ग्रामीण एवं सुदूरवर्ती क्षेत्रों के लोगों की कोरोना टेस्टिंग के लिए मोबाइल बैन की सुविधा शुरू करे सरकार- डॉ राजे सिंह नेगी


ग्रामीण एवं सुदूरवर्ती क्षेत्रों के लोगों की कोरोना टेस्टिंग के लिए मोबाइल बैन की सुविधा शुरू करे सरकार- डॉ राजे सिंह नेगी

 

ऋषिकेश,25 अप्रैल ।कोरोनो कहर से बचाने के लिए सरकार को कोविड 19 के टेस्टिंग में रफ्तार देने की जरूरत है।इसके लिए सरकार को जल्द से जल्द मोबाइल वैन उतारनी होगी तभी ग्रामीण एवं दूरस्थ क्षेत्रों के लोगों के लिए समय पर उपचार संभव हो पायेगा।यह कहना है ,आम आदमी पार्टी के नेता व विभिन्न सामाजिक संगठनों से जुड़े समाजसेवी डॉ राजे सिंह नेगी का। उन्होंने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए सरकार की गाइडलाइन के अनुपालन के साथ जो सबसे ज्यादा आवश्यक है वो है समय पर टेस्टिंग। मोबाइल वैन के जरिए रोजाना आरटी-पीसीआर तकनीक और ईएलआईएसए तकनीक से कोरोना वायरस के परीक्षण हो सकते हैं। इन मोबाइल वैन का प्रयोग ऐसी जगहों पर किया जाए जहां लैब की सुविधा नहीं है। यानी गांव-कस्बों में इनका इस्तेमाल हो।

उन्होंने कहा कि कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या और मौतों के आंकड़ों ने सभी को सकते में डाल दिया है। अब लोग खुद थोड़े से लक्षण दिखने के बाद जांच कराने पहुंच रहे है। कोविड-19 जांच कराने रोजाना बड़ी संख्या में लोग सरकारी अस्पताल पहुंच रहे हैं। अस्पताल परिसर में कोविड-19 नियमों का ठीक से पालन नहीं कर रहे हैं। भीड़ और अव्यवस्था के आलम में जांच कराने पहले मैं के चक्कर में ये लोग एक-दूसरे के संपर्क में आ रहे हैं। भीड़ पर समझाइश का भी कोई असर नहीं हो रहा हैं। ऐसे में मोबाइल वैन टेस्टिंग में कारगर साबित हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *