प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल के जिला संयुक्त महामंत्री पवन शर्मा ने मोदी सरकार द्वारा पेश किए गए आम बजट को पूरी तरह आम आदमी के लिए बताया समर्पित



ऋषिकेश 2 फरवरी। कल संसद में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश हुए आम बजट को लेकर पूरे देश में तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था और विकास को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म  रहा।

जिसमें सभी व्यापारी वर्ग, ग्रहणी, आम आदमी ,राजनीतिक ,नौकरी पेशा वर्ग के बुद्धिजीवियों द्वारा बजट पर अपना अपना आकलन किया जा रहा है।

उसी कड़ी में उत्तराखंड प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल देहरादून के जिला संयुक्त महामंत्री पवन शर्मा ने भी मोदी सरकार की ओर से पेश किए गए बजट को ऐतिहासिक बजट बताया है जिसमें उन्होंने यह बजट पूरी तरह आम आदमी को समर्पित बताया है उन्होंने कहा कि बजट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीति हमारे देश के किसानों की आय को 2047 में 3 गुना का लक्ष्य रखते हुए मोटे अनाज को बढ़ावा देने का भी जोर दिया है। इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया है।

उन्होंने यह भी बताया कि प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी  के नेतृत्व में भारत सरकार द्वारा यह बजट अमृतकाल में पेश किया गया बजट हमारे भविष्य का रोडमैप है इसमे पिछले बजट को आधार लेकर आगे बढ़ने की कोशिश की गई है। उन्होंने बोला कि आयकर की सीमा 500000 से बढ़ाकर 700000 किए जाने पर आम आदमी को इस प्रावधान के अंतर्गत आयकर से बड़ी राहत मिलेगी।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के द्वारा पेश किए बजट से शेयर बाजार नई ऊंचाइयों को लेकर छलांग लगा रहा है। जो कि इस बात का प्रतीक है कि इस बजट के आने से भारत का आने वाला भविष्य सुरक्षित हाथों में है।  कल संसद में पेश किए गए बजट को लेकर उन्होंने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का भी धन्यवाद और आभार प्रकट किया है।

राज्य के सूचना आयुक्त को उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी मंच ने दिया 9सूत्रीय मांग पत्र आंदोलनकारियों को राज्य निर्माण सेनानी का दर्जा दिए जाने की कि मांग



ऋषि केश ,23 जनवरी ।उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी मंच ने उत्तराखंड के सूचना आयुक्त योगेश भट्ट को 9 सूत्रीय मांग पत्र देकर राज्य निर्माण सैैैैनानियों को एक समान पेंशन पट्टा दिए जाने के साथ आंदोलनकारियों को राज्य निर्माण सेनानी का दर्जा दिए जाने की मांग की।

रविवार की दोपहर स्वर्गीय इंद्रमणि बडोनी हाल नगर निगम परिसर में पहुंचे सूचना आयुक्त योगेश भट्ट को वेद प्रकाश शर्माा, प्रदेश महामंत्री डीएस गुंसाई ,मोहन सिंह रावत , संजय शास्त्री ,गंभीर मेवाड़ के नेतृत्व में दिए गए ज्ञापन में कहा कि राज्य निर्माण सैनानी पिछले काफी समय से अपनी मांगों को लेकर संघर्षरत है, सूचना आयुक्त को दिए गए ज्ञापन में कहा गया कि आंदोलनकारियों की लंबित चिन्हित करण की प्रक्रिया का निस्तारण किया जाए, दस प्रतिशत,छैतिज आरक्षण को लागू किया जाए, समूह ग और घ की भर्तियों में राज्य के सभी लोगों को शत-प्रतिशत प्राथमिकता दी जाए ,राज्य हित में मूल निवासी को पुनर्जीवित कर उसकी कट ऑफ डेट 1950 मानी जाए ,यह व्यवस्था पूर्व में भी राज्य में लागू थी।

ज्ञापन में यह भी कहा गया कि उत्तराखंड में भी हिमाचल की तर्ज पर सशक्त भूकानून बनाया जाए, इसी के साथ किया जाए, ज्ञापन देने के उपरांत सूचना आयुक्त ने आश्वासन दिया कि वह उनकी मांगों के संदर्भ में मुख्यमंत्री से वार्ता कर उनकी समस्याओं का समाधान करवाने का प्रयास करेंगे।

 इस दौरान रोशनी देवी, अंजू गैरोला, सीमा देवी ,सोमवती, उषा गुप्ता, रामा उनियाल, सीमा देवी उषा गुप्ता कमला रौतेला जयंती नेगी , नगर निगम पार्षद राकेश सिंह मियां ,सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।

लाल बीट में कूड़ा डाला गया तो ग्रामीण करेंगे कैबिनेट मंत्री का घेराव नगर निगम पार्षदों ने निगम में किए गए प्रस्ताव पर गलती स्वीकार की



ऋषिकेश,18 जनवरी ।कूड़ा हटाओ विरोधी संघर्ष समिति द्वारा लाल पानी बीट गुमानीवाला में प्रस्तावित कूड़ा घर के विरोध में आयोजित बैठक में वक्ताओं ने 1 सप्ताह के अंदर समस्या का समाधान न किए जाने पर कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल का घेराव किए जाने की चेतावनी दी।

 बुधवार को गुमानीवाला स्थित ग्राम शहीद स्मारक पर आयोजित ग्राम प्रधान गुमानीवाला की अध्यक्ष दीपिका व्यास की अध्यक्षता में आयोजित बैठक के दौरान तमाम वक्ताओं ने लाल पाली बीट में कूड़ा निस्तारण केंद्र बनाए जाने का एक स्वर से विरोध किया। जिसमें वक्ताओं ने कहा कि यदि यहां पर ऋषिकेश हरिद्वार व आसपास के क्षेत्रों का कूड़ा डाला गया तो ग्रामीण एक स्वर से उसका विरोध करेंगे।

ज्ञात रहे कि नगर निगम ऋषिकेश क्षेत्र में गोविंद नगर में डाले जा रहे, कूड़ा निस्तारण केंद्र को राज्य सरकार द्वारा लाल बीट में स्थानांतरित किए जाने की तैयारी कर ली है ।जिसमें बनाए गए कलस्टर के अंतर्गत नरेंद्र नगर, स्वर्ग आश्रम, डोईवाला ,ऋषिकेश का कूड़ा डाला जाना है। जिसे लेकर ग्रामीण प्रारंभ से ही इसका विरोध कर रहे हैं।

जिसे लेकर ग्रामीणों ने चेतावनी दी कि यदि इस समस्या का समाधान 1 सप्ताह के अंदर नहीं हुआ तो ग्रामीण कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद का घेराव करेंगे ।

बैठक में उपस्थित पूर्व जैव वैज्ञानिक विजय भट्ट ने कहा कि जिस स्थान पर कूड़ा डाला जाता है उस क्षेत्र का पर्यावरण प्रदूषित होता ही है साथ ही उसका पीने का पानी भी दूषित हो जाता है जो कि मनुष्य के जीवन के लिए भी खतरनाक बन जाता है ऋषिकेश धार्मिक स्थल में गिना जाता है। यदि यहां भी लगातार कूड़ा डाला जाता रहा तो दिल्ली में बने कूड़े के पहाड़ों की तरह 1 दिन धार्मिक नगरी भी तब्दील हो जाएगी उन्होंने कहा कि घरों से निकलने वाले कूड़े को अलग-अलग करके ही एकत्रित किया जाना चाहिए। गुमानीवाला में धरना दे रहे लोगों के समर्थन में देहरादून शीशम बाड़ा क्षेत्र के लोग भी मौजूद थे,

बैठक में मौजूद नगर निगम पार्षदों ने अपनी गलती को स्वीकार करते हुए कहा कि उनके द्वारा बोर्ड की बैठक में पारित किए गए प्रस्ताव कूड़ा यहां पर डाले जाने का अब उन्हें एहसास हो गया है ,अब इसका पुरजोर विरोध करेंगे।‌

बैठक में विरेंद्र रमोला, नगर निगम पार्षद विपिन पंत,विजेंद्र मोगा, सत्य प्रसाद , प्रेम सिंह रावत, कुंदन सिंह नेगी सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।

 

लाल पानी बीट में कूड़ा डाला गया तो ग्रामीण करेंगे कैबिनेट मंत्री का घेराव नगर निगम के पार्षदों ने निगम में किए गए प्रस्ताव पर गलती स्वीकार की



ऋषिकेश,18 जनवरी ।कूड़ा हटाओ विरोधी संघर्ष समिति द्वारा लाल पानी बीट गुमानीवाला में प्रस्तावित कूड़ा घर के विरोध में आयोजित बैठक में वक्ताओं ने 1 सप्ताह के अंदर समस्या का समाधान न किए जाने पर कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल का घेराव किए जाने की चेतावनी दी।

 बुधवार को गुमानीवाला स्थित ग्राम शहीद स्मारक पर आयोजित ग्राम प्रधान गुमानीवाला की अध्यक्ष दीपिका व्यास की अध्यक्षता में आयोजित बैठक के दौरान तमाम वक्ताओं ने लाल पाली बीट में कूड़ा निस्तारण केंद्र बनाए जाने का एक स्वर से विरोध किया। जिसमें वक्ताओं ने कहा कि यदि यहां पर ऋषिकेश हरिद्वार व आसपास के क्षेत्रों का कूड़ा डाला गया तो ग्रामीण एक स्वर से उसका विरोध करेंगे।

ज्ञात रहे कि नगर निगम ऋषिकेश क्षेत्र में गोविंद नगर में डाले जा रहे, कूड़ा निस्तारण केंद्र को राज्य सरकार द्वारा लाल बीट में स्थानांतरित किए जाने की तैयारी कर ली है ।जिसमें बनाए गए कलस्टर के अंतर्गत नरेंद्र नगर, स्वर्ग आश्रम, डोईवाला ,ऋषिकेश का कूड़ा डाला जाना है। जिसे लेकर ग्रामीण प्रारंभ से ही इसका विरोध कर रहे हैं।

जिसे लेकर ग्रामीणों ने चेतावनी दी कि यदि इस समस्या का समाधान 1 सप्ताह के अंदर नहीं हुआ तो ग्रामीण कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद का घेराव करेंगे ।

बैठक में उपस्थित पूर्व जैव वैज्ञानिक विजय भट्ट ने कहा कि जिस स्थान पर कूड़ा डाला जाता है उस क्षेत्र का पर्यावरण प्रदूषित होता ही है साथ ही उसका पीने का पानी भी दूषित हो जाता है जो कि मनुष्य के जीवन के लिए भी खतरनाक बन जाता है ऋषिकेश धार्मिक स्थल में गिना जाता है। यदि यहां भी लगातार कूड़ा डाला जाता रहा तो दिल्ली में बने कूड़े के पहाड़ों की तरह 1 दिन धार्मिक नगरी भी तब्दील हो जाएगी उन्होंने कहा कि घरों से निकलने वाले कूड़े को अलग-अलग करके ही एकत्रित किया जाना चाहिए। गुमानीवाला में धरना दे रहे लोगों के समर्थन में देहरादून शीशम बाड़ा क्षेत्र के लोग भी मौजूद थे,

बैठक में मौजूद नगर निगम पार्षदों ने अपनी गलती को स्वीकार करते हुए कहा कि उनके द्वारा बोर्ड की बैठक में पारित किए गए प्रस्ताव कूड़ा यहां पर डाले जाने का अब उन्हें एहसास हो गया है ,अब इसका पुरजोर विरोध करेंगे।‌

बैठक में विरेंद्र रमोला, नगर निगम पार्षद विपिन पंत,विजेंद्र मोगा, सत्य प्रसाद , प्रेम सिंह रावत, कुंदन सिंह नेगी सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।

 

बसंत उत्सव 2023 का ऋषिकेश में 24 जनवरी से होगा आगाज झंडारोहण के साथ किए जाएंगे विभिन्न कार्यक्रम 26 जनवरी को निकाली जाएगी भगवान हृसिकेश की डोली



ऋषिकेश, 18 जनवरी । ऋषिकेश बसंतोत्सव 2023 को लेकर आयोजित बैठक में बसंत उत्सव मनाए जाने को लेकर समिति के पदाधिकारियों की बैठक में कार्यक्रमों को अंतिम रूप दिया गया। बसंत उत्सव समिति की बुधवार को श्री भरत मंदिर झंडा चौक के सभागार में बैठक  का आयोजन ‌किया गया ।

जिसमें मेला संयोजक हर्षवर्धन शर्मा ने बताया कि 24 जनवरी 2023 से प्रातः 7:30 बजे ध्वजारोहण के साथ मेले का शुभारंभ होगा, 8:00 बजे साइकिल रेस, 11:00 बजे मटकी फोड़ प्रतियोगिता और 11:30 बजे विद्यालय छात्र छात्राओं का कार्यक्रम, शाम 6:00 बजे गढ़वाली सांस्कृतिक संध्या तथा दिनांक 25 जनवरी 2022 को स्वर्गीय महंत अशोक प्रपन्नाचार्य महाराज स्मृति में रक्तदान शिविर 9:30 से प्रारम्भ होगा और 11:00 बजे कला प्रतियोगिता तथा शाम 5:00 बजे ,एक शाम शहीदों के नाम, समन्वय संस्था द्वारा आयोजित की जाएगी।

तीसरे दिन 26 जनवरी 2022 को 1:00 बजे हृषीकेश नारायण भरत भगवान जी की डोली विधिवत नगर भ्रमण को प्रस्थान करेगी और उसके बाद शाम 4:00 बजे बेबी शो का आयोजन किया जाएगा।

27 जनवरी 2022 को 2:00 बजे दंगल प्रतियोगिता का प्रारंभ नगर निगम ऋषिकेश में किया जाएगा और 28 जनवरी 2023 को 5:00 बजे दंगल प्रतियोगिता का समापन होगा, और रात्रि 7:00 बजे कवि सम्मेलन के साथ वसंतोत्सव का समापन हो जाएगा।

इस अवसर पर बैठक की अध्यक्षता दीप शर्मा के द्वारा की गई , हृषिकेश वसंतोत्सव की इस बैठक में महंत वत्सल प्रपन्नाचार्य महाराज,वरुण शर्मा, विनय उनियाल ,धीरेंद्र जोशी ,प्रधानाचार्य मेजर गोविंद सिंह रावत, रामकृपाल गौतम ,चेतन शर्मा, डीबीपीएस रावत,बंशीधर पोखरियाल, ललित मोहन मिश्र, राजेंद्र प्रेम सिंह बिष्ट, पहलवान रामप्रसाद भारद्वाज जयप्रकाश नारायण ,जय कुमार तिवारी, रंजन अंथवाल, प्रवीण रावत, धीरज चतरथ,महेश किंगर ,आदि उपस्थित थे।

पेपर लीक मामले को लेकर उत्तराखंड जन विकास मंच ने तहसील में प्रदर्शन कर ‌उप जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को दिया ज्ञापन



ऋषिकेश, 16 जनवरी । उत्तराखंड जन विकास मंच के कार्यकर्ताओं ने राज्य में लोक सेवा आयोग के अंतर्गत कराई जा रही परीक्षाओं के पेपर लीक होने के मामले को लेकर तहसील में प्रदर्शन कर उत्तराखंड के राज्यपाल के नाम ज्ञापन दिया।

सोमवार को तहसील परिसर में उत्तराखंड जन विकास मंच के संयोजक आशुतोष शर्मा के नेतृत्व में किए गए प्रदर्शन के उपरांत दिए गए ज्ञापन में कहा कि उत्तराखण्ड की विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में नित नये घोटाले सामने आ रहे हैं। पहले यूकेएसएसएससी और अब राज्य लोक सेवा आयोग के अन्तर्गत सम्पन्न हुई, पटवारी भर्ती में पेपर लीक की घटना ने राज्य में प्रतियोगी परीक्षा दे रहे परीक्षार्थियों के मनोबल पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है।

जिससे राज्य के मानव संसाधन प्रबन्धन के प्रभावी उपयोग पर कुप्रभाव पड़ रहा है। पेपर लीक मामले में आरोपित कर्मचारी ने चार उपजिलाधिकारी और दो डीएसपी के पदों पर अपनी पसंद के व्यक्तियों के चयन को स्वीकार किया है। जिससे लोक सेवा आयोग उत्तराखण्ड की छवि भी धूमिल हुई है और इससे यह बात पुष्ट होती है कि इस तरह भर्ती परीक्षाओं में गड़बड़ी व घोटाला पहले से ही चलता आ रहा है। जबसे धामी सरकार अस्तित्व में आयी है, यह घोटाले सामने आ रहे हैं और उन घोटालों में शामिल आरोपियों पर तत्काल कार्यवाही भी‌ नहीं हो रही है।

फिर भी इन परीक्षाओं के संचालन में हो रही गड़बड़ी व पेपर लीक की घटना से अन्ततोगत्या परीक्षार्थियों के मनोबल पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है, जिससे उनकी ऊर्जा, धन जीवन का बहुमूल्य समय इन मोटालेबाजों के कारण नष्ट हो रहा है।

विभिन्न भर्ती अभिकरणों के अन्तर्गत कराया जाने वाली परीक्षाओं में पेपर लीक जैसी घटना को पुनरावृत्ति रोकने हेतु एक प्रभावी तंत्र का निर्माण किया जाय और पेपर लीक जैसी घटना में शामिल आरोपियों पर विधि अनुसार कठोरतम कार्यवाही की जाये।

ज्ञापन देने वालों में जतिन जाटव ,नितिन पाल, जनार्दन नवानी लालमणि रतूड़ी ,श्रीकांत,चंदन सिंह, ऋषि ग्रोवर सहित अन्य लोग भी शामिल थे।

हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल ‌ने गढ़वाल के मुख्य द्वार ऐतिहासिक झंडा चौक पर किया‌ 60 फीट ऊंचे तिरंगे का उद्घाटन यह तिरंगा आजादी की याद दिलाता रहेगा -रमेश पोखरियाल निशंक-



ऋषिकेश, 15 जनवरी ।हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल निशंक ने गढ़वाल के मुख्य द्वार पर स्थित देश की आजादी के दौरान मुख्य भूमिका निभाने वाले झंडा चौक पर 60 फीट ऊंचे राष्ट्रीय झंडे का लोकार्पण किया ।

रविवार की शाम को राष्ट्रीय झंडे का लोकार्पण करने के उपरांत उन्होंने उपस्थिति को संबोधित करते हुए कहा कि आज जब आजादी का अमृत महोत्सव पूरा देश मना रहा है ,उसी श्रंखला में आज ऋषिकेश में भी झंडे का लोकार्पण किया जाना महत्वपूर्ण है, यह झंडा‌ चौक इस बात को याद दिलाता है ,जब हम देश की आजादी के लिए जिंदगी और मौत से लड़ रहे थे। और यह चौक इसी बात का साक्षी है

जहां से स्वतंत्र सेनानी एकत्रित होकर सैकड़ों की संख्या में आजादी की लड़ाई में प्रतिभाग करते थे। हम आज इस बात के भी साक्षी बन रहे हैं, जब इस तिरंगे के लिए हजारों की संख्या में लोगों ने कुर्बानी दी है। उन्होंने कहा कि आज कुर्बानी की आवश्यकता नहीं है देश के प्रति अपने योगदान दिए जाने की आवश्यकता है ।निशंक ने कहा कि यदि हम एक रहेंगे तो भारत को विश्व गुरु के रूप में स्थापित कर देंगे। आज देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वे भवंतु सुखिनः सर्वे संतु निरामया की कहावत को चरितार्थ करते हुए पूरे विश्व को एक सूत्र में भागीदारी का कार्य किया है।

जो कि आज देश के लिए गौरव का विषय है। उन्होंने कहा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वजह से ही आज भारत विश्व की जी20 की अध्यक्षत भी कर रहा है ।और गौरव की बात है कि यह मौका ऋषिकेश को भी प्राप्त हुआ है, जहां जी20 सम्मेलन के अंतर्गत बैठक होने जा रही है। हमारे लिए इस झंडे का लोकार्पण देश की आजादी की याद दिलाता रहेगा।

इस अवसर पर भरत मंदिर के हर्षवर्धन शर्मा ने झंडे की महत्ता के बारे में बताया कि ऋषि मुनियों की इस नगरी में बंगाल, गुजरात, उड़ीसा और पंजाब से आए क्रांतिकारियों ने साधु वेश में केवला आनंद आश्रम में एकत्रित होकर देश की आजादी में अतुल्य योगदान दिया था, झंडा चौक में से जुलूस की शक्ल में आंदोलन में शामिल होते थे। सन उन्नीस सौ 1930 में नमक सत्याग्रह में देहरादून जिले में इसी झंडे के नीचे से जेल गए थे, जिनमें 70 सन्यासी भी थे ।जो कि इसी झंडा चौक में एकत्रित होकर आंदोलन की अलग जगाते रहे 1919 और 1921 में इसी स्थान पर ध्वजारोहण कर आंदोलनकारियों ने अनशन भी किया था। जिसके बाद सन्यासी और किसानों ने हल चलाने का सत्याग्रह किया 21 में बारडोली सत्याग्रह के समर्थन में उनकी हरावाला नामक स्थान पर बड़ी सभा में इसी चौक में एकत्रित होकर बाबाओं की जमात भी वहां पहुंची थी ,जिसे देखकर अंग्रेज भी डर गए थे क्रांति में भी यहां से आंदोलन का श्रीगणेश एवं संचालन यहीं से ‌किया जाता रहा है। रानीपोखरी क्षेत्रों मैं भी आजादी के दीवाने एकत्रित होते रहे हैं।

इस अवसर पर मंदिर के महंत वत्सल प्रपन्नाचार्य, वरुण शर्मा,  संजय शास्त्री , भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष रविंद्र राणा,जिला पंचायत सदस्य संजीव चौहान , दीपक तायल,बंशीधर पोखरियाल ,चेतन शर्मा ,जगमोहन सकलानी, जितेंद्र अग्रवाल, संजय व्यास, प्रदीप दुबे ,संदीप गुप्ता, सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।

जी20 सम्मेलन की तैयारी को लेकर अधिकारियों ने ऋषिकेश का किया स्थलीय निरीक्षण, अधिकारियों की आंखों की किरकिरी बने ऋषिकेश स्थित कूड़े के पहाड़ को मार्च तक हटाने के हुए निर्देश



ऋषिकेश, 10 जनवरी‌ । ऋषिकेश में मई और जून में होने वाले जी 20 सम्मेलन को लेकर प्रदेश के शहरी विकास अपर निदेशक सहित अधिकारियों ने ऋषिकेश का स्थलीय निरीक्षण कर तैयारियों का मौका मुआयना किया ।

मंगलवार को शहरी विकास अपर निदेशक अधिकारियों के साथ ऋषिकेश पहुंचे, जिन्होंने ऋषिकेश के तमाम मार्गो, गोविंद नगर स्थित बन रहे कूड़े के पहाड़, त्रिवेणी घाट सहित अन्य स्थानों का निरीक्षण किया। इस दौरान उनके साथ नगर निगम के मुख्य आयुक्त राहुल कुमार गोयल, सहायक एस एन ए रमेश सिंह रावत, अभिषेक मल्होत्रा सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

ज्ञात रहे कि मई और जून में ऋषिकेश तीर्थ नगरी में जी-20 सम्मेलन प्रस्तावित है। जिस पर पूरे देश की नजर लगी है ,यह सम्मेलन योग के साथ आध्यात्मिक व सांस्कृतिक दृष्टि से भी आयोजित किया जा रहा है ।जोकि गढ़वाल के विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगा।

परंतु ऋषिकेश हरिद्वार मार्ग पर गोविंद नगर में बन रहा कूड़े का पहाड़ अधिकारियों की आंखों की किरकिरी बना है। जिसे हटाए जाने के लिए वर्षों से नगर निगम ऋषिकेश कवायद कर रहा है अब जी-20 सम्मेलन को देखते हुए अधिकारियों ने भी इसे गंभीरता से लिया है और मार्च से पहले इसे हटाए जाने के लिए निर्देशित भी किया गया है ।

अपर जिला अधिकारी प्रशासन शिव कुमार बरनवाल कहा कि कूड़े को स्थानांतरित किए जाने के लिए प्रशासन द्वारा लाल बीट में चयनित किया गया है। जहां कूड़े को स्थानांतरित कर दिया जाएगा। जिसे ध्यान में रखते हुए आज अधिकारियों की टीम ने ऋषिकेश स्थित चयनित स्थानों का निरीक्षण किया।

ब्रेकिंग : ऋषिकेश ब्यासी के समीप अटाली के दरार प्रभावित क्षेत्र में आरवीएनएल ने‌ किया आमजन का प्र‌‌वेश निषेध – ऊंचाई क्षेत्र में स्थित पांच भवनों को ज्यादा नुकसान सुरक्षा की दृष्टि से तकनीकी जांच भी करवा ली गई है -भूपेंद्र सिंह



ऋषिकेश, 11 जनवरी ।ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर व्यासी के समीप स्थित अटाली गांव में भूधंसाव की स्थिति अभी स्थिर है। गांव के खेतों में आई बड़ी दरारों को देखते हुए आरवीएनएल ने ‌यहां आमजन का प्रवेश निषेध कर दिया गया है।

जिसके लिए रेल विकास निगम की ओर से आवश्यक व्यवस्था की गई है। ऊंचाई वाले क्षेत्र में स्थित पांच भवनों में ज्यादा दरारें आई हैं। करीब 85 परिवार वाले इस गांव के लोगों को मदद का इंतजार है।अटाली गांव में दिसंबर माह के अंतिम सप्ताह में अचानक भूधंसाव होने से खेतों में बड़ी-बड़ी दरारें पड़ गई थी।

इतना ही नहीं यहां के कई घरों में भी दरारें आ गई थी। यहां तक आंगन में भी बड़ी दरारें देखी गई। इस गांव में करीब 85 परिवार हैं और इतने ही घर हैं। करीब 15 घरों में दरारें आई हैं, गांव के ऊपरी क्षेत्र में स्थित लक्ष्मी देवी, प्रेम सिंह, इंदर सिं,ह गोविंद सिंह चौहान, जय सिंह पुंडीर के घरों में ज्यादा दरार आई है। जय सिंह पुंडीर और गोविंद सिंह चौहान के आंगन में बड़ी दरारें भी देखी गई हैं।

रेलवे विकास निगम की टीम ने इन सभी दरारों को चिन्हित करके इनमें लाल निशान लगा दिए थे। 22 दिसंबर से 25 दिसंबर के बीच दरार आने का क्रम जारी रहा। ग्रामीणों का कहना है कि वर्तमान में दरारें स्थिर है। लेकिन ग्रामीणों को आगे भी खतरे का पूरा अंदेशा है।

एक जनवरी को विभाग की टीम पूरे क्षेत्र का निरीक्षण कर चुकी है। सभी जगह दरारों की चढ़ाई नापी गई थी। अब इनमें कितनी वृद्धि हुई है इसे देखने के लिए 15 जनवरी को फिर से टीम यहां आएगी।खेतों में जहां भी दरार आई है, वहां से होकर जाने वाले रास्ते को विभाग की ओर से आवागमन के लिए बंद कर दिया गया है।

सभी जगह चेतावनी के बोर्ड लगा दिए गए हैं। बकायदा पूरे क्षेत्र को चिन्हित कर कवर किया गया है। गांव में रहने वाले हरि सिंह, फोन सिंह, सुरेश सिंह, नरेंद्र सिंह, मोहन सिंह, मातवर सिंह आदि के खेतों और भवनों में कहीं ना कहीं दरारें आई हैं। रेल विकास निगम के ‌उप महाप्रबंधक, भूपेंद्र सिंह कहना है कि अटाली गांव में जहां भी दरारें आई हैं सभी जगह सुरक्षा के लिहाज से तकनीकी जांच कराई गई है। जिसकी अभी रिपोर्ट नहीं आई है। रेल परियोजना के कार्यस्थल पर कोई खतरा नहीं है।

टनल के काम से गांव को कोई खतरा नहीं है। विभाग की टीम सभी घरों की मानिटरिंग कर रही है। अब 15 जनवरी को फिर से गहनता के साथ मानिटरिंग होगी। यदि इसमें आगे कुछ और संभावना नजर आती है तो उचित निर्णय लिया जाएगा।

जी 20 सम्मेलन से पूर्व हटेगा कूड़े का पहाड़ – महापौर, बड़ती ठंड को देख महापौर ने अधिकारियों को अलाव की व्यवस्था मजबूत करने के लिए दिए निर्देश



ऋषिकेश 9 जनवरी। – तीर्थ नगरी में शीत लहर के बड़ते प्रकोप को देखते हुए नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ने अधिकारियों की बैठक लेकर उन्हें अलाव की व्यवस्था और मजबूत करने के निर्देश दिए।ठंड के चलते निगम की रात्रिकालीन सफाई व्यवस्था बाधित ना हो इसके लिए भी उन्होंने निगम अधिकारियों को फील्ड में उतरने के लिए आदेशित किया।

सोमवार को नगर निगम अधिकारियों की बैठक लेते हुए महापौर ने कहा कि चिन्हित स्थानों के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में भी अलाव के पुख्ता इंतजाम किए जायें तकि आसराविहिनों को ठंड से राहत दिलाई जा सके।उन्होंने अलाव एवं रात्रिकालीन सफाई व्यवस्था की मानिटरिंग करने के लिए भी अधिकारियों को निर्देशित किया।

महापौर ने बताया कि तीर्थ नगरी ऋषिकेश का सोभाग्य है कि यहां संभवतः मई माह में जी 20 सम्मेलन होने जा रहा है।उसकी तैयारियां निगम द्वारा शुरू कर दी गई हैं। गोविंद नगर स्थित ट्रेचिंग ग्राऊंड को साफ करने के निर्देश कार्यदायी संस्था को दिए गये हैं।अधिकारियों द्वारा 20 मार्च तक ट्रेंचिंग ग्राऊंड के कूड़े को हटाने का आश्वासन दिया है।

महापौर के अनुसार जिस जिस स्थान से कूड़ा हटाया जायेगा वहां पर्यावरण की सुरक्षा के लिए तुरंत पौधारोपण के लिए भी आवश्यक. निर्देश दिए गये हैं।

बैठक में  मुख्य नगर आयुक्त राहुल गोयल, सहायक नगर आयुक्त रमेश रावत, चन्द्रकांत भट्ट, सफाई निरीक्षक संतोष गोसाई, अभिषेक मल्होत्रा, सुभाष सेमवाल, रोल्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के मैनेजर आलोक शुक्ला आदि मोजूद रहे।