चमोली सुमना में 8 लोगों की मौत, 4 घायल, 300 लोगों को सुरक्षित निकाला


चमोली सुमना में 8 लोगों की मौत 4 घायल 300 लोगों को सुरक्षित निकाला

भारत चीन सीमा पर ग्लेशियर के टूटने से फंसे 291 लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित निकाला गया

जोशीमठ । चमोली जिले के जोशीमठ के पास हुई प्राकृतिक आपदा को अभी लोग भुला भी नहीं पाए थे कि शुक्रवार को एक बार फिर भारत-चीन की सीमा पर सुमना के पास ग्लेशियर के टूट जाने से लोग सहम गए हैं । जबकि बताया जा रहा है ग्लेशियर टूटने के बाद वहां फंसे 291 लोगों को अबतक रेस्क्यू कर सुरक्षित बचा लिया गया है। आइटीबीपी के कर्नल मनीष कपिल से मिली जानकारी के अनुसार चीन भारत सीमा के निकट सुमना- 2 में क्यू गाड़ वैली के निकट यह ग्लेशियर टूटा है। यह स्थान जोशीमठ से लगभग 94 किलोमीटर आगे है। सीएम तीरथ रावत ने जानकारी देता हुए बताया कि नीती घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की सूचना मिली है। इस संबंध में मैंने एलर्ट जारी कर दिया है। जिसे लेकर वह निरंतर जिला प्रशासन और बीआरओ के सम्पर्क में हूं। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन को मामले की पूरी जानकारी प्राप्त करने के निर्देश दे दिए हैं। एनटीपीसी एवं अन्य परियोजनाओं में रात के समय काम रोकने के आदेश दे दिए हैं ताकि कोई अप्रिय घटना ना होने पाये। सीएम ने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह ने नीति घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की सूचना का तत्काल संज्ञान लिया है। उन्होंने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए उत्तराखंड को पूरी मदद देने का आश्वासन दिया है और आईटीबीपी को सतर्क रहने के निर्देश दिये है।ग्लेशियर टूटने की वजह से बीआरओ की दो लेबर इसकी चपेट में आए थे। कैंप में रह रहे लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। घटना से करीब तीन किमी की दूरी पर आर्मी कैंप है, जो पूरी तरह से सुरक्षित है।

घटना के तुरंत बाद ही सेना ने रेस्क्यू अभियान शुरू कर दिया था। बचाव व राहत कार्य जारी है। घटना में दो लोगों के मरने की पुष्टि हुई है। बताया कि क्षेत्र में तीन दिनों से बेहद खराब मौसम बना हुआ है, बावजूद इसके राहत व बचाव का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है।उत्तराखंड में एक बार फिर से प्राकृतिक आपदा की मार पड़ी है। पिछले कई दिनों से लगातार हो रही बारिश और बर्फबारी से चमोली जिले में कड़ाके की ठंड पड़ने लगी है। बदरीनाथ धाम में चार फीट और हेमकुंड साहिब में लगभग पांच फीट ताजी बर्फ जम गई है। बीते रोज चमोली जनपद से लगे भारत-चीन (तिब्बत) सीमा क्षेत्र सुमना में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) के कैंप के समीप ग्लेशियर टूटकर मलारी-सुमना सड़क पर आ गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *