जहां उसे प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन के साथ गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने विदेशी नागरिक को न्यायिक मजिस्ट्रेट डोईवाला मीनाक्षी दूबे की अदालत में पेश किया, जहां आरोपित ने अपनी गलती को स्वीकार करते हुए माफी मांगी। न्यायालय ने प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन को जब्त करते हुए एक हजार का जुर्माना लगाकर उसे रिहा कर दिया।
प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन के साथ गिरफ्तार किए गए विक्टर सेमेनाेव ने बताया कि वह वर्ष 1998 से 99 तक रूसी संघ में कृषि एवं खाद्य मंत्री रह चुके हैं। वर्तमान में वह कृषि विकास समिति के प्रमुख होने के साथ ही बेलाया डाचा के पर्यावेक्षक बोर्ड के अध्यक्ष भी हैं। बताया कि भारत में इस सेटेलाइट फोन के प्रतिबंधित होने की जानकारी उन्हें नहीं थी। सवाल यह उठता है कि रशिया सरकार में जिम्मेदार पद पर रह चुके है। जिन्हें इस बात की जानकारी ना होना भारत की सुरक्षा एजेंसियों के गले से नीचे नहीं उतर रही है और उन्होंने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए दिल्ली से उत्तराखंड तक जांच भी प्रारंभ कर दी‌ है। इस मामले में स्थानीय अभिसूचना इकाई के एक अधिकारी का कहना था कि विदेशी नागरिक द्वारा रशिया से भारत लाए गए सेटेलाइट फोन को भारत में लाने के बाद इस्तेमाल नहीं किया गया है यदि यह मोबाइल खोला जाता तो भारत की सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो जाती क्योंकि इस की फ्रीक्वेंसी के कारण या पकड़ में आ जाता उन्होंने बताया कि ऐसे सेटेलाइट फोन भारत के सभी सुरक्षा एजेंसियों के साथ उच्च अधिकारियों राष्ट्रपति प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री के साथ आपदा ग्रस्त क्षेत्रों में प्रयोग किए जाते हैं जहां दूर संचार विभाग और आम मोबाइल काम नहीं करते इसलिए भारत में सेटेलाइट फोन आम लोगों के लिए प्रतिबंधित है। वही भारत के सीमांवर्ती क्षेत्रों की आंतरिक सुरक्षा को लेकर ऋषिकेश में रविवार को आयोजित हिंदू जागरण मंच के अभ्यास वर्ग में भी चिंता व्यक्त की गई थी।

पुलिस ने जॉली ग्रांट हवाई अड्डे‌ पर एक विदेशी नागरिक से प्रतिबन्धित सैटालाईट फोन किया बरामद



ऋषिकेश, 28 नवम्बर ‌‌। जौलीग्रांट हवाई अड्डे पर पुलिस ने जांच के दौरान एक विदेशी नागरिक से प्रतिबंधित सेटेलाइट फोन बरामद किए जाने के बाद उसके भी मुकदमा दर्ज कर लिया है। उक्त मामले की रिपोर्ट डोईवाला थाने में दर्ज करा दी गई है।

मिली जानकारी के अनुसार ‌ महिला उपनिरीक्षक सीआईएसफ सुनीता सिंह एयरपोर्ट जौली ग्रांट देहरादून चौकी जौलीग्रान्ट, ने थाना डोईवाला पर दी गई तहरीर में कहा कि रविवार को एयरपोर्ट जौलीग्रान्ट मे चैंकिग में विदेशी नागरिक‌ विक्टर सेमीनोव पुत्र एलेक्सानडरोवीच निवासी ‌मकान नंबर एन5 स्ट्रीट मास्को रसिया से प्रतिबन्धित सैटालाइट फोन अवैध रूप से अपने साथ रखने पर सीआईएसफ के द्वारा सैटालाइट फोन बरामद किया गया है।

जिस पर चौकी प्रभारी जौलीग्रान्ट द्वारा बरामद प्रतिबन्धित सैटालाईट फोन व उक्त विदेशी नागरिक को नियमानुसार हिरासत मे लेकर वादिनी सुनीता सिंह की तहरीर के आधार पर भारतीय टेलीग्राम एक्ट भारतीय बेतार तार यांत्रिकी अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत किया गया तथा पंजीकृत अभियोग की विवेचना चौकी प्रभारी जौलीग्रान्ट उ0नि0 उत्तम रमोला के सपुर्द की गयी।

पुलिस ने ‌ठगों के विरुद्ध अकाउंट से 1लाख 4हजार 612 ठगी करने पर किया मुकदमा दर्ज



ऋषिकेश 27 नवम्बर । रायवाला थाना क्षेत्र अंतर्गत ठगों द्वारा ऑनलाइन अकाउंट से 1 लाख 4 हजार ₹612 ठग ले जाने के बाद पुलिस ने अज्ञात ठगों के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया है।

रायवाला थाना प्रभारी निरीक्षक हरीश पुजारी ने बताया कि रविवार को सूबेदार विजेंद्र कुमार निवासी मिलिट्री स्टेशन रायवाला द्वारा दी गई तहरीर में कहा गया किएक शनिवार की शाम उनके मोबाइल नंबर पर जिओ कंपनी की तरफ से सीम नं0 को वेरीफाई करवाने के लिए एक मैसेज आया ।

आवेदक ने उस नंबर पर कॉल की , तो उन्हें ₹10 का रिचार्ज करने के लिए बताया गया आवेदक ने रिचार्ज के लिए अपना एटीएम नंबर डाला तो उनके अकाउंट से 1लाख 4हजार 612/=रुपए निकाल लिये गये है। पुलिस ने उक्त मामले में मुकदमा पंजीकृत कर जांच प्रारंभ कर दी है।

नाबालिक को बहला-फुसलाकर अपहरण कर उत्पीड़न करने के आरोप में वांछित फरार आरोपी गिरफ्तार, नाबालिक को पूर्व में ही बरामद कर एक अन्य आरोपी को किया गया था गिरफ्तार



ऋषिकेश 24 नवंबर। नाबालिक लड़की को बहला-फुसलाकर अपहरण कर उत्पीड़न करने के आरोप में फरार चल रहे आरोपी को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है इससे पूर्व घटना में शामिल एक अन्य आरोपी को भी पुलिस द्वारा पूर्व में गिरफ्तार कर लिया गया था और नाबालिग लड़की को भी बरामद कर लिया गया था

ऋषिकेश थाना प्रभारी रवि  सैनी ने बताया कि बीती 31 अक्टूबर  को कोतवाली ऋषिकेश में एक व्यक्ति द्वारा एक लिखित तहरीर दी गई मेरी पुत्री उम्र 17 वर्ष दिनांक 27 अक्टूबर शाम 5:30 बजे लगभग घर से बाजार सामान खरीदने गई थी परंतु वह देर रात तक घर नहीं लौटी उसका फोन नंबर भी स्विच ऑफ आ रहा था जिसे हमने सभी रिश्तेदारों के यहां ढूंढने का प्रयास किया परंतु नहीं मिली जानकारी करने पर मेरी पुत्री को गणेश सिंह पुत्र बलवीर सिंह उम्र 23 वर्ष निवासी ग्राम बागी थाना लंबगांव टेहरी गढ़वाल के द्वारा बहला-फुसलाकर अपने साथ ले जाना ज्ञात हुआ है।

प्राप्त लिखित तहरीर के आधार पर संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया, जिसके आधार पर पुलिस द्वारा नाबालिग की सकुशल बरामदगी एवं अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु टीम का गठन किया गया। गठित टीम के द्वारा नाबालिक के परिजनों से तथा अभियुक्त के संबंध में समस्त जानकारी प्राप्त कर सीसीटीवी फुटेज, सर्विलांस एवं मुखबिर तंत्र की सहायता से जानकारी प्राप्त की गई तो ज्ञात हुआ कि नाबालिक उपरोक्त को नामजद अभियुक्त गणेश अपने सहयोगी राजेश के साथ बहला-फुसलाकर अपहरण कर ले गया है। नाबालिक की सकुशल बरामदगी एवं दोनों अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु गठित टीम के द्वारा लगातार संभावित स्थानों पर दबिश दी गई। महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त कर गठित टीम के द्वारा नाबालिग को हरिद्वार से बरामद कर दोनों फरार अभियुक्तों की तलाश में गठित टीम राजस्थान जयपुर पहुंची जहां से दिनांक 22 नवंबर 2022 को एक अभियुक्त राजेश सिंह पुत्र गोविंद सिंह निवासी ग्राम बागी तहसील प्रताप नगर थाना लंबू गांव टिहरी गढ़वाल को जयपुर राजस्थान से गिरफ्तार किया गया। दौरान विवेचना नाबालिक से पूछताछ के आधार पर दोनों अभियुक्तों के द्वारा नाबालिक के साथ बहला-फुसलाकर अपहरण कर उत्पीड़न करना प्रकाश में आया । जिसके पश्चात अभियोग उपरोक्त में धारा 11/12 पोक्सो अधिनियम की बढ़ोतरी की गई। गिरफ्तार अभियुक्त से जानकारी कर, सर्विलांस तथा मुखबिर तंत्र की सहायता से अन्य जानकारियां प्राप्त करते हुए आज   पुलिस द्वारा अन्य अभियुक्त गणेश को मुखबिर की सूचना पर ऋषिकेश से गिरफ्तार किया गया है।

ऋषिकेश में आयकर विभाग के छापे, प्रॉपर्टी डीलरों, फाइनेंसर, ओर व्यापारियों में मची हड़कंप



 

ऋषिकेश 24 नवंबर। ऋषिकेश देहरादून सहारनपुर में इनकम टैक्स विभाग द्वारा लगातार छापेमारी की कार्रवाई की जा रही है। यह कार्यवाही एडिशनल डायरेक्टर ठाकुर मपवाल व डिप्टी डायरेक्टर रितेश भट्ट के नेतृत्व में की जा रही है।

गुरुवार की सुबह आयकर विभाग द्वारा ऋषिकेश नगर के प्रतिष्ठित प्रॉपर्टी डीलर फाइनेंसर और होटल व्यवसायियों के यहां एक सा‌थ 6 व्यवसायिक प्रतिष्ठानों पर मारे गए छापों के बाद नगर में हड़कंप मच गया है। गुरुवार की सुबह अचानक हरिद्वार मार्ग एमजे प्रॉपर्टी डीलर्स एवं जौहर फाइनेंसर‌ के अतिरिक्त रेलवे मार्ग पर स्थित विलाना होटल में आयकर विभाग की टीम ने छापेमारी की परंतु गुरुवार का अवकाश होने के कारण आयकर विभाग की टीम सुबह से प्रतिष्ठान खुलने की प्रतीक्षा करती ‌‌‌‌‌रही, लेकिन एमजे प्रॉपर्टी डीलर एवं जौहर फाइनेंसर एवा गढ़वाल होजरी का कार्यालय नहीं खुला, परंतु टीम द्वारा वीलाना होटल खुला होने के कारण वहां पर छापेमारी की कार्रवाई की जा रही है।

इसी कड़ी में देेहरादून के नेशविला रोड में एक के बाद एक आयकर विभाग की कई गाड़ियां पहुंची। कई निवेशकों व उद्योगपतियों के घर छापा पड़ा है। इनमें से अभी एमजे रेजिडेंसी के मालिक के घर पर छापा पड़ने की खबर सामने आई है।

विभागीय अधिकारियों ने छापे को लेकर कोई भी जानकारी देने से मना कर दिया है। गुरुवार की सुबह से शुरू हुई इनकम टैक्स रेड के बाद प्रॉपर्टी डीलर व व्यापारियों और उद्योगपतियों के बीच खलबली मच गई है।
प्राप्त सूत्रों के अनुसार 11 जगहों पर देहरादून, 6जगह पर ऋषिकेश, 13 पर सहारनपुर, 8 जगह पर दिल्ली में छापे मारी की कार्रवाई चल रही है। जिसमें प्रमुख रूप से प्रसिद्ध व्यापारी मंजीत जौहर, राज लुंबा, मेहता बर्दस, भाटिया, नवीन कुमार मित्तल, नितिन गुप्ता, आदि व्यापारियों के घरों और प्रतिष्ठानों पर छापेमारी की कार्रवाई की जा रही है।

दहेज मांगने के आरोपी पति को पुलिस ने किया गिरफ्तार, पत्नी ने दहेज उत्पीड़न के चलते संदिग्ध परिस्थितियों में कर ली थी आत्महत्या



ऋषिकेश 20 नवम्बर । बीती 28 अक्टूबर को दहेज उत्पीड़न के चलते एक विवाहिता के संदिग्ध परिस्थितियों में आत्महत्या किए जाने के बाद पुलिस ने आरोपी को हरियाणा के पलवल से गिरफ्तार कर लिया है।

कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रवि कुमार सैनी ने बताया कि बीती 28 अक्टूबर को सदा नंद मार्ग पर स्थित किराए के मकान में रहने वाली विवाहिता अर्चना ने संदिग्ध परिस्थितियों में आत्महत्या कर ली थी। जिसके बाद उसके पिता उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद टूंडला के न्यू रेलवे कॉलोनी निवासी रामप्रकाश गौतम द्वारा दी गई तहरीर में कहा था कि वर्ष 2017 में उनकी बेटी अर्चना का विवाह उत्तर प्रदेश के आगरा के कमला नगर सुभाष नगर निवासी सचिन से हुआ था ।जो कि एक कंपनी में कार्य करता था।

