जोशीमठ के व्यापार संघ व होटल कारोबारियों के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से की मुलाकात, मुख्यमंत्री ने किया आश्वस्त प्रदेश सरकार आपदा प्रभावितों की समस्याओं के प्रति पूरी तरह से संवेदनशील



ऋषिकेश देहरादून 1 फरवरी। जोशीमठ के व्यापार संघ व होटल कारोबारियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी से भेंट कर आपदा प्रभावितों की समस्याओं को लेकर चर्चा की।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री  धामी ने कहा कि प्रदेश सरकार प्रभावित क्षेत्र में तत्परता के साथ कार्य कर रही है और आपदा प्रभावितों के साथ खड़ी है।व्यापार संघ व होटल कारोबारियों के प्रतिनिधिमंडल ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष  महेंद्र भट्ट व श्री बदरीनाथ – केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष  अजेंद्र अजय के नेतृत्व में आज सचिवालय में मुख्यमंत्री से भेंट की।

व्यापार संघ के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि आपदा के कारण जोशीमठ का व्यापार व होटल कारोबार बुरी तरह से प्रभावित हो गया है। आगामी अप्रैल माह में यात्रा सीजन शुरू होने वाला है। वर्तमान में आपदा के कारण जोशीमठ में किसी भी प्रकार के निर्माण व मरम्मत के कार्यों पर प्रतिबंध लगाया गया है। लिहाजा, यात्रा शुरू होने से पूर्व उन्हें अपने व्यापारिक प्रतिष्ठानों, होटल इत्यादि की मरम्मत, सौंदर्यीकरण आदि कार्यों की अनुमति प्रदान की जाए। ताकि यात्राकाल में तीर्थयात्रियों व पर्यटकों को किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े।

व्यापारी नेताओं ने प्रभावित व्यापारियों के लिए राहत के उपायों के अलावा हेलंग बाइपास के निर्माण पर पुनर्विचार के लिए भी मुख्यमंत्री से अनुरोध किया।

इस पर मुख्यमंत्री धामी ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया कि प्रदेश सरकार आपदा प्रभावितों की समस्याओं के प्रति पूरी तरह से संवेदनशील है। सरकार प्रभावितों की हर संभव सहायता को तत्पर है। वे स्वयं प्रतिदिन जोशीमठ की स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं। उन्होंने व्यापारी नेताओं से आगामी यात्रा के मद्देनजर सकारात्मक वातावरण तैयार करने की अपील भी की।प्रतिनिधिमंडल में प्रांतीय उद्योग व्यापार के प्रदेश उपाध्यक्ष माधव प्रसाद सेमवाल, जोशीमठ व्यापार मंडल के अध्यक्ष नैन सिंह भंडारी, तहसील अध्यक्ष अमित सती, लालमणि सेमवाल आदि शामिल थे।

बजट में आधुनिक भारत की छाप-अनिता ममगाई



ऋषिकेश 1 फरवरी। – केन्द्र सरकार के बजट को शानदार बताते हुए नगर निगम महापौर ने खुशी जताई है। महापौर अनिता ममगाई ने वित्त मंत्री  सीता रमण द्वारा पेश किए गये बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बजट में आधुनिक भारत की स्पष्ट छाप है जिसमें हर वर्ग की जरुरतों का पूरा ख्याल रखा गया है।

उन्होंने कहा कि कोरानाकाल में जहां पूरे विश्व में जीडीपी गिरी वहीं इसके बावजूद भारत देश मजबूती से डटा रहा। बजट में महिलाओं, स्टूडेंट्स ,किसानों के साथ उनकी तकलीफों को दूर करने के लिए विशेष ध्यान रखा गया है वहीं मध्यमवर्गीय लोगों के लिए आयकर में छूट के जरिए उन्हें खुशियों की सौगात दी गई है।

बजट का लाभ देश की जनता के हर वर्ग को मिलेगा।उन्होंने देश की जनता की जरुरतों के अनुकूल बजट पेरा करने के लिए केन्द्रीय वित्त मंत्री की खुलकर प्रंशसा भी की।

गौ तस्करों के खिलाफ सख्ती से निपटेगी उत्तराखंड में धामी सरकार, गैंगस्टर एक्ट में होगी कार्रवाई



ऋषिकेश देहरादून 29 जनवरी। पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व वाली प्रदेश भाजपा सरकार अब गौ तस्करों के खिलाफ सख्ती से निपटेगी। सरकार के निर्देश पर अब उत्तराखंड पुलिस गौ-तस्करों पर गैंगस्टर एक्ट में कार्रवाई करेगी। उत्तराखंड पुलिस के मुताबिक अवैध परिवहन और तस्करी पर अंकुश लगाने के लिए उत्तराखंड पुलिस अब गौ तस्करों पर गैंगस्टर एक्ट के तहत मामला दर्ज करेगी।

डीजीपी अशोक कुमार ने इस मामले में सभी जिलों के एसएसएपी और एसपी को निर्देशित करते हुए कहा कि गौवंश संरक्षण अधिनियम 2007 से संबंधित सभी आरोपियों के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट में कार्रवाई होनी चाहिए।

उत्तराखंड के गांवों में बेरोजगारों को रोजगार से जोड़ने के लिए एक अलग योजना तैयार की जा रही है। सरकार की ओर से उत्तराखंड में गो-संरक्षण समिति गठित करने का निर्णय लिया गया है। इस समिति के सदस्यों की जिम्मेदारी आवारा गायों की रक्षा और पोषण करना होगा। इसके लिए हर माह 5000 रुपए का भुगतान किया जाएगा। 50 गांवों में पायलट प्रोजेक्ट के तहत इस योजना पर एक करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा। इस योजना को लेकर एक कार्यक्रम में मुख्मयंत्री पुष्कर सिंह धामी सरकार ने कहा था कि गांवों के अकुशल, अनपढ़ और बेरोजगार लोगों को गौ सेवक के रूप में नियुक्त करने का फैसला लिया है। आवारा गायों की देखभाल के लिए प्रति माह 4,000 से 5,000 रुपए का भुगतान किया जाएगा। एक व्यक्ति को कम से कम चार से पांच गायों की जिम्मेदारी लेनी होगी और प्रति पशु कम से कम 900 रुपये का भुगतान किया जाएगा।

छात्र छात्राएं इग्जाम के सीजन को त्योहार के सीजन की तरह करें महसूस-अनिता ममगाई पंजाब सिंध क्षेत्र इंटर कालेज में परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम में महापौर ने की सहभागिता



ऋषिकेश 27जनवरी । प्रधानमंत्री के द्वारा परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम के तहत नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ने पंजाब सिंध क्षेत्र इंटर कालेज में सैकड़ों छात्र छात्राओं के साथ बतौर मुख्यातिथि के रुप में शिरकत करते हुए कार्यक्रम का लाइव टेलिकास्ट देखा।

उन्होंने बच्चों को परीक्षा की चुनौतियों से निपटने के महत्वपूर्ण टिप्स भी दिए।शुक्रवार की दोपहर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम का लाईव टेलीकास्ट महापौर ने हरिद्वार रोड़ पंजाब सिंध क्षेत्र इंटर कालेज में देखा।इस अवसर पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा शुरू किए गये परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम ने देश के छात्र छात्राओं में परीक्षा को लेकर होने वाले तनाव को कम करने का काम किया है।

उन्होंने आज जो महत्वपूर्ण संदेश देश के करोड़ो बच्चों को दिया है उससे निश्चित ही छात्र छात्राओं का आत्मबल बढ़ेगा जोकि आगामी परीक्षा के दौरान उनके काम आयेगा। उन्होंने कहा कि बच्चों की परीक्षाएं आने वाली हैं और उनके साथ प्रधानमंत्री का सीधा संवाद करना उनके मनोबल में वृद्धि करेगा। इस दौरान भाजपा के प्रदेश महामंत्री राजेंद्र बिष्ट ने कहा कि वर्ष 2014 के बाद प्रधानमंत्री मंत्री दी जी के नेतृत्व में ये बदलते हुए भारत की तस्वीर है जहां दैश के लाखों करोड़ों छात्र छात्राएं प्रधानमंत्री से सीधा संवाद करके अपना भविष्य संवार रहे हैं।

इससे पूर्व कार्यक्रम में शिरकत के लिए पहुंची महापौर का विधालय की प्रबंध समिति की ओर पुष्प गुच्छ भेंटकर स्वागत ओर अभिनंदन भी किया गया।

इस दौरान जिला सह प्रभारी नलिन भट्ट, विद्यालय प्रबंधक बृजेश शर्मा, विद्यालय प्रधानाचार्य ललित किशोर शर्मा,  कपिल गुप्ता, पवन शर्मा, पार्षद विजय बडोनी, रीना शर्मा, सत्यप्रकाश ममगाई सहित विधालय  के तमाम शिक्षक शिक्षिकाएं मोजूद रहे।

उत्तराखंड चारधाम धाम यात्रा 2023 श्री बदरीनाथ धाम के कपाट इस यात्रा वर्ष 27 अप्रैल को खुलेंगे।  राजमहल नरेंद्र नगर में आयोजित धार्मिक समारोह में हुई कपाट खुलने की घोषणा



ऋषिकेश: 26 जनवरी। विश्व प्रसिद्ध श्री बदरीनाथ धाम के कपाट 27 अप्रैल को प्रात: 7 बजकर 10 मिनट बजे खुलेंगे जबकि गाडू घड़ा तेल कलश यात्रा का दिन 12 अप्रैल निश्चित हुआ।

राजदरबार नरेंद्र नगर में बसंत पंचमी के शुभ अवसर पर आयोजित धार्मिक समारोह में पंचांग गणना पश्चात विधि विधान ने कपाट खुलने की तिथि तय हुई।जबकि गाडू घड़ा तेल कलश यात्रा हेतु 12 अप्रैल की तिथि निश्चित हुई।

इस अवसर पर टिहरी राजपरिवार सहित श्री बदरी-केदार मंदिर समिति, डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत के पदाधिकारी तथा बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन मौजूद थे।

उत्तराखंड श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष राजेश शर्मा महामंत्री गणेश रयाल बने



ऋषिकेश, 26 जनवरी।उत्तराखंड श्रमजीवी पत्रकार संघ की ऋषिकेश इकाई के लिए प्रदेश अध्यक्ष विश्वजीत  नेगी की संस्तुति पर अध्यक्ष पद पर राजेश शर्मा और महामंत्री पद पर गणेश रयाल को सर्वसम्मति से चुना गया।

गुरुवार को ऋषिकेश प्रेस क्लब में वरिष्ठ पत्रकार अनिल शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित बैठक के दौरान पत्रकारों की समस्याओं  को लेकर श्रमजीवी पत्रकार संघ के गठन की आवश्यकता को महसूस करते हुए संघ के गठन किए जाने का निर्णय लिया गया।

जिसमें राजेश शर्मा को अध्यक्ष और गणेश रयाल को महामंत्री पद पर चुना गया जिसमें यह तय किया गया कि कार्यकारिणी का विस्तार दोनों अध्यक्ष और महामंत्री आपसी ‌विचार के बात करेंगे।

बैठक में हरीश तिवारी ,अनिल शर्मा, विक्रम सिंह दुर्गा नौटियाल आशीष डोभाल सुदीप पंच भैया, खुशबू गौतम, सूरज मणि, दिनेश सुरियाल, दीपेंद्र सिंह कंडारी राजेंद्र सिंह भंडारी, अमित सूरी ,राजीव कुमार, पंकज कौशल ,रणवीर सिंह ,बसंत कश्यप , नीरज गोयल,सहित अन्य सदस्य भी मौजूद थे।

सरस्वती शिशु विद्या मंदिर का वार्षिकोत्सव सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ हुआ संपन्न मुख्य अतिथि सांसद और विधायक रहे कार्यक्रम से नदारद शिशु मंदिर शिक्षा के साथ दे रहे हैं संस्कार- पवन



ऋषिकेश 25जनवरी । जाति राम अग्रवाल ‌सरस्वती शिशु विद्या मंदिर के वार्षिक उत्सव समारोह सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ उत्साह पूर्वक मनाया गया।

सोमवार को आदर्श नगर स्थित‌ सरस्वती शिशु विद्या मंदिर मैं आयोजित वार्षिक उत्सव का नगर निगम की महापौर अनीता ममगांई, विद्या भारती के प्रांत सेवा प्रमुख पवन, उद्योगपति एवं समाजसेवी कमलकांत मलिक, विद्यालय के प्रबंधक एवं अध्यक्ष हर गोपाल अग्रवाल, व्यवस्था प्रमुख डॉ. दीपक तायल एवं प्रधानाचार्य गुरु प्रसाद उनियाल, सुशील अग्रवाल, ने संयुक्त रूप से सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया।

कार्यक्रम के दौरान गढ़वाली कुमाऊनी पंजाबी गुजराती नृत्य के साथ देशभक्ति से ओतप्रोत गीतों की प्रस्तुति भी दी गई।जिसमें छोटे छोटे बच्चों द्वारा देश भक्ति से संबंधित नृत्य नाटिका के दौरान बच्चों ने दर्शकों की जमकर तालियां भी बटोरी

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता प्रांत के सेवा प्रमुख पवन ने उपस्थिति को संबोधित करते हुए कहा कि सरस्वती शिशु मंदिर और विद्या मंदिर देश में शिक्षा ही नहीं बच्चों को संस्कार भी दे रहे हैं जिनके कारण आज अभिभावकों में अपने बच्चों को शिक्षा के साथ संस्कार दिए जाने के लिए शिशु मंदिरों में पढ़ाई जाने के लिए होड़ लगी है उन्होंने कहा कि आज यदि बच्चों को शिक्षा के साथ संस्कार वान बनाना है, तो उसकी हर गतिविधि उसकी प्रत्येक गतिविधि पर अभिभावकों को नजर रखने के साथ अपने पास रखना आवश्यक है नहीं तो बच्चे गलत संगति में पढ़कर नशे की ओर अग्रसारित हो रहे हैं जो कि उनके भविष्य को अंधकार में धकेल रही है।

पवन का कहना था की छोटे बच्चों को दी जाने वाली शिक्षा व संस्कार ही उसके भविष्य को बना सकते हैं।

इस अवसर पर नगर निगम की महापौर अनीता ममगांई ने सरस्वती शिशु विद्या मंदिर के माध्यम से दी जाने वाली शिक्षा प्रणाली को सर्वश्रेष्ठ बताते हुए कहा कि यदि अभिभावक प्रारंभ से ही अपने बच्चों में संस्कार उत्पन्न करने की लालसा रखते हैं तो उन्हें शिशु मंदिर में पढ़ाया जाना चाहिए उन्होंने कहा कि आज सभी लोग अपने बच्चों को अंग्रेजी माध्यम के विद्यालयों में भेज सो रहे हैं परंतु वह उनकी गतिविधियों पर ध्यान नहीं दे रहे हैं जिसके कारण बच्चे गलत संगत में पड़ रहे हैं ।

अनीता ममगांई का यह भी कहना था कि गलत संगत के कारण बच्चे संस्कार की और नहीं बल्कि अंतिम संस्कारों की ओर बढ़ रहे हैं।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल निशंक और शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद के न पहुंचने पर आयोजकों में मायूसी छाई रही।

इस अवसर पर राकेश चंद्र, पूर्व प्रधानाचार्य विद्यालय के प्रधानाचार्य राजेंद्र पांडे,अशोक अग्रवाल, गोपाल नारंग, दीपक बिष्ट, रितु अग्रवाल नगर निगम पार्षद अनीता रैना, पूर्व प्रधानाचार्य शिशुपाल, संगठन मंत्री भुवन, सुभाष कोहली, सुरेंद्र नेगी, सोहन थलवाल, नीरज ध्यानी, दयाराम, गजेन्द्र, ललित बडाकोटी, खूब सिंह, अभिभावक मौजूद थे।

चकाचक होंगी शहर की सड़कें, पक्के होंगे रास्ते -अनिता ममगाई  महापौर ने किया सड़क का शिलान्यास



ऋषिकेश 25 जनवरी। – शहरवासियों को खस्ताहाल सड़कों और रास्तों से जल्द राहत मिलने वाली है। शहरी वार्डों के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी लगातार सड़कों का शिलान्यास नगर निगम द्वारा करवाया जा रहा है।

सड़कों की दशा के सुधारीकरण एवं निर्माण निर्माण अभियान के तहत महापौर अनिता ममगाई ने वार्ड  संख्या 32 में क्षेत्रीय पार्षद लक्ष्मी रावत की मोजूदगी में 4 लाख की लागत से बनने जा रही सड़क का शिलान्यास किया।

इस अवसर पर महापौर ने कहा कि इस बार हुई भारी बारिश के कारण शहर की भीतरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों की  सड़कों की हालत खस्ता हो गई थी। इन सड़कों की हालत सुधारने को लेकर नगर निगम द्वारा जोरदार तरीके से सड़कों के नवनिर्माण सहित खस्ताहाल सड़कों का पेचवर्क कराया जा रहा है। उन्होंने मौके पर निर्माण कार्य में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए ।

महापौर ने बताया कि शहर के सभी वार्डो मेंं सड़कों की रिपेयरिंग व नव निर्माण होना है। खस्ताहाल सड़कों की पेंच रिपेयरिंग कराई जा रही है, इसके अलावा शहर की अधिकांश सड़कों का नवीनीकरण कार्य भी कराया जाएगा।

इसके लिए टेंडर की प्रक्रिया जल्द पूरी कराई जाएगी व आगामी मार्च महीने तक शहर की सभी सड़कें चकाचक हो जाएंगी।

महापौर ने जानकारी दी कि जल संस्थान के अधिकारियों वार्डो में पाईप लाईन बिछवाकर गई हैं वहां जल्द से जल्द टेस्टिंग कराने के लिए निर्देशित किया गया है ताकि सड़क निर्माण एवं पेचवर्क के दौरान कोई अवरोध उत्पन्न ना हो।

इस दौरान पार्षद लक्ष्मी रावत, खेम सिंह बिष्ट, ममता बिष्ट, लोकेश बडोला, मनोज वर्मा, उदित नेगी आदि प्रमुख रूप से मोजूद रहे।

उत्तराखंड में नगर निगम, पालिका, पंचायतों में 2011 की जनगणना के आधार पर तय किया जाएगा आरक्षण शिक्षा ओर आर्थिक आधार भी नहीं होगा मान्य -बीएस वर्मा



ऋषिकेश 25 जनवरी । उत्तराखंड में होने वाले नगर निगम ,नगर पालिका, नगर पंचायतों के चुनाव‌ से पहले आरक्षण तय किए जाने को लेकर सर्वे करवाया जाएगा, जोकि 2011 की जनगणना के आधार पर होगा ।

