भाजपा ने विधानसभा में पेश महिला आरक्षण विधेयक, धार्मिक स्वतंत्रता कानून को अधिक कड़ा करने वाले संसोधन विधेयक समेत सदन पटल पर रखे सभी विधेयकों का किया स्वागत  भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र भट्ट ने सीएम पुष्कर सिंह धामी का दिया धन्यवाद 



सदन मे पेश विधेयक लोक कल्याणकारी और जनहित के अनुरूप: भट्ट

देहरादून 29 नवम्बर। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र भट्ट ने सीएम पुष्कर सिंह धामी का धन्यवाद देते हुए विधानसभा में पेश महिला आरक्षण विधेयक, धार्मिक स्वतंत्रता कानून को अधिक कड़ा करने वाले संसोधन विधेयक समेत सदन पटल पर रखे सभी विधेयकों का स्वागत किया है ।

पार्टी प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र भट्ट ने सीएम पुष्कर सिंह धामी का धन्यवाद करते हुए कहा कि मातृ शक्ति को 30 फीसदी क्षैतिज आरक्षण, प्रदेश की आधी आबादी को उसका पूरा हक दिलाने वाला है । साथ ही उम्मीद जतायी कि जबरन धर्मान्तरण पर 10 साल की सजा ऐसे अपराधियों में कानून का खौफ पैदा करने का काम करेगी ।

पार्टी प्रदेश अध्यक्ष ने विधानसभा में पेश भाजपा सरकार द्वारा पेश सभी विधेयकों को लोक कल्याणकारी एवं जन भावनाओं को पूरा करने वाला बताया । उन्होंने बहु प्रत्याशित महिलाओं को नौकरी में 30 % क्षैतिज आरक्षण देने के विधेयक पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि इस कदम के साथ भाजपा ने जनता से किये एक और संकल्प को पूरा करने का काम किया है ।

पहले सुप्रीम कोर्ट में पैरवी कर आरक्षण के खिलाफ हाईकोर्ट के निर्णय पर स्टे लिया और अब सदन में अध्यादेश लाकर धामी सरकार ने साबित किया है कि मातृशक्ति के सम्मान, स्वभिमान और सशक्तिकरण से बढ़कर हमारे लिए कुछ भी नही है ।

इसी तरह धार्मिक आधार पर प्रदेश में जनसांख्यिक परिवर्तन लाने के षड़यंत्र में लगे लोगों पर लगाम कसने के लिए धार्मिक स्वतंत्रता कानून उल्लंघन्न में 10 वर्ष तक की सजा एवं पीड़ित को 5 लाख तक के मुआवजे का प्रावधान भी हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है । उन्होंने कहा, कूड़ा निस्तारण, पंचायती राज कानून एवं दुकान एवं स्थापन कानून के सजा प्रावधानों को लेकर जनहित में किये बदलाव, जिला योजना समिति में क्षेत्र पंचायत प्रमुख को शामिल करना, स्टाम्प व राज्य अधिकार के अंतर्गत जीएसटी कानून आदि सभी विधेयकों को राज्यवासियों को राहत देने के उद्देश्य से लाये गए है।

नाइजीरिया में फंसे प्रदेश के लोगों की सुरक्षित वापसी को लेकर मुख्यमंत्री धामी के अनुरोध पत्र पर विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने दिया भरोसा



ऋषिकेश 28 नवंबर। नाइजीरिया में फंसे उत्तराखंड प्रदेश के 2 लोगों सहित और भारतीयों की वापसी के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर को लिखे गए  अनुरोध पत्र को स्वीकारते हुए विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को पत्र लिखकर अवगत कराया है कि नाइजीरिया में फंसे प्रदेश के दो लोगों सहित सभी भारतीयों को हर सम्भव सहायता दी जाएगी।

इसके लिए भारत सरकार अबुजा स्थित हाई कमीशन नाइजीरिया सरकार के संबंधित अधिकारियों के सम्पर्क में है। विदेश मंत्री ने कहा कि भारतीय नागरिकों की सुरक्षा और कल्याण को सुनिश्चित किया जाएगा।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री धामी ने नाइजीरिया में फंसे लोगों की सुरक्षित वापसी में सहायता के लिए विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर को पत्र लिखकर अनुरोध किया था।

उत्तराखंड विधानसभा बैक डोर भर्ती मामले में हाईकोर्ट ने फिर से दिया झटका, 228 कर्मियों की बर्खास्तगी के आदेश को माना सही



ऋषिकेश /देहरादून 24 नवंबर। उत्तराखंड हाईकोर्ट ने  विधानसभा बैक डोर भर्ती मामले में हाईकोर्ट की सिंगल बेंच के आदेश को डबल बेंच खंडपीठ  ने रोक लगा दी है

उत्तराखंड विधानसभा बैक डोर कर्मचारियों को झटका देते हुए सिंगल बेंच के फैसले को खंडपीठ ने रोक लगाई है। जिसमें डबल बेंच की खंडपीठ में विधानसभा अध्यक्ष के आदेश को सही मानते हुए यह फैसला लिया है।

जिसमें उन्होंने उत्तराखंड विधानसभा सचिवालय के 228 कर्मियों की बर्खास्तगी के आदेश को सही मानते हुए यह फैसला दिया है।

सरकार से उम्मीद नहीं लेकिन अंकिता भंडारी को न्याय दिलाकर रहेंगे: स्वामी शिवानंद स्वामी शिवानंद ने दिया युवा न्याय संघर्ष समिति के अनशन को समर्थन



ऋषिकेश,22नवम्बर । मातृ सदन के स्वामी शिवानंद महराज ने कहा कि उन्हें सरकार से कोई उम्मीद नहीं है लेकिन वें अंकिता भंडारी को न्याय दिला कर रहेंगे। इसके लिए वें हर संघर्ष के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि मेरा न्याय संघर्ष समिति के मंच पर आने का एक मुख्य कारण यह है कि सरकार समझ जाए कि यहाँ इस लड़ाई में युवा न्याय संघर्ष समिति के लोग अकेले नहीं है हम उनके साथ हैं ।

गौरतलब है कि मातृ सदन के स्वामी शिवानंद ने मंगलवार को अपने शिष्यों ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद एवं ब्रह्मचारी सुधानंद के साथ कोयल घाटी, ऋषिकेश पहुंचकर युवा एवं संघर्ष समिति के आंदोलन को अपना समर्थन दिया। स्वामी जी ने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा वीआईपी व अन्य दोषियों को लगातार बचाने का काम कर रही है और यह सिर्फ़ इसी रिसोर्ट की बात नहीं प्रदेश में ना जाने कितने ऐसे और कितने रिसोर्ट होंगे और अगर इनकी पोल खुली तो कहीं सरकार के लोगों के नाम ना सामने आ जायें इसीलिये ये सरकार इस मामले में दोषियों को बचाने पर लगी है ।इस प्रदेश तो ना जाने कितने कुकृत्य इस सरकार की निगरानी में हो रहे हैं लेकिन सरकार आंख बंद कर इन सब को देख रही है मैं अंकिता के माता-पिता को सहानुभूति देकर यह कहना चाहता हूं कि आप बेफिक्र रहें हम बेटी अंकिता को इंसाफ जरुर दिलाएंगे।

गौरतलब है कि युवा न्याय संघर्ष समिति का धरना का 41वें दिन व आमरण अनशन सातवें दिन जारी रहा और आंदोलन को समर्थन देने पहुंचे अंकिता के माता पिता व मातृ सदन के स्वामी शिवानन्द जी महाराज ने धरना स्थल पर पहुँच कर समर्थन दिया । आमरण अनशन पर बैठी सातवें दिन सरोजनी थपलियाल व क्रमिक अनशन पर प्रमिला रावत, तरुणा जगुडी बैठी ।
समिति को समर्थन देने पहुंचे अंकिता के पिता ने कहा कि हम युवा न्याय संघर्ष समिति के धरने को पूर्ण समर्थन देते हुए कहा कि मैं सरकार से अपनी बेटी को इंसाफ दिलाने की मांग करता हूँ साथ ही सरकार से वीआईपी का नाम उजागर करने की मांग व तीनों दोषियों का नारको टेस्ट करवाने व सीबीआई जांच की मांग करते हैं ताकि जो आज हमारी बेटी के साथ हुआ है आगे किसी और बेटी के साथ ना हो, अंकिता के पिता ने युवा संघर्ष समिति के संयोजक मंडल व सदस्यों सहित उत्तराखण्ड आंदोलन कारियों का बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूं कि आपने उत्तराखण्ड की बेटी को न्याय दिलाने के लिये की आवाज़ उठाई और मैं आपको आश्वासन देता हूं कि कोशिश करूँगा कि इस आंदोलन में कल से या 26 नवम्बर से आप के साथ धरने पर बैठ कर इस सरकार व न्यायालय से इंसाफ की मांग करूंगा।

धरने पर सरोजनी थपलियाल,प्रमिला रावत ,तरुण जेठुली, शीला ध्यानी ,सूरज कुकरेती,सतिशचंद बिजलवान , डिम्पल चौहान, गुसाई,हेमलता रावत, जसोदा उनियाल,राजेंद्र कोठारी,हरी सिंह बिष्ट,विक्रम भंडारी,नवीन देशवाल,बलदेव नेगी,यशवंत सिंह रावत ,जितेंद्र सिंह पाठी,सचिन सैनी,गौरव राणा, विक्की राणा ,वीर सिंह,मधु डोभाल ,सरस्वती देवी,अनिता बर्थवाल ,भगवान सिंह, आयुषी, रघुवीर,देवेंद्र राणा आदि मौजूद रहे। 

सूबे के मुखिया को अपने बीच पाकर युवा हुए बेहद उत्साहित, प्रातः काल भ्रमण के दौरान मुख्यमंत्री धामी ने युवाओं के साथ दौड़ लगाने के साथ खेला बैडमिंटन



ऋषिकेश /अल्मोड़ा 20 नवंबर। सीएम पुष्कर सिंह धामी आज अल्मोड़ा में मार्निग वाॅक के दौरान स्थानीय लोगों विशेष रूप से युवाओं से मिले और उनसे सरकार द्वारा किये जा रहे विकास कार्यों का फीडबैक लिया। प्रातः काल भ्रमण के दौरान सीएम ने स्पोर्ट्स स्टेडियम में युवाओं के साथ दौड़ लगाई और बैडमिंटन भी खेला। इस दौरान युवा साथियों और स्थानीय लोगों से सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों का फीडबैक भी लिया।

सीएम धामी ने युवाओ से कहा कि अच्छा स्वास्थ्य सबसे महत्वपूर्ण है। पढाई के साथ ही फिट रहना भी बहुत जरूरी है। खेल को हमें अपनी आदत में शामिल करना चाहिए। सीएम ने कहा कि हम सभी मिलकर “खेलो इंडिया और फिट इंडिया मूवमेंट” में पूरी तन्मयता के साथ शामिल होकर खेल के क्षेत्र में भी देश के अग्रणी राज्यों में शुमार होने का संकल्प लें।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने आम लोगों से भी मुलाक़ात कर उनका हाल-चाल जाना। सूबे के मुखिया को अपने बीच पाकर युवा बेहद उत्साहित नजर आए।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जब भी जिलों के दौरों पर जाते हैं और रात्रि विश्राम वहीं करते हैं तो सवेरे मार्निग वाॅक पर जरूर जाते हैं। इस दौरान आम लोगो से मिलकर उनका हाल-चाल भी जानते हैं और सरकारी विकास योजनाओं व विकास कार्यों के बारे में फीडबैक भी लेते हैं।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री द्वारा की गई ₹2200 करोड़ की विकास योजनाओं के क्रियान्वयन की करी समीक्षा बैठक,



ऋषिकेश काठगोदाम 19 नवंबर। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज सर्किट हाउस काठगोदाम में हल्द्वानी शहर हेतु प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी द्वारा की गई ₹2200 करोड़ की विकास योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा की।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री  धामी ने कहा कि विकास योजनायें धरातल पर दिखाई दें यह सुनिश्चित करना अधिकारियों की जिम्मेदारी है। जन सेवा ही हमारा लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि शहरी विकास के लिए जनप्रतिनिधियों के सुझावों को भी डीपीआर में शामिल किया जाए।

मुख्यमंत्री ने समेकित शहरी अवसंरचना विकास योजना के तहत एडीबी द्वारा वित्त पोषित नगर के विकास हेतु डीपीआर तैयार कर रही कार्यदायी संस्था उत्तराखण्ड अर्बन सेक्टर विकास एजेंसी के अधिकारियों को निर्देश दिए कि योजनाओं की डी.पी.आर. को जल्द से जल्द अंतिम रूप दिया जाए। उन्होंने कहा कि डीपीआर फाइनल करने से पहले अन्तर विभागीय बैठक करने से आपसी समन्वय बना रहेगा व बाद में किसी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पडे़ेगा। कार्यदायी संस्था सुनिश्चित करें कि निर्माण से पूर्व ही सड़क पर सर्विस डक्ट डाली जाए।

मुख्यमंत्री श्री धामी ने अधिकारियों को तैयारी के साथ आगामी बैठक में प्रतिभाग करने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने अधिकारियों को अपनी कार्यशैली सुधारने के निर्देश दिए एवं जनता के कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता से निस्तारित करने को कहा।

रोजगार देने वाले बनेंगे देश के लोग, वर्ष 2047 तक देश के अधिकांश युवा रोजगार के क्षेत्र में स्टार्टअप का करेंगे काम :  सुबोध उनियाल



देहरादून/ऋषिकेश 19 नवंबर। वर्ष 2047 तक देश के अधिकांश युवा रोजगार के क्षेत्र में स्टार्टअप का काम करेंगे, इससे वह रोजगार देने में सक्षम होंगे। बेंगलुरु में आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला में शिरकत कर उत्तराखंड पहुंचे कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने यह जानकारी दी।
बता दें कि केंद्रीय वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार व उद्योग संवर्धन विभाग द्वारा बेंगलुरु में आयोजित दो दिवसीय स्टार्टअप व उद्यमिता विकास कार्यशाला में उत्तराखंड राज्य का प्रतिनिधित्व कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने किया।

शनिवार को उत्तराखंड पहुंचने पर कैबिनेट मंत्री ने बताया कि युवाओं के स्टार्टअप्स व उद्यमिता विकास हेतु केंद्र सरकार की ओर से फंडिंग अच्छी होनी चाहिए, इससे अधिक युवाओं को साथ जोड़ा जा सकेगा। कहा कि गुजरात के विकास मॉडल की तर्ज पर केंद्र सरकार को कार्य करने चाहिए। भविष्य के लिए तकनीकी विकास, छात्र उद्यमिता, वित्तपोषण की विधा, धारणीय विकास के लिए नवाचार व पारिस्थितिकी संतुलन इसके प्रमुख अवयव होंगे।

प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने भारत सरकार आयुष मंत्रालय राष्ट्रीय औषिधीय की बैठक में चारों धाम में हर्बल गार्डन बनाने के दिए निर्देश 



देहरादून 17 नवम्बर। प्रदेश के वन,तकनीकी शिक्षा, भाषा एवं निर्वाचन कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने आज वन विभाग के मंथन सभागार में आला अधिकारियों के साथ भारत सरकार आयुष मंत्रालय राष्ट्रीय औषिधीय पादप बोर्ड द्वारा संचालित सेंन्ट्रल सेक्टर स्कीम एवं राज्य में इन योजनाओं को लागू व प्रभावी क्रियान्वयन करने हेतु बैठक ली।

 मंत्री ने प्रदेश में हर्बल गार्डन को विकसित करने पर विस्तृत चर्चा करते हुए, वर्तमान समय में संचालित योजनाओे की जानकारी ली, जिस पर माननीय मंत्री ने तेजी से प्रगति लाने के निर्देश दिए। उन्होंने संबंधित आधिकारियों को चारों धाम में हर्बल गार्डन बनाने के निर्देश दिए। कहा कि यहां पर लाखों के संख्या में आने वालें श्रद्धालुओं एवं लोगों को लाभ मिल सकेंगा। साथ ही कहा के पहाड़ी कास्तकारों के दृष्टिगत मानकों को सरलीकरण बनाया जाय। जिससें उन्हे हर्बल गार्डन की कास्त करने में कठिनाई ना हो, ओर अपनी आजीविका संबंर्द्धन कर सकें। जिस हेतु उन्होने संबंधित अधिकारियों के साथ विस्तृत चर्चा करते हुए, कास्तकारों के लिए जडी बूटी/औषधि पादपों की कास्तकारी के लिए अलग से एक वन विभाग की नोडल अधिकारी नामित करने के निर्देश दिये। वही उन्होने जिला स्तर पर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में एक कमेटी की गठन करने के निर्देश दिए। जिसमें वन विभाग के अधिकारी एवं मुख्य कृषि अधिकारी, मुख्य उद्यान अधिकारी सदस्य होगें। मा0 मंत्री ने लंम्बित प्रोजेक्ट को शीघ्र पूर्ण करने के दिशा निर्देश दिये। संबंधित अधिकारियों द्वारा राज्य में पाये जाने वाले एवं कास्त वाले औषधिक पादपों की प्रजेंटेशन के माध्यम से विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई।

जबकि मंत्री ने वन निगम के तीनों मण्डियों का सुदृढिकरण करते हुए प्रोसेसिंग यूनिट लगाने के निर्देश दिये। उन्होने पी.एम.एफ.एस. योजना के तहत वन डिस्ट्रीक्ट वन प्रोजेक्ट के रूप में विकसित करने के निर्देश दिये। कहा कि वन पंचायत को ओर मजबूत बनाये जाए, नियमावली में सुधार लाते हुए सरली करण की जरूरत है। वही संबंधित अधिकारी द्वारा बताया गया कि राज्य के स्थानीय स्तर पर पाये जाने वाले औषधीय पादपों के बारे में कास्तकारों को प्रशिक्षण एवं जागरूक किये जाते है।
बैठक में अपर मुख्य कार्यवाही अधिकारी/प्रतिनिधि राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड, नई दिल्ली के द्वारा प्रस्तुतिकरण के माध्यम से प्रदेश अर्न्तगत राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड, नई दिल्ली द्वारा वित्त पोषित योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति की जानकारी दी गई। राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड, नई दिल्ली की ऑपरेशनल गाईडलाईन के तहत उत्तराखण्ड राज्य में लागू किये जाने वाली योंजनाओं पर चर्चा की गई। वन पंचायत में औषधीय पौंधों के रोपण/संरक्षण/सवंर्द्धन, औषधीय पौधों से उत्पादित कच्चे माल के एकत्रीकरण/विपणन/वैल्यू एडिशन के प्रस्ताव सहित प्रमुख वन संरक्षित वन पंचायत, देहरादून द्वारा प्रस्तुतिकरण् के माध्यम से .नये हर्बल गार्डनों की स्थापना/पुराने हर्बल गार्डनों का विस्तार एवं रख-रखाव सम्बन्धी प्रस्ताव पर जानकारी दी गई। जबकि .वन निगम द्वारा स्थापित हर्बल मण्डियों से प्रदेश में एकत्रित औषधी में प्रयोग कियो जाने वाले कच्चे माल का विपणन, हर्बल मण्डियों के माध्यम से किसी को बढाने पर चर्चा तथा हर्बल मण्डियों के उच्चीकरण का प्रस्ताव प्रबन्ध निदेशक,उत्तराखण्ड वन विकास निगम द्वारा जानकारी दी गई। .औषधी पौधों के संरक्षण/संर्वद्धन एवं प्रदेश में इससे सम्बन्धित जागरूकता सम्बन्धी कार्यक्रम चलाये जाने सम्बन्धी प्रस्ताव पर चर्चा हुई।
इस अवसर पर प्रमुख वन संरक्षक उत्तराखण्ड विनोद कुमार, प्रमुख व0स0 व0प0 उत्तराखण्ड ज्योत्सना स्थिलिंग, उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी चन्द्रशेखर, पीसीसीएफ(एन/एल) सीडब्लूएलडब्लू समीर सिन्हा सहित कई वन विभाग के प्रमुख अधिकारीगण उपस्थित थे।

देवभूमि के साथ वीरभूमि की भी हमारी पहचान है, हमारी सरकार प्रदेशवासियों के जीवन में खुशहाली लाने के लिए प्रतिवद्धता के साथ कार्य कर रही: मुख्यमंत्री, पुष्कर सिंह धामी



ऋषिकेश देहरादून 16 नवंबर। मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को वन विश्राम गृह लच्छीवाला में आदर्श औद्योगिक सहकारी संस्था डोईवाला द्वारा आयोजित ‘हमारे मुख्यमंत्री’ कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।

इस अवसर पर बड़ी संख्या में क्षेत्रीय जनता एवं विभिन्न संगठन एवं संस्थाओं के लोग उपस्थित रहे। मुख्यमंत्री ने सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हम सबको राज्य के विकास में भागीदार बनना होगा। राज्य के विकास किसी एक की नहीं बल्कि हम सबकी सामूहिक यात्रा है। हमारा प्रयास अपने कार्य दायित्वों को ईमानदारी एवं पूर्ण निष्ठा के साथ करके होंगे, तभी हम जन अपेक्षाओं का सम्मान करने में सफल होंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे लोग प्रतिभाशाली, मेहनती एवं लगनशील होते है। इसी का प्रतिफल है कि देश के उच्च पदों पर आसीन है। राज्य के लगभग हर परिवार का कोई न कोई सदस्य सेना एवं अद्धसैन्य बलों के माध्यम से देश की सुरक्षा में अपना योगदान दे रहा है। देवभूमि के साथ वीरभूमि की भी हमारी पहचान है। हमारी सरकार प्रदेशवासियों के जीवन में खुशहाली लाने के लिए प्रतिवद्धता के साथ कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि गरीबों के कल्याण के लिए आदर्श औद्योगिक सहकारी संस्था डोईवाला द्वारा सराहनीय कार्य किया जा रहा है। इसके लिए उन्होंने संस्था की अध्यक्ष  आशा कोठारी के प्रयासों की भी सराहना की। उन्होंने कहा कि संस्था द्वारा गरीबों और समाज के अन्तिम पंक्ति पर खड़े जरूरतमंद लोगों को जो मदद पहुंचाई जा रही है, यह एक पुण्य कर्म है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने सामाजिक एवं रचनात्मक क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले महानुभावों एवं अधिकारियों को सम्मानित किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने डोईवाला क्षेत्र के कारगिल शहीद जवानों के परिवारजनों, बी.एस.एफ एवं एस.एस. बी के जवानों को सम्मानित भी किया। मुख्यमंत्री द्वारा इस अवसर पर राजकीय प्राथमिक विद्यालय लच्छीवाला के विद्यार्थियों को गर्म कपड़ों का वितरण भी किया गया।

इस अवसर पर विधायक डोईवाला  बृजभूषण गैरोला, महामण्डलेश्वर स्वामी हरि चेतनानन्द, विनय कण्डवाल मंडल अध्यक्ष डोईवाला, मंडल अध्यक्ष माजरीग्रांट  राजकुमार, मनोज नौटियाल, नगीना रानी, ओमप्रकाश भट्ट आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन आदर्श संस्था के सचिव हरीश कोठारी द्वारा किया गया।

मुख्यमंत्री ने किया डिवाइन कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग एंड पैरामेडिकल साइंसेज का उद्घाटन, शिक्षा एवं स्वास्थ, के क्षेत्रों में कार्य कर रहे किसी भी संस्थान की हर संभव सहायता करना हमारी सरकार की प्राथमिकता: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी



ऋषिकेश हरिद्वार 15 नवंबर। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को नौआबाद श्यामपुर, हरिद्वार में दिव्य प्रेम सेवा मिशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करते हुए दिव्य प्रेम सेवा मिशन के सेवा प्रकल्पों के अंतर्गत बने डिवाइन कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग एंड पैरामेडिकल साइंसेज के प्रथम चरण का उद्घाटन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री धामी ने भवन निर्माण में अपना अहम योगदान देने वाले लोगों को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित भी किया।

मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी ने अपने संबोधन में कहा कि दिव्य प्रेम सेवा मिशन संस्थान द्वारा किए जा रहे कार्यों के बारें में जितना भी कहा जाए, उतना कम है। उन्होंने कहा मुझे छात्रकाल से ही दिव्य प्रेम सेवा मिशन के अध्यक्ष आशीष जी का दिव्य सानिध्य प्राप्त होता रहा है। समाज को शिक्षा और चिकित्सा जैसे क्षेत्रों में सहयोग प्रदान करने का जो संकल्प आशीष जी ने लिया है, उसी का परिणाम है कि आज हम इस विशिष्ट संस्थान को इस स्वरूप में देख पा रहे हैं। उन्होंने कहा आशीष जी समाज सेवा के कार्यों में समर्पण के कार्य को बड़ा रहे है। चिकित्सा-शिक्षा क्षेत्र में स्वामी विवेकानंद हैल्थ मिशन के तत्वावधान में उत्तराखंड के युवाओं को शिक्षित करने का जो बेड़ा दिव्य प्रेम सेवा मिशन ने आरंभ किया है उसके लिए देवभूमि की समस्त जनता इस मिशन से जुड़े हुए प्रत्येक स्वयंसेवक की आभारी है।

मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड के मुख्य सेवक के रूप में मेरा यह प्रयास रहता है कि हमारी सरकार शिक्षा एवं स्वास्थ, के क्षेत्रों में कार्य कर रहे किसी भी संस्थान की हर संभव सहायता कर सकें। उन्होंने कहा केंद्र सरकार के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में उत्तराखंड सरकार भी शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में कई योजनाओं का संचालन कर रही है। उन्होंने कहा हमारी सरकार का संकल्प है कि 2025 में जब युवा उत्तराखंड अपनी स्थापना का रजत जयंती वर्ष मना रहा होगा, तब तक उत्तराखंड हर क्षेत्र में भारत का सर्वश्रेष्ठ राज्य बने। इस विकल्प रहित संकल्प की सिद्धि के लिए हमारी सरकार निरंतर कार्य कर रही है। मुझे पूर्ण विश्वास है कि देवभूमि की समस्त देवतुल्य जनता हमारे इस संकल्प को पूर्ण करने में हमारी सहायता करेगी।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री  ने केदारनाथ धाम की पावन भूमि से 21वीं सदी का तीसरा दशक उत्तराखंड का बताया था, इस बार चार धाम यात्रा के दौरान 47 लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने यात्रा की, मां गंगा एवं बाबा केदार के आशीर्वाद से यात्रा सुगम एवं सुरक्षित रही। उन्होंने कहा आज प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में रक्षा, शिक्षा, चिकित्सा जैसे हर क्षेत्र में युगांतकारी परिवर्तन हो रहा है, आज भारत विश्व का नेतृत्व करने की दिशा में बढ़ रहा है। मोदी  के नेतृत्व में देश की सांस्कृतिक चेतना के पुर्नरोत्थान का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा हम सभी देवभूमि उत्तराखंड से आदरणीय प्रधानमंत्री  के विशेष लगाव से भलीभांति परिचित हैं। उन्होंने कहा हवाई कनेक्टिविटी, रेल, सड़क हर क्षेत्र में कार्य तीव्र गति से हो रहा है। आज ऋषिकेश एम्स के माध्यम से उत्तराखंड में हम विधार्थियों को न केवल उत्कृष्ट चिकित्सा शिक्षा उपलब्ध करा पा रहे हैं बल्कि लोगों को उत्तम स्वास्थ्य सेवाएं भी प्रदान करने में सक्षम हुए हैं। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री  ने हमारे निवेदन को मानकर कुमाऊं क्षेत्र में एम्स के सेटेलाइट सेंटर को खोलने हेतु अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है। उन्होंने कहा हमारी डबल इंजन की सरकार द्वारा हर क्षेत्र में जो विकास के कार्य किये जा रहे हैं, उसका जमीनी असर भी दिखने लगा है। उन्होंने कहा हमारी सरकार आदरणीय मोदी जी के सपनों का आत्मनिर्भर भारत बनाने हेतु किए जा रहे यज्ञ में अपने हिस्से की आहुति देने हेतु सदा-सर्वदा तत्पर रहेगी।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व एवं मुख्यमंत्री  धामी के कुशल मार्गदर्शन में हमारी सरकार स्वास्थ्य के क्षेत्र में कई बड़े एवं ऐतिहासिक कार्य कर रही है। उन्होंने कहा हमारे प्रदेश में अटल आयुष्मान योजना के अंतर्गत प्रत्येक प्रदेशवासी को मुफ्त में इलाज देने का कार्य किया जा रहा है, जिसके तहत अभी तक राज्य के अंदर 50 लाख से अधिक आयुष्मान कार्ड बन गए हैं एवं 6 लाख से अधिक मरीजों का मुक्त में ईलाज करवाया जा चुका है। उन्होंने कहा गर्भवती महिलाओं के चेकअप एवं बच्चे को जन्म देने के बाद उन्हें घर तक गाड़ी मुफ्त में मुहैया कराई जा रही है। उन्होंने कहा उत्तराखंड राज्य के प्रत्येक जिले में डायलिसिस का इलाज मुफ्त में किए जाने का कार्य प्रारंभ हो चुका है जिसे जल्द ही पूर्ण कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा संपूर्ण देश में सबसे सस्ती मेडिकल शिक्षा हमारे राज्य में है। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री  धामी के नेतृत्व में हमने संकल्प लिया है कि हम उत्तराखंड को जल्द ही टीबी मुफ्त करेंगे एवं एयर- एंबुलेंस का विस्तार भी उत्तराखंड में किया जा रहा है।

आचार्या बाल कृष्ण ने कहा कि दिव्य प्रेम सेवा मिशन का मकसद समाज की सेवा है। उन्होंने कहा सेवा के कार्य हेतु मनुष्य को साधना की आवश्यकता होती है उन्होंने कहा तप और साधना से ही विकास संभव है, सामाजिक कार्य कर आमजन के विकास से ही समाजसेवा संभव है। उन्होंने कहा दिव्य प्रेम सेवा मिशन द्वारा चिकित्सा स्वास्थ्य के क्षेत्र में अद्भुत कार्य किए जा रहे हैं।

इस अवसर पर डॉ. आशीष गौतम ( अध्यक्ष दिव्य प्रेम सेवा मिशन), डॉ. कृष्ण गोपाल ( सह सरकार्यवाह आरएसएस), योग गुरु स्वामी रामदेव, केंद्रीय मंत्री डॉ. महेंद्रनाथ पांडे (भारी उद्योग, भारत सरकार), भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट, पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद्र अग्रवाल,  आके श्रीवास्तव (अध्यक्ष, प्रबंधक निदेशक ओ.एन.जी.सी), पूर्व केंद्रीय मंत्री शिव प्रसाद शुक्ल, विधायक प्रदीप बत्रा, विधायक आदेश चौहान एवं अन्य लोग मौजूद रहे।