और उसका तबादला होने के बाद वह ऋषिकेश आ गया था, परंतु सचिन विवाह के बाद से ही उनकी बेटी अर्चना को दहेज के लिए प्रताड़ित करता था । जिससे प्रताड़ित होकर उनकी बेटी द्वारा आत्महत्या की गई है ।पुलिस के अनुसार सचिन तभी से फरार चल रहा था, जिसे पुलिस ने हरियाणा के पलवल से शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है।

ऋषिकेश: नाबालिक लडकी को बहला-फुसलाकर अपहरण ओर उत्पीड़न के आरोप में तनवीर हुआ गिरफ्तार,  01 विधि विवादित किशोर भी पुलिस संरक्षण में, नाबालिक लड़की हुई सकुशल बरामद



ऋषिकेश 18 नवंबर। नाबालिग लड़की को बहला-फुसलाकर अपरहण और उत्पीड़न करने के आरोप में पुलिस द्वारा एक अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया है और 01 विधि विवादित किशोर को पुलिस संरक्षण में रखा गया है। ओर अपहरण की गई नाबालिक लड़की को भी पुलिस द्वारा बरामद कर लिया गया है।

कोतवाली ऋषिकेश प्रभारी रवि कुमार सैनी ने बताया कि  16 नवंबर को कोतवाली ऋषिकेश में वादी के द्वारा एक लिखित तहरीर दी गई कि दिनांक 16 नवंबर  को उसकी पुत्री उम्र 16 वर्ष अपने घर से स्कूल ड्रेस में अपने घर से स्कूल के लिए गई थी जो स्कूल नहीं पहुंची जिसके बारे में हमने अपने सभी रिश्तेदारों व उसकी सहेलियों से पता किया हर जगह तलाश किया लेकिन कुछ पता नहीं चला है। प्राप्त लिखित तहरीर के आधार पर संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

पुलिस द्वारा गठित टीम के द्वारा नाबालिक की सकुशल बरामदगी हेतु मुखबिर तंत्र के माध्यम से नाबालिक की तलाश शुरू की गई।
महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त कर ज्ञात हुआ कि नाबालिक उपरोक्त को तनवीर पुत्र इरफान निवासी गांव मेहंदीपुर थाना लक्सर हरिद्वार एवं एक अन्य नाबालिक बहला-फुसलाकर साथ ले गए है। 17 नवंबर को मुखबिर द्वारा दी गई सूचना पर नेपाली फार्म फ्लाईओवर के पास से  तनवीर पुत्र इरफान निवासी ग्राम नंदपुर थाना लक्सर जनपद हरिद्वार उम्र 21 वर्ष को गिरफ्तार किया गया एवं एक विधि विवादित किशोर को पुलिस संरक्षण में लिया गया।

नाबालिक को सकुशल बरामद कर नाबालिग से पूछताछ के आधार पर अभियुक्त तनवीर एवं विधि विवादित किशोर के द्वारा नाबालिक के साथ बहला-फुसलाकर उत्पीड़न करना प्रकाश में आया है अतः अभियोग उपरोक्त में धारा-120B आईपीसी व 11/12 पोक्सो अधिनियम की बढ़ोतरी की गई है।

विवाहिता ने पति सहित परिवार के छह लोगों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का दर्ज करवाया ‌मामला



ऋषिकेश, 18 नवम्बर ‌‌।लक्ष्मण झूला निवासी एक विवाहिता ने दहेज उत्पीड़न व अन्य धाराओं में अपने पति सहित परिवार के छह लोग के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

लक्ष्मण झूला के थाना प्रभारी निरीक्षक विनोद सिंह गुंसाईं ने बताया कि लक्ष्मण झूला ग्राम जौंक निवासी शीतल ने अपने पति रोहित,ससुर कन्हैयालाल,सास सर्वेश देवी, जेठ सुनील,जेठानी
कुसुम, नंदोई मोहित निवासी हसन पुर, अमरोहा, उत्तर प्रदेश के विरुद्ध दहेज उत्पीड़न व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है।

विवाहिता की ओर से महिला सुरक्षा हेल्पलाइन पुलिस कार्यालय पौड़ी को शिकायत पत्र दिया गया था। जिसमें काउंसलिंग और जांच के बाद मुकदमा दर्ज कराया गया है। मामले की विवेचना महिला उपनिरीक्षक दीक्षा सैनी को सौंपी गई है।