रानीखेत में कोविड अस्पताल की शुरुआत, मुख्यमंत्री तीरथ ने किया वर्चुअल उद्घाटन


अल्मोड़ा ,17 मई । कोरोना वायरस के इलाज हेतु कुमाऊँ रेजीमेंट सेंटर एवं जिला प्रशासन अल्मोड़ा के सहयोग से रानीखेत स्थित संयुक्त सिविल मिलिट्री कोविड केयर अस्पताल का वर्चुअल उद्घाटन सोमवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने किया।

इस दौरान महिला बाल विकास मंत्री श्रीमती रेखा आर्य, अल्मोड़ा सांसद अजय टम्टा, विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चैहान, रानीखेत विधायक करन माहरा, सचिव अमित नेगी, कुमायूँ रेजिमेंट सेंटर के ब्रिगेडियर आइएस सेमवाल व जिला प्रशासन एवं सेना के अधिकारी मौजूद रहे।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जिला प्रशासन व मिलिट्री के सहयोग से जो 50 बेड का कोविड चिकित्सालय बनाया है इसके बनाने हमें रानीखेत के आस पास के इलाको में कोरोना मरीजों के ईलाज के काफी सुविधा होगी।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में अभी 10 बेड आक्सीजन सुविधायुक्त बनाये गये है जल्दी ही आक्सीजन युक्त बेडो की संख्या बढाई जाय इसके लिये उन्होंने जिला प्रशासन अल्मोड़ा को इस अस्पताल में ऑक्सीजन बैडो की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले समय के लिए हमें अभी से तैयार होना होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की शुरुआत से पहले ही हमें सीएचसी, पीएचसी स्तर के अस्पतालों को मजबूत करना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता को जागरूक करना बेहद जरूरी है। दवाई के साथ-साथ कड़ाई भी करनी होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में टेस्टिंग को और बढ़ाया जाए और अधिक से अधिक लोगों को टेस्टिंग के लिए प्रेरित किया जाए। आशा, आंगनबाड़ी और ग्राम समिति के माध्यम से डोर टू डोर कोविड किट, होम आइसोलेशन में उपचार करवा रहे संक्रमितों तक समय से पहुंचा दी जाए।
इस दौरान महिला बाल विकास मंत्री श्रीमती रेखा आर्य ने मुख्यमंत्री का धन्यवाद करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देशों पर विधायक निधि का इस्तेमाल जनप्रतिनिधि अपने विवेक अनुसार कोविड के लिए कर रहे हैं जिसका फायदा प्रदेश के सभी विधानसभा क्षेत्र को मिल रहा है। इस दौरान सांसद अजय टम्टा ने कहा कि मुख्यमंत्री का प्रयास सराहनीय है मुख्यमंत्री द्वारा बेस अस्पताल अल्मोड़ा और मेडिकल कॉलेज को जोड़कर कोविड अस्पताल बनाने से बड़ा लाभ आम जनता को हो रहा है। इस दौरान विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान ने कहा कि सरकार का सार्थक प्रयास धरातल पर नजर आ रहा है। उन्होंने बताया कि उनकी विधायक निधि से धौलादेवी ब्लाक में आक्सीजन युक्त कोविड केयर चिकित्सालय बनाने का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है।
कार्यक्रम में रानीखेत विधायक करन माहरा ने मुख्यमंत्री का धन्यवाद देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के सहयोग के बिना यह अस्पताल संभव नहीं था इस चिकित्सालय के बनने से रानीखेत के आस-पास के क्षेत्रों के कोरोना मरीजों को इसका लाभ मिलेगा।
इस दौरान जिला अधिकारी अल्मोडा नितिन भदौरिया ने मुख्यमंत्री को कोविड संक्र्रमण के रोकथाम के लिये किये जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि लाॅकडाउन के दौरान जनपद मंे कोविड केसों में कमी आने लगी है। कुमायूँ रेजिमेंट सेंटर के ब्रिगेडियर आइएस सेमवाल ने कहा कि सेना के लिये गौरव की बात है कि भारतीय आर्मी कोरोना की इस जंग सबके साथ है। उन्होंने कहा कि हमें इस लडाई को मिलकर लड़ना है और देश के हर नागरिक को इस बीमारी से बचाना है।
इस दौरान सांसद प्रतिनिधि दीप भगत, जिला पंचायत सदस्य धन सिंह रावत, मुख्य विकास अधिकारी नवनीत पाण्डे, सीओ एमएच कर्नल वी0पी0 माथुर,मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सविता हयांकी ट्रेनिंग बटालियन कमाण्डर सुनील कटारिया, इंचार्ज कोविड सेन्टर डा0 ऋषि चौहान, डा0 बी0के गड़कोटी, सीएमएस रानीखेत डा0 के0के0 पाण्डे, तहसीलदार विवेक राजौरी.आपदा प्रबन्धन अधिकारी राकेश जोशी सहित प्रशासन व सेना के अधिकारी उपस्थित थे। इस दौरान संयुक्त मजिस्ट्रेट रानीखेत अपूर्वा पाण्डे द्वारा मुख्यमंत्री को पांवर पांइट के माध्यम से कोविड केयर चिकित्सालय में सेना व जिला प्रशासन द्वारा दी जा रही सुविधाओं के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *