आग से झुलसी बुजुर्ग महिला की एम्स में‌‌ उपचार के दौरान हुई मौत, एक सप्ताह पूर्व रसोई में काम करने के दौरान हुआ था हादसा, 



ऋषिकेश , 13 दिसंबर ‌।कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत गणेश बिहार स्थित‌ आग से झुलसी बुजुर्ग महिला‌‌ की एक सप्ताह बाद एम्स में उपचार के दौरान मौत हो गई है।उक्त  महिला अपने घर में आग से उस समय झुलस गई थी‌ जब वह चाय बनाने गई थी।

इस संबंध में नगर निगम के पूर्व पार्षद बृजपाल राणा ने बताया था कि विगत गुरुवार की सुबह ‌ गणेश विहार गली नंबर 4 ‌ स्वर्गीय मुरलीधर चमोली की पत्नी यशोदा चमोली ‌जब रसोई में चाय बनाने के लिए गई थी, कि अचानक उनके कपड़ों में आग लग गई थी, जिसके बाद ‌आग‌ ने‌‌ पूरे घर को अपनी चपेट में ले लिया था।

जिनकी आवाज सुनकर पड़ोसियों ने अग्नि‌ शमन विभाग को आग लगने की सूचना दी‌‌ थी, जिसकी सूचना पर पहुंचे दमकल विभाग के कर्मचारियों ने‌आग पर काबू पा लिया‌ था। आग के कारण घर का काफी सामान जलकर राख भी हो गया धा।

वहीं बुजुर्ग महिला के‌ आग में बुरी तरह से जल जाने के बाद उन्हें उपचार हेतु एम्स ले जाया गया था। जहां उनकी हालत गंभीर बनी थी, इसके बाद उक्त महिला की आज बुधवार को मौत हो गई।

कोर्ट में कार्यरत बाबू का बैराज जलाशय से हुआ शव बरामद, बीती 13 नवंबर से थे गायब 



ऋषिकेश ,08 दिसंबर ।  लक्ष्मण झूला थाना अंतर्गत पशु लोक बैराज जलाशय से एस डी आर एफ की‌‌ टीम ने पिछले 13 नवंबर से गुमशुदा व्यक्ति का शव बरामद कर लिया है।

एसडीआरएफ के प्रभारी कविंद्र सजवाण ने बताया कि शुक्रवार की सुबह उनके कार्यालय पर सूचना प्राप्त हुई थी एक व्यक्ति का शव बैराज जलाशय में तैर रहा है, जिसकी सूचना पर पहुंची एसडीआरएफ की टीम‌ ने रेस्क्यू अभियान चलाकर व्यक्ति का शौक जलाशय से बाहर निकाला और उसे लक्ष्मण झूला पुलिस को सौंप दिया है।

बताया जा रहा है कि उक्त शव सुनील जोशी 47 वर्ष का है। जो‌‌ कि‌‌ विगत13 नवंबर‌ की‌‌ सुबह से ‌ गायब था।‌जो कि ग्राम पंचुर रोधार ‌‌ टिहरी के रहने वाले थे,और टिहरी कोर्ट में बाबू के पद पर कार्यरत थे ।

जो कि रामझूला पुल से नहाते समय बह गए थे , जिसकी तलाश में ‌एसडीआर एफ की टीम द्वारा लगातार सर्चिंग अभियान चलाया जा रहा था। ‌

जिसके‌ बाद शव को लक्ष्मांझूला पुलिस के सुपर्द कर दिया गया है जो कि मामले की जांच कर रही है।

किचन में काम कर रही बुजुर्ग महिला आग से बुरी तरह झुलसी, आग ने पूरे घर को लिया अपनी चपेट मे, महिला की हालत गंभीर



ऋषिकेश ,07 दिसंबर कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत गणेश बिहार स्थित एक बुजुर्ग महिला उस समय अपने घर में आग से झुलस गई जब वह चाय बनाने गई थी।

नगर निगम के पूर्व पार्षद बृजपाल राणा ने बताया कि गुरुवार की सुबह ‌ गणेश विहार गली नंबर 4 ‌ स्वर्गीय मुरलीधर चमोली की पत्नी यशोदा चमोली ‌जब रसोई में चाय बनाने के लिए गई थी, कि अचानक उनके कपड़ों में आग लग गई, जिसके बाद ‌आग‌ ने‌ पूरे घर को अपनी चपेट में ले लिया, जिनकी आवाज सुनकर पड़ोसियों ने अग्नि‌ शमन विभाग को आग लगने की सूचना दी जिसकी सूचना पर पहुंचे दमकल विभाग के कर्मचारियों ने‌आग पर काबू पा लिया। आग के कारण घर का काफी सामान जलकर राख हो गया है।

वहीं बुजुर्ग महिला के‌ आग में बुरी तरह से जल जाने के बाद उन्हें उपचार हेतु एम्स ले जाया गया है। जहां उनकी हालत गंभीर बनी है।

नगर निगम द्वारा बनाए गए बायो टॉयलेट में संदिग्ध परिस्थितियों में आग लगने  से बाजार में मची अफरा तफरी, फायर ब्रिगेड की टीम ने कड़ी मशक्कत कर पाया आग पर काबू



ऋषिकेश,21नवम्बर। यात्रियों और बाजार के लोगों की सुविधा को देखते हुए चंद्रभागा पुल के निकट आईएसबीटी रोड पर नगर निगम द्वारा बनाए गए बायो टॉयलेट में संदिग्ध परिस्थितियों में आग लगने का से बाजार में अफरा तफरी मच गई।

क्षेत्रीय पार्षद देवेंद्र प्रजापति ने फायर ब्रिगेड की टीम को फोन कर घटनास्थल पर बुलाया। फायर ब्रिगेड की टीम ने करीब आधे घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद बायो टॉयलेट में लगी आग पर काबू पा‌ लिया। जिसमें कोई जन हानी की सूचना नहीं हैआग लगने का कारण स्पष्ट नहीं हैं। फायर ब्रिगेड के अधिकारियों ने मामले में अपनी जांच शुरू कर दी है।

फायर ब्रिगेड के अधिकारियों का प्रथम दृष्टया मानना है, कि संभवत किसी ने स्मोकिंग कर बीड़ी या सिगरेट बायो टॉयलेट की ओर फेंकी है। जिससे बायो टॉयलेट में रखी किसी वस्तु ने आग पकड़ ली। ओर आग ने विकराल रूप ले लिया। क्षेत्रीय पार्षद देवेंद्र प्रजापति ने बताया कि जब तक फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची तब तक लोगों ने बाल्टियों से पानी भर भर कर बायो टॉयलेट में फेंका। जिससे कि आग ज्यादा ना फैले।आग लगने के दौरान बायो टॉयलेट में अंदर कोई नहीं था। यह बायो टॉयलेट बाजार के लोगों और यात्रियों की सुविधा के लिए नगर निगम द्बारा बनाया गया था ।

आनंदा होटल से वापस लौट रही कार गहरी खाई में गिरने से चालक की हुई मौत 



ऋषिकेश,17 नवम्बर । ऋषिकेश गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित नरेंद्र नगर के निकट एक कार के गहरी खाई‌ में गिर जाने के परिणाम स्वरूप कार चालक की घटना स्थल पर मौत हो गई।

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार की देर रात एक कार का चालक ऋषिकेश निवासी चंद्र मोहन पुत्र होशियार सिंह निवासी बनखंडी आनंदा होटल में सवारियों को छोड़कर ऋषिकेश वापस आ रहा था ,कि नरेंद्र नगर बैण्ड के पास कार अनियंत्रित होकर खाई में‌ जा गिरी।

एसडीआरएफ के ढाल वाला प्रभारी कविंद्र‌‌ सजवाण ने बताया कि सूचना पर पुलिस और एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची, जिन्होंने रेस्क्यू‌‌ कर कार चालक को उपचार के लिए नरेंद्र नगर श्री देव सुमन राजकिय चिकित्सालय पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया है।

पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और घटना की जांच कर रही है।

विवाहित महिला पारिवारिक विवाद के चलते संदिग्ध परिस्थितियों में घर के अंदर फांसी के फंदे से झूलती हुई मिली , प्रथम दृष्टयां आत्महत्या का मामला प्रतीत, पुलिस ने की जांच शुरू 



ऋषिकेश, 16 नवम्बर । ऋषिकेश कोतवाली क्षेत्र की श्यामपुर चौकी अंतर्ग‌त पारिवारिक अंतर कलह के चलते एक विवाहिता महिला घर के अंदर संदिग्ध परिस्थितियों में पंखे में चुन्नी बांध के फांसी के फंदे से लटकी हुई मिली। जो की प्रथम दृष्टयां आत्महत्या का मामला प्रतीत हो रहा है।  महिला का विवाह 5 वर्ष पूर्व हुआ था।

कोतवाली प्रभावी निरीक्षक खुशीराम पांडे ने बताया कि रामेश्वर कॉलोनी श्यामपुर में एक विवाहिता द्वारा फांसी लगा लिए ‌जाने की सूचना पर चौकी प्रभारी श्यामपुर मौके पर पहुँचे। जहां मौके पर पूजा उम्र 22 वर्ष पत्नी संजू खड़का हाल निवासी रामेश्वर पुरम श्यामपुर कोतवाली ऋषिकेश जनपद देहरादून द्वारा पंखे पर चुन्नी के फंदे से फांसी लगा मिली। जो की प्रथम दृष्टि आत्महत्या का मामला प्रतीत हो रहा है।

जहां मृतका की मां  दीपा देवी एवं मृतका के दो बच्चे भी मौजूद थे। मृतका का पति संजू ड्राइवरी करता है, जिसका घनसाली टिहरी में होना बताया गया है। मृतका के परिजनों से जानकारी करने पर प्रथमदृष्टया मृतका द्वारा पारिवारिक विवाद के कारण आत्महत्या किया जाना प्रकाश में आया है।

मौके पर 108 एम्बुलेंस को बुलवाकर शव को जिला अस्पताल ऋषिकेश भेजा गया है। चूंकि मृतका की शादी को लगभग 5 वर्ष हुए हैं, जिसका पंचायत नामा भरने हेतु संबंधित मजिस्ट्रेट से पत्राचार किया जा रहा है। घटना की जांच की जा‌ रही है।

सिलक्यारा के पास सुरंग में हुये भू-धँसाव की घटना का स्थलीय निरीक्षण व राहत एवं बचाव कार्यों की समीक्षा हेतु मुख्यमंत्री पहुंचे घटनास्थल,सुरंग में फंसे लोगों को सकुशल बाहर निकालना हमारी सबसे पहली प्राथमिकता: पुष्कर सिंह धामी



देहरादून/उत्तरकाशी 13 नवंबर। उत्तरकाशी तहसील 11 में हुई टनल डसने की घटना में फंसे लोगो पर अपडेट लेने के लिए उत्तरकाशी घटनास्थल पर पहुंचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि सिलक्यारा सुरंग में फंसे लोगों को सकुशल बाहर निकालना हमारी सबसे पहली प्राथमिकता है।

घटना के बाद से ही लगातार अधिकारियों से अपडेट ले रहे मुख्यमंत्री ने आज पूर्वाह्न सिलक्यारा पहुंचकर मौके का जायजा लिया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि बचाव एवं राहत कार्यों में किसी भी प्रकार की कोताही न बरती जाए, इसके लिए लगातार निगरानी की जाए। उन्होंने सुरंग में पहुंचकर अधिकारियों से हादसे के संबंध में पूरी जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने कहा कि सुरंग में मलबा हटाने का काम तेजी से जारी है।

मुख्यमंत्री ने कहा एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, रेलवे और विशेषज्ञों की टीम मौके पर जुटी है। सुरंग में फंसे लोग पूरी तरह ठीक हैं और उनसे बात भी हो रही है।

उन्होंने प्रभावितों के परिजनों को आश्वस्त किया कि सुरंग में फंसे लोगों को सकुशल बाहर निकालने के लिए राज्य और केंद्र सरकार गंभीर है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और रेलमंत्री ने भी इस संबंध में हमसे बात की है। प्रधानमंत्री ने बचाव और राहत कार्यों के संबंध में विस्तार से जानकारी लेते हुए प्रदेश सरकार को हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया है।उन्होंने कहा कि मैं पूरी तरह आश्वस्त हूँ कि सुरंग में चल रहा रेस्क्यू जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा और वहां फंसे सभी 40 लोगों को जल्द ही सुरक्षित बाहर निकाल लिया जाएगा।

ऋषिकेश स्थित अखंड आश्रम के सामने स्कूटी सवार वाहनो की हुई भीषण भिड़ंत, 1 युवती समेत 2 की हुई मौत, दुर्घटना में अन्य 4 लोगों की स्थिति गंभीर 



ऋषिकेश ,12 नवम्बर । ऋषिकेश हरिद्वार राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित अखंड आश्रम के सामने दो स्कूटीयों सहित तीन वाहन की आमने-सामने से भिड़ंत हो जाने के उपरांत एक युवती की घटना स्थल पर व 1 अन्य युवक की एम्स में मौत हो गई।

और अन्य चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार अभी तक दो लोगों की मृत्यु की पुष्टि हो चुकी है।

मिली जानकारी के अनुसार रविवार की देर रात अखंड आश्रम के सामने तीन  वाहनो में ‌से तेज गति से आ रही एक स्कूटी सवार कि सामने से आ रही स्कूटी पर सवार  आवास विकास कॉलोनी निवासी अंजली की आमने-सामने से टक्कर हो गई जिसमें अंजली की घटना स्थल पर मौत हो गई , जबकि काले  की ढाल निवासी‌ ऋतिक‌ की एम्स में उपचार के दौरान मौत हो गई।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों मृत के शवों को पोस्टमार्टम के लिए एम्स भेज दिया है, पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

तीनपानी पुलिया से बरामद हुए अज्ञात शव की हुई शिनाख्त , पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज अग्रिम कार्रवाई की जांच की शुरू



ऋषिकेश 7 नवंबर। ऋषिकेश से सटे थाना रायवाला क्षेत्र के अंतर्गत सोंग नदी से पाए गए अज्ञात शव की पुलिस द्वारा शिनाख्त कर ली गई है।

बताते चले एसडी आरएफ प्रभारी कविंद्र सजवान ने बताया कि उनको रायवाला पुलिस द्वारा सूचना प्राप्त हुई की  थाना रायवाला क्षेत्र अंतर्गत नेपाली फार्म स्थित तीनपानी पुलिया के पास एक अज्ञात व्यक्ति का‌ शव मिला है।

उनकी टीम द्वारा अज्ञात व्यक्ति का‌ शव, नदी से निकाल कर बरामद किया था जिसको एसडीआरएफ की टीम द्वारा पुलिस को सौंप दिया गया था। जिसको पुलिस द्वारा आसपास से जानकारी हासिल कर शव की शिनाख्त कर ली गई है और मृतक के परिजनों को बुलाकर परिजनों को सौंप दिया गया है।

रायवाला थाना प्रभारी होशियार सिंह ने बताया कि एसडीआरफ की टीम द्वारा उनको कल तीनपानी पुलिया के पास नदी से एक अज्ञात शव को बरामद कर पुलिस को सोपा गया था।

शव की पहचान धन बहादुर पुत्र तग बहादुर निवासी नवाबवाला छिद्दरवाला रायवाला उम्र- 62 वर्ष के रूप में हुयी मृतक के शव का पंचायतनामा की कार्यवाही कर बाद पोस्टमार्टम की कार्यवाही हेतु एम्स ऋषिकेष भिजवाया गया है । मृतक के परिजन मौके पर आ गये थे। मामले की पुलिस द्वारा जांच की जा रही है।

ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन निर्माणाधीन टनल में लगी आग, रसायनिक पदार्थ में लगी अचानकआग से भड़की लपटें ,  सुरंग के अंदर कर रहे थे 44 मजदूर काम  -एसडीआरएफ की टीम ने सभी को सुरक्षित बाहर निकाला 



ऋषिकेश 0 6 नवंबर | ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन परियोजना के तहत नगरासू में निर्माणाधीन सुरंग में रखे केमिकल में आग लग लग जाने से मौके पर हड़कम्प मच गया । इस दौरान सुरंग के अंदर 44 मजदूर काम कर रहे थे। सूचना पर मौके पर पहुंचे एसडीआरएफ व डीडीआरएफ के जवानों ने आग को बुझाया और सभी मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकाला।

जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार ने बताया कि‌‌ हादसा रविवार रात करीब 7:30 बजे हुआ। बताया जा रहा है कि नगरासू स्थित निर्माणाधीन टी-15 सुरंग के किलोमीटर एक के शुरुआती हिस्से में कुछ रसायनिक पदार्थ रखा था, जिसमें अचानक आग लग गई। वहां मौजूद मजदूरों ने आग बुझाने का प्रयास किया, लेकिन लपटें तेजी से बढ़ती गईं, जिस पर काबू पाना मुश्किल हो गया। जिसके बाद स्थानीय पुलिस को सूचना दी गई।

सूचना मिलते ही करीब आठ बजे एसडीआरएफ व डीडीआरएफ का रेस्क्यू दल मौके पर पहुंचा। दल ने मशक्कत के बाद आग को बुझाया और वहां फंसे सभी 44 मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकाला।

जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार ने बताया कि केमिकल में आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। सभी मजदूरों को सुरक्षित निकाल लिया गया है।