जिसमें ओबीसी का पद तय किया जाएगा,परंतु यह आबादी के आधार पर नहीं होगा। जिसमें शिक्षा और आर्थिक आधार भी मान्य नहीं किया जाएगा ।यह जानकारी ऋषिकेश नगर निगम के सभागार में आयोजित एक सदस्य समर्पित पिछडा आयोग के अध्यक्ष सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति बीएस वर्मा ने अधिकारियों, नगर निगम पार्षदों, निकाय सभासदों की बैठक के दौरान देते हुए बताया कि उत्तराखंड में नगर पालिका में ओबीसी का प्रतिनिधित्व तय‌‌ किया जाना है ,परंतु ओबीसी का आरक्षण आबादी के आधार पर नहीं होगा ,जिसका सर्वे कराया जा रहा है, जिसके पूरा होने पर रिपोर्ट सरकार को सौंप दी जाएगी । उनका कहना था कि यदि‌ 2021 की जनगणना हो जाती तो सर्वे करना और भी आसान हो जाता। अब 2011 की जनगणना के आधार पर ही आरक्षण , परिसीमन आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से उपलब्ध आंकडों के आधार पर आरक्षण तय किया जाएगा। जिसमें यह ‌‌‌‌‌‌‌ भी देखा जाएगा कि पिछले चुनाव में कितने प्रत्याशी चुनाव लड़ेे थे। और कितने जीते थे, इसेे भी आधार माना जाएगा।

बैठक में नगर निगम ऋषिकेश, नगर पालिका मुनि की रेती, ढालवाला, नगर पंचायत तपोवन, नगर पालिका नरेंद्र नगर के अधिकारियों पार्षदों और सभासद‌ मोजूद थे। जिसमें ओबीसी मतदाताओं के सर्वे पर चर्चा करते हुए ओबीसी जाति के लोगों को सुविधाएं प्रदान किए जाने को लेकर पूरे प्रदेश में ओबीसी जाति का सर्वे भी कराए जाने का मामला उठा। इस दौरान आयोग के सदस्य सचिव ओंकार सिंह ने बताया कि जनप्रतिनिधियों ने इस संबंध में कई सुझाव भी दिए है ।उन्होंने बताया कि आरक्षण के दौरान शिक्षा के आधार पर निकाय चुनाव में ओबीसीको आरक्षण का लाभ नहीं मिलेगा। अगर कोई अधिकारी इस कार्य में लापरवाही करेगा तो उसके विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी।

इस दौरान पंचायती राज निदेशक मनोज त्रिपाठी, शहरी विकास के उप निदेशक विनोद कुमार, नगर आयुक्त राहुल गोयल, सहायक नगर आयुक्त रमेश रावत, नगर पालिका अध्यक्ष मुनी की रेती के रोशन रतूड़ी, ऋषिकेश निगम पार्षद विकास तेवतिया, देवेंद्र प्रजापति ,शिव कुमार गौतम , गुरविंदर सिंह ,आदि उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी ने  राष्ट्रीय बालिका दिवस पर ‘महिलाओं की खेल में सहभागिता’ विषय पर आयोजित सेमिनार में किया प्रतिभाग विभिन्न खेलों में सराहनीय प्रदर्शन करने वाली महिला खिलाड़ियों को सम्मानित भी किया।



ऋषिकेश देहरादून 25 जनवरी। मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी ने  राष्ट्रीय बालिका दिवस पर देहरादून स्थित नवीन बहुद्देशीय हॉल में ‘महिलाओं की खेल में सहभागिता’ विषय पर आयोजित सेमिनार में प्रतिभाग किया और विभिन्न खेलों में सराहनीय प्रदर्शन करने वाली महिला खिलाड़ियों को सम्मानित किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘राष्ट्रीय बालिका दिवस’ महिला सशक्तीकरण को लेकर हमारी प्रतिबद्धता को दोहराने और बालिकाओं को जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में सशक्त बनाने के लिए चल रहे प्रयासों को और अधिक मजबूत करने का महत्वपूर्ण अवसर है।