गंगा किनारे प्यासे की कहावत को चरितार्थ कर रही है प्रदेश सरकार -डॉ राजे सिंह नेगी


ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल संकट पर ‘आप’ ने बोला राज्य सरकार पर हमला

ऋषिकेश 27मई ।- गर्मी की दस्तक के साथ ही ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल किल्लत के चलते ग्रामीणों के हलख सूखने शुरू हो गए हैं।कोविड-19 की मार के साथ-साथ पेयजल की दोहरी मार से इन दिनों ग्रामीण त्रस्त हैं।
ग्राम सभा हरिपुर कलां के अंतर्गत मोतीचूर, बिरलाफ़फार्म एवं इंटर कॉलेज रॉड के साथ हरिपुर कलां सूरजपुर कालोनी में पीने के पानी की भारी किल्लत की जानकारी संज्ञान में आई है। इस गंभीर समस्या को लेकर आम आदमी पार्टी ने आवाज बुलंद की है।

पार्टी के जिला मीडिया प्रभारी डॉ राजे सिंह नेगी का कहना है कि
प्रदेश सरकार सड़क, बिजली एवं पानी जैसी मौलिक सुविधाओं को देने में भी अक्षम साबित हो रही है। हरिपुर कलां क्षेत्र में पिछले एक पखवाड़े से गंभीर पेयजल संकट बना हुआ इसके बावजूद इस गंभीर समस्या को लेकर पेयजल विभाग और क्षेत्रीय विधायक दोनों कुंभकर्णी नींद में नजर आ रहे हैं। कोरोना काल में भी क्षेत्र की जनता पानी की कमी से जूझ रही है। दो वक्त का पानी जुटाने के लिए लोगों को कोविड कर्फ्यू के दौरान भी पानी भरने के लिए हैंडपंपों का सहारा लेना पड़ रहा है। कोरोना काल में जल संकट लोगों को और मुसीबत में डाल रहा है। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय विधायक बड़ी बड़ी बड़ी पेयजल योजनाओं की घोषणाएं करते रहे हैं लेकिन जमीनी हकीकत में आलम यह है कि लोगों को दैनिक उपयोग के लिए जरूरी पानी भी मयस्सर नहीं हो पा रहा है।

कई इलाकों में दो दिन छोड़कर पानी मिलता है। वो भी शाम को सिर्फ एक टाईम। कोविड कर्फ्यू के दौरान भी लोग पानी भरने के लिए इधर उधर भटकने को मजबूर हैं। उन्होंने हरिपुर कलां क्षेत्र में पानी की समस्या के निदान हेतु नए ट्यूबेल एवं टंकियां लगाए जाने की मांग करते हुवे कहा जल्द ही ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल व्यवस्था दुरूस्त न की गई तो मजबूरन आम आदमी पार्टी को आंदोलन का सहारा लेना पